संदेश

सितंबर, 2020 की पोस्ट दिखाई जा रही हैं

अज्जू के घर पहुंचे विधायक राघवेन्द्र सिंह

चित्र
(ध्रुव चन्द्र चौधरी)  बस्ती (उ.प्र.) । हिंदू युवा वाहिनी के प्रदेश प्रभारी डुमरियागंज के विधायक राघवेंद्र प्रताप सिंह जी आज बस्ती जनपद के पूर्व जिला प्रभारी स्वर्गीय अज्जू हिंदुस्थानी के आवास पर आये और परिजनों से भेंट मुलाकात कर हालचाल जाना और ढाढ़स बंधाया । उन्होंने परिवार द्वारा बताई गई समस्याओं के त्वरित समाधान का आश्वासन दिया।     प्रदेश प्रभारी ने स्वर्गीय अज्जू भैया के परिवार को आश्वस्त किया कि सम्पूर्ण हिंदू युवा वाहिनी संगठन आपके साथ है। कभी भी किसी भी प्रकार की समस्या में हिंदू युवा वाहिनी आप सबके साथ कंधे से कंधा मिलाकर खड़ा रहेगा। इसके उपरांत राघवेन्द्र सिंह ने हिंदू युवा वाहिनी जिला कार्यालय में आकर उपस्थित कार्यकर्ताओं एवं पदाधिकारियों से मिलकर सबका मनोबल एवं उत्साह वर्धन किया और आश्वस्त किया कि संपूर्ण प्रदेश नेतृत्व हिंदू युवा वाहिनी बस्ती इकाई के साथ है।  इस अवसर पर प्रमुख रूप से जिला संयोजक बबलू निषाद, जिलाध्यक्ष शशि भूषण सिंह, जिला उपाध्यक्ष जय प्रकाश सिंह, जिला उपाध्यक्ष सूरत प्रसाद दुबे, जिला उपाध्यक्ष राम दिनेश चौधरी, जिला महामंत्री कन्हैयालाल, जिला महामंत्री

बधिरों की चुनौतियां और प्रासंगिकता पर इनरव्हील क्लब का वेबिनार सम्पन्न

चित्र
(वन्दना शुक्ला)  बस्ती (उ.प्र.) । इनरव्हील क्लब एवं रोटरी क्लब बस्ती मिडटाउन के संयुक्त तत्वाधान में बधिर सप्ताह के तहत एक वेबीनार का आयोजन किया गया। इसका शीर्षक था "बधिरों की चुनौतियां एवं उनके मानवाधिकार व वर्तमान परिदृश्य में इनकी प्रासंगिकता"।   कार्यक्रम में मुख्य अतिथि के तौर पर सेवानिवृत्त डिप्टी कमिश्नर, दिव्यांग प्रभाग, लखनऊ से श्री अखिलेंद्र कुमार सिंह सम्मिलित हुए। उन्होंने बधिरों को मुख्यधारा से जोड़ने के लिए समाज के सभी वर्गों का आह्वाहन किया कि वह बधिरों का सहयोग करें ताकि वह ससम्मान अपने जीवन के दायित्वों का निर्वहन कर सकें एवं आगे बढ़ सकें। मुख्य वक्ताओं में श्री गोपाल कृष्ण अग्रवाल जी, उपाध्यक्ष, नेशनल एसोसिएशन फॉर ब्लाइंड एवं निदेशक, शिक्षित युवा सेवा समिति, बस्ती जिन्हें दिव्यांग जनों का पुरोधा माना जाता है, ने भी बधिरों के प्रति सामाजिक संवेदनशीलता का मामला उठाते हुए कहा यदि समाज से उत्साही व्यक्ति दिव्यांग जनों के लिए हाथ आगे बढ़ाएं और उन्हें उठने में मदद करें तब यही बधिर सप्ताह या बधिर दिवस पर कार्यक्रम करने की सार्थकता होगी। वरिष्ठ नाक, कान व गला र

अंशिका के पोषण हेतु प्रशासन ने दिया दुधारू गाय

चित्र
(संतोष पाण्डेय)  बस्ती (सू.वि.उ.प्र.) । शासन के निर्देश पर अति कुपोषित बच्चों के पोषण के लिए गोआश्रय स्थल पर दुधारू गाय देने की प्रक्रिया शुरू कर दी गई है। बनकटी ब्लाक के मकदूमपुर गोआश्रय स्थल से थरौली निवासी मोलहू प्रसाद को उनके कुपोषित बच्चे साढ़े तीन वर्षीय अंशिका के पोषण के लिए लगभग 03 लीटर दूध देने वाली गाय सुपुर्द की गई।    मुख्य पशु चिकित्साधिकारी डॉ० अश्वनी तिवारी ने बताया कि मोलहू प्रसाद को गाय की देखभाल के लिए प्रतिमाह 900 रुपए भी दिए जाएंगे।     इस अवसर पर जिला कार्यक्रम अधिकारी सावित्री देवी, ग्राम प्रधान शिव प्रसाद उपाध्याय, नोडल पशु चिकित्साधिकारी डॉ० एस डी द्विवेदी एवं ग्रामीण उपस्थित रहे।           ➖   ➖   ➖   ➖   ➖ देश दुनिया की खबरों के लिए गूगल पर जाएं लॉग इन करें : - tarkeshwartimes.page सभी जिला व तहसील स्तर पर संवाददाता चाहिए मो. न. : - 9450557628

अयोध्या विध्वंस काण्ड : आडवाणी, जोशी, उमा भारती सहित सभी बरी

चित्र
(संतोष दूबे)  नई दिल्ली। अयोध्या में विवादित ढांचा ढहाये जाने के मामले में अपना फैसला पढ़ते हुए जज एसके यादव ने कहा कि ये घटना पूर्व नियोजित नहीं थी, संगठन के द्वारा कई बार रोकने का प्रयास किया गया। जज ने अपने शुरुआती कमेंट में कहा कि ये घटना अचानक ही हुई थी। इसके साथ सभी 32 आरोपियों के बरी कर दिया गया है। अदालत ने यह माना है कि सीबीआई ने जो आरोप लगाए हैं उसके साक्ष्य नहीं मिले हैं।   28 साल पुराने अयोध्या के विवादित ढांचा बाबरी मस्जिद विध्वंस मामले में सीबीआई की विशेष अदालत ने अपना बहुप्रतीक्षित फैसला सुनाया । कोर्ट के फैसले पर देशभर की निगाहें रहीं। क्योंकि इस मामले में भारतीय जनता पार्टी के वरिष्ठ नेता लालकृष्ण आडवाणी, मुरली मनोहर जोशी, उमा भारती समेत कुल 32 लोग आरोपी थे। बाबरी विध्वंस मामले में कुल 49 लोगों के खिलाफ एफआईआर दर्ज हुई थी। इनमें से 17 का निधन हो चुका है। तो चलिए जानते हैं क्या है ये मामला, कब-कब क्या हुआ और कौन सी हैं धाराएं थीं। केस नंबर 197 6 दिसंबर1992 को विवादित ढांचे को पूरी तरह से ध्वस्त होने के बाद थाना राम जन्मभूमि, अयोध्या के प्रभारी पीएन शुक्ल ने शाम पा

इनरव्हील क्लब ने बंटवाए 30 पोषण किट, पोषण सभी का हक : डॉ. निधि

चित्र
(वन्दना शुक्ला)  बस्ती (उ.प्र.) । राष्ट्रीय पोषण माह में चलाए गए पोषण अभियान के तहत स्थानीय राजकीय इण्टर कालेज में आयोजित कार्यक्रम में इनरव्हील क्लब बस्ती मिडटाउन ने 30 पोषण किट का वितरण करवाया। प्रत्येक किट में गुड़, चना, फल, एन 95 मास्क, प्रोटीन पाउडर सैशे एक हर्बल सेनेटाईजर और सहजन के पौधे थे।   समेकित बाल विकास सेवा प्रभाग द्वारा आयोजित इस कार्यक्रम में जिलाधिकारी आशुतोष निरंजन एवं मुख्य विकास अधिकारी सरनीत कौर ब्रोका ने सर्वप्रथम व्यंजन प्रतियोगिता का जायजा लिया। इसके पश्चात उन्होंने रंगोली व मेहंदी आदि प्रतियोगिताओं के प्रतिभागियों को प्रशस्ति पत्र प्रदान किए। तदोपरांत उन्होंने विभाग द्वारा आयोजित अन्नप्राशन संस्कार एवं गोद भराई संस्कार संपन्न करवाया। इनरव्हील क्लब बस्ती मिटाउन की ओर से प्रदान किये गये तीस पोषण किट, एन 95 मास्क, हर्बल सैनिटाइजर एवं सहजन के पौधों का वितरण भी जिलाधिकारी आशुतोष निरंजन एवं मुख्य विकास अधिकारी सरनीत कौर ब्रोका द्वारा किया गया।   इनर व्हील क्लब की अध्यक्ष डॉ. निधि गुप्ता ने बताया की क्लब नेशनल न्यूट्रिशन मिशन के तहत चलाए जा रहे हैं इस पोषण अभिया

राष्ट्रीय पोषण माह में डीएम ने किया गोदभराई, अन्नप्रासन और भी बहुत कुछ

चित्र
(वन्दना शुक्ला)   बस्ती (सू.वि.उ.प्र.) । जिलाधिकारी आशुतोष निरंजन ने राष्ट्रीय पोषण माह के अन्तर्गत राजकीय इण्टर कालेज में आयोजित कार्यक्रम में विभिन्न प्रतियोगिताओं के प्रतिभागियों को सम्मानित किया। उन्होने बस्ती सदर, कुदरहा, साऊंघाट, कप्तानगंज परियोजनाओं द्वारा आयोजित पोषण वस्तुओ की प्रदर्शनी का अवलोकन किया। उन्होने 05 गर्भवती महिलाओं का गोदभराई करते हुए पोषण किट प्रदान किया।    उन्होने 05 किशोरियों को पोषण किट दिया तथा 05 बच्चों को खीर खिलाकर अन्नप्रासन किया। इस अवसर पर सीडीओ सरनीत कौर ब्रोका, जिला कार्यक्रम अधिकारी सावित्री देवी तथा प्रधानाचार्य शिव बहादुर सिंह उपस्थित रहे।         जिलाधिकारी ने विजयी प्रतिभागियों को निबन्ध प्रतियोगिता सीनियर में दिव्यांशी पाण्डेय, तमन्ना चैहान, मयंक तिवारी, स्लोगन प्रतियोगिता में प्रतिमा गुप्ता, आलोक पाण्डेय, स्वाति, शिखा मोदनवाल चित्रकला प्रतियोगिता में अमीशा जायसवाल, श्रद्धा मिश्रा तथा शिवा प्रमाण पत्र प्रदान किया।       उन्होने निबन्ध प्रतियोगिता जूनियर में चित्रा पाण्डेय, धम्म आदित्य, रेहान खान, स्लोगन प्रतियोगिता में वैष्णवी गुप्ता, सौ

उचित पोषण से देश हो रोशन : इनरव्हील का वेबिबार सम्पन्न

चित्र
(वन्दना शुक्ला)  बस्ती (उ.प्र.) । इनरव्हील क्लब बस्ती मिडटाउन एवं समेकित बाल विकास सेवा प्रभाग के संयुक्त तत्वाधान में राष्ट्रीय पोषण माह के तहत "उचित पोषण से हो देश रोशन" नामक शीर्षक पर वेबीनार का आयोजन किया गया।  कार्यक्रम में मुख्य अतिथि के तौर पर अपने उद्बबोधन में मुख्य विकास अधिकारी श्रीमती सरनीत कौर ब्रोका ने कहा कि स्वस्थ मन के लिए स्वास्थ्य तन की आवश्यक आवश्यकता है और स्वस्थ तन संतुलितआहार से पोषित होने पर ही प्राप्त होता है। तत्पश्चात पोषण माह के अंतर्गत (आई. सी. डी. एस.) समेकित बाल विकास सेवा प्रभाग, बस्ती के द्वारा संचालित की जाने वाली गतिविधियों की जानकारी जिला कार्यक्रम अधिकारी, श्रीमती सावित्री देवी ने पटल पर रखी।  डाइटिशियन एवं न्यूट्रिशन एक्सपर्ट, डॉ दिव्या श्रीवास्तव ने संतुलित आहार के विषय में चर्चा की एवं भोज्य पदार्थ व उन से प्राप्त होने वाले पोषक तत्वों के विषय में विस्तार से बताया। सीडीपीओ, कप्तानगंज मिथिलेश बौद्ध ने विभाग द्वारा विभिन्न स्तरों पर संचालित की जाने वाली विभिन्न गतिविधियों के विषय में सदन में उपस्थित सभी सुधी जनों को अवगत कराया।   दि

World Heart Day जानें क्या हो सकते हैं हार्ट अटैक के संकेत : बता रहे हैं आनन्द गौरव

चित्र
  (नीतू सिंह)  प्रभारी जिला कार्यक्रम अधिकारी, गैर संचारी रोग कार्यक्रम, बस्ती आनन्द गौरव शुक्ल विश्व हृदय दिवस पर दे रहे हैं जरूरी जानकारी बस्ती (उ.प्र.) । हर साल 29 सितंबर को पूरी दुनिया में विश्व हृदय दिवस मनाया जाता है। इस दिन को मनाने का उद्देश्य लोगों को हृदयरोग के बारे में जागरूक करना है। इस दिन पूरी दुनिया में हार्ट डे मनाया जाता है। इस दिन को मनाने का उद्देश्य लोगों को हृदयरोग के बारे में जागरूक करना है। वर्ल्ड हार्ट फेडरेशन के अनुसार, पूरी दुनिया में सबसे ज्यादा मौतें दिल की बीमारी से ही होती हैं। आइए जानते हैं कि आखिर हार्ट फेल जैसी स्थिति कब आ जाती है और किन लक्षणों पर गौर करने की जरूरत है।   दिल का काम शरीर के सभी अंगों तक ऑक्सीजन पहुंचाने के लिए ब्लड पंप करना है और जब ये अपना काम करना बंद कर देता है तो हार्ट फेलियर की स्थिति आ जाती है। ये आमतौर पर तब होता है जब दिल इतना मजबूत नहीं रह जाता कि वो फेफड़ों से ऑक्सीजन इकट्ठा कर सके या शरीर में खून को पंप कर सके। हार्ट फेलियर के दौरान कुछ लोगों के दिल में एक फैलाव आ जाता है, जिसे चेस्ट एक्स-रे में देखा जा सकता है। इसकी वजह

मेरी उड़ान प्रतियोगिता सम्पन्न

चित्र
(शशि पाण्डेय)  बस्ती (उ.प्र.) । मेरी उड़ान प्रतियोगिता जो कि पूरे प्रदेश में बेसिक शिक्षा में पढ़ रहे छात्र छात्राओं के लिए आयोजित की गई थी प्रतियोगिता चार चरणों में आयोजित की गई है चतुर्थ चरण में भी इस प्रतियोगिता में छात्रों को चित्रकला लघु कथा लेखन तथा निष्प्रयोज्य सामग्री से क्राफ्ट का निर्माण करना था प्रतियोगिता दो स्तर प्राथमिक तथा जूनियर स्तर पर आयोजित की गई मेरी उड़ान प्रतियोगिता मैं विद्यालय स्तर पर सफल होने के बाद छात्र ब्लॉक स्तर पर चयनित किए जाते हैं तत्पश्चात एसआरजी द्वारा जनपद स्तर पर चयनित करके प्रदेश के लिए भेजा जाता है।   जिला बेसिक शिक्षा अधिकारी जगदीश शुक्ला ने सभी सफल छात्र छात्राओं को शुभकामनाएं दी और इनके उज्जवल भविष्य की कामना की और कहा कि परियोजना द्वारा आयोजित इस प्रकार की प्रतियोगिताएं बच्चों में क्रिएटिविटी को पैदा करती हैं।   एसआरजी आशीष कुमार श्रीवास्तव, डॉ. सर्वेष्ट मिश्र, अंगद प्रसाद पांडे ने विकास क्षेत्र के समस्त ए आर पी और अध्यापकों को इस प्रतियोगिता में सक्रिय रूप से प्रतिभाग करने के लिए सराहना की प्राथमिक स्तर पर परीक्षा में प्रथम स्थान सारिका ग

सभी छात्रों तक पहुंचेंगी आनलाईन कक्षाएं : बीएसए

चित्र
(वन्दना शुक्ला)  बस्ती (उ.प्र.) । जिला बेसिक शिक्षा अधिकारी जगदीश शुक्ला की अध्यक्षता में जनपद में कार्यरत समस्त एसआरजी तथा समस्त ए आर पी की मासिक बैठक राजकीय इंटर कॉलेज के सभागार में संपन्न हुई जिला बेसिक शिक्षा अधिकारी जगदीश शुक्ल ने मीटिंग में प्रतिभाग कर रहे समस्त प्रतिभागियों को निर्देशित किया कि परियोजना से निर्देशित समस्त कार्यक्रम जैसे दीक्षा शिक्षण प्रशिक्षण, ई पाठशाला, रीड अलांग एप्लीकेशन से संबंधित पाठ्यक्रम को ऑनलाइन कक्षा के माध्यम से विद्यार्थियों तक पहुंचाना सभी की जिम्मेदारी है और सभी को अपने-अपने कार्य दायित्वों का पता होना चाहिए।   बीएसए श्री शुक्ल ने कहा कि मिशन प्रेरणा एक पुनीत कार्यक्रम है। न्याय पंचायतों में कार्यरत शिक्षक संकुल के विद्यालयों का बटवारा कर लिया जाए और प्रेरणा पोर्टल पर इनका रजिस्ट्रेशन कर दिया जाए अच्छा कार्य करने वाले लोगों को जनपद स्तर पर पुरस्कृत किया जाएगा और कार्य में शिथिलता रखने वालों के लिए जवाबदेही तय की जाएगी जिला समन्वयक चंद्रभान पांडे ने कहा कि बस्ती जनपद में कार्यरत एसआरजी ए आर पी शिक्षक संकुल सभी टीम भावना से कार्य करें। बस्ती जनप

अभी हर्ड इम्युनिटी से दूर भारत : डॉ. हर्षवर्धन

चित्र
(विशाल मोदी)  नई दिल्ली। इंडियन काउंसिल ऑफ मेडिकल रिसर्च (ICMR) द्वारा किए गए दूसरे राष्ट्रव्यापी सीरो सर्विलांस से मिले संकेतों के मुताबिक, Sars-CoV-2 के खिलाफ हर्ड इम्यूनिटी (Herd immunity) डेवलप करने से भारतीय आबादी अभी भी काफी दूर है। इसकी जानकारी रविवार 27 सितंबर को केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री डॉ. हर्षवर्धन ने दी। मई में जारी पहली सीरो सर्वे की रिपोर्ट से कोरोना वायरस का देशभर की सिर्फ 0.73% आबादी में प्रसार होने का पता चला था।   सोशल मीडिया यूजर्स के सवालों का जवाब देते हुए स्वास्थ्य मंत्री ने कहा, सीरो सर्वे की जल्द जारी होने वाली दूसरी रिपोर्ट से संकेत मिले हैं कि हर्ड इम्यूनिटी डेवलप करने से हम अभी काफी दूर हैं। इसलिए हम सभी को सुस्त होने की बजाए कोविड-19 से जुड़े नियमों का गंभीरता से पालन करना चाहिए।               क्या है हर्ड इम्यूनिटी हर्ड इम्यूनिटी अप्रत्यक्ष रूप से एक बड़ी आबादी के लिए रक्षा कवच है, जिससे लोगों में नैचुरली या वैक्सीन के जरिए रोग प्रतिरोधक क्षमता विकसित होती है। लेकिन ऐसा तभी संभव है जब या तो आबादी का एक बड़ा हिस्सा संक्रमित होने के बाद इम्यूनिटी डेवलप

बिना एंटीजेन टेस्ट के कोई अस्पताल नहीं शुरु करेंगे इलाज : डीएम

चित्र
(सुधीर शुक्ल)  बस्ती (उ.प्र.) । जिलाधिकारी आशुतोष निरंजन ने सभी निजी चिकित्सालयों के संचालकों से अपील किया है कि उनके यहां इलाज के लिए आने वाले सभी मरीजों का कोविड - 19 का एंटीजन टेस्ट कराएं। पॉजिटिव पाए गए मरीजों की जानकारी एकीकृत कमांड सेंटर एवं कंट्रोल के फोन नंबर 05542-245672 पर् सूचित करें। किसी भी दशा में कोविड -19 पॉजिटिव पेशेंट को होम आइसोलेशन में न भेजें और न ही उसको घर जाने दे।    जिलाधिकारी श्री निरंजन ने कहा कि सभी चिकित्सालय में सीएमओ कार्यालय से एंटीजैन टेस्ट किट उपलब्ध कराई गई है। इसकी कमी होने पर चिकित्सालय सीएमओ कार्यालय से संपर्क करके एंटीजन किट मंगवा सकते हैं, लेकिन किसी भी दशा में इलाज के लिए आए हुए मरीज का बिना टेस्ट किए इलाज शुरू न करें। उन्होंने कहा कि पूर्व में 25 निजी चिकित्सालयों को एंटीजन टेस्ट किट उपलब्ध कराई गई थी। इसके संबंध में रिपोर्ट प्राप्त हुई है कि सिलेक्टिव लोगों का ही टेस्ट किया गया है, जो कि उचित नहीं है। उन्होंने कहा कि प्रत्येक निजी चिकित्सालय के ओपीडी के समय में जांच कराई गई है, काफी संख्या में वहां मरीज उपलब्ध रहे हैं लेकिन उनका टेस्ट नहीं

बस्ती कोर्ट कैम्पस में मिले नौ पाजिटिव, दो दिन बन्द

चित्र
(संतोष दूबे)  बस्ती (उ.प्र.) । जिला न्यायालय परिसर में आज किये गये कोरोना टेस्ट में दो न्यायिक अधिकारियों समेत नौ लोग पाजिटिव पाये गये।    जिला विधिक सेवा प्राधिकरण के सचिव विनय कुमार जायसवाल ने बताया कि जनपद न्यायालय दो दिन के लिए बन्द रहेगा। उन्तीस और तीस सितंबर को न्यायालय बन्द रहेगा। अब न्यायालय एक अक्टूबर यानि गुरुवार को खुलेंगे।     उन्होंने बताया कि डिस्ट्रिक्ट एंड सेशन्स जज, स्पेशल जज एससी/ एसटी एक्ट, स्पेशल जज (ईसी एक्ट, स्पेशल जज पोस्को/ एनडीपीएस एक्ट के कोर्ट वर्चुअल चलेंगे। इसी तरह स्पेशल जज गैंगेस्टर एक्ट, चीफ ज्यूडिशियल मजिस्ट्रेट कोर्ट भी वर्चुअल चलेगा।          ➖   ➖   ➖   ➖   ➖ देश दुनिया की खबरों के लिए गूगल पर जाएं लॉग इन करें : - tarkeshwartimes.page सभी जिला व तहसील स्तर पर संवाददाता चाहिए मो. न. : - 9450557628

मां वैष्णो पैरामेडिकल कालेज पर कार्रवाई की मांग

चित्र
(शशि पाण्डेय)  बस्ती (उ.प्र.) । हिन्दू युवा वाहिनी बस्ती इकाई का एक प्रतिनिधि मंडल जनपद में व्याप्त विभिन्न समस्याओं को लेकर जिला संयोजक बबलू निषाद के नेतृत्व में जिलाधिकारी से मिलकर मड़वानगर में स्थित मां वैष्णो पैरामेडिकल एण्ड मैनेजमेन्ट कालेज पर कार्रवाई किये जाने की मांग की है।   जिला संयोजक बबलू निषाद ने जिलाधिकारी को बताया कि "मां वैष्णो पैरामेडिकल एंड मैनेजमेंट कॉलेज नामक एक संस्थान" शहर के मड़वानगर में चल रहा है जो कि शुद्ध रूप से फर्जी है इसकी कोई मान्यता नहीं हैं। इस संस्था ने डी. फार्मा,ए. एन. एम, जी. एन.एम. आदि कोर्सो के लिए बच्चों से मोटी फीस लेकर दाखिला कराया और फर्जी डिग्री बांट दिया । शासन ने तत्कालीन जिलाधिकारी राजशेखर जी के नेतृत्व में एक जांच टीम गठित करके जांच कराया तब जाकर सारी कलाई खुली और संस्थान सील कर दिया गया फिर भी अभी तक बच्चों की फीस का धन वापसी नहीं किया गया और सील होने के बाद भी संस्थान संचालित हो रहा है।     जिलाधिकारी ने प्रतिनिधिमंडल को ध्यान से सुना और कार्यवाही का आश्वासन दिया। जिलाधिकारी से मिलने वाले प्रतिनिधिमंडल में प्रमुख रुप से

चीन की कोरोना वैक्सीन को डब्ल्यूएचओ का समर्थन

चित्र
(प्रशांत द्विवेदी)   चीन ने कहा है कि ट्रायल से बाहर चुनिंदा लोगों को कोरोना वैक्सीन देने के उसके फैसले का विश्व स्वास्थ्य संगठन ने समर्थन किया है। रॉयटर्स की रिपोर्ट के मुताबिक, चीन के स्वास्थ्य अधिकारी ने यह जानकारी दी है. जुलाई से ही चीन ट्रायल से इतर विभिन्न समूहों को वैक्सीन की खुराक दे रहा है। हालांकि, कई एक्सपर्ट्स ने इसकी आलोचना की थी।   चीन ने जुलाई में ही कोरोना वैक्सीन के इमरजेंसी उपयोग की इजाजत दे दी थी। चीन के नेशनल हेल्थ कमीशन के अधिकारी झेंग झोंगवेई के मुताबिक, जून में ही चीन ने WHO को अपनी वैक्सीन की जानकारी भेज दी थी।  चीन ने इमरजेंसी एप्रूवल के तहत आवश्यक सेवाओं से जुड़े लाखों कर्मचारी और हाई रिस्क ग्रुप के काफी लोगों को कोरोना वैक्सीन देना शुरू कर दिया था। हालांकि, अब तक चीनी वैक्सीन के फेज-3 ट्रायल का रिजल्ट नहीं आया है जिससे कि वैक्सीन के सुरक्षित या प्रभावी होने के गुण साबित हो सके।    WHO के असिस्टेंट डायरेक्टर जनरल डॉ. मरिअनजेला सिमाओ का कहना है कि विभिन्न देशों को अपने मेडिकल प्रोडक्ट के इमरजेंसी उपयोग की इजाजत देने का अधिकार है। वहीं, WHO की चीफ साइंटिस