बस्ती में गणपति प्रतिमाओं का विसर्जन सम्पन्न, एसडीएम गुलाब चन्द्रा की देखरेख में चाक चौबन्द रही व्यवस्था

 

                         (बृजवासी शुक्ल) 

बस्ती (उ.प्र.)। स्थानीय शहर में स्थापित श्री गणेश जी की प्रतिमाओं का विसर्जन बीती रात स्थानीय अमहट घाट पर किया गया। पूरा वातावरण गणपति बप्पा मोरया, मंगल मूरति मोरया के जयकारे से गुंजायमान होता रहा। जोनल मजिस्ट्रेट एसडीएम सदर गुलाब चन्द्रा के नेतृत्व में पूरी सुरक्षा व्यवस्था के साथ भक्तों ने पूरी भक्ति भावना से ओतप्रोत होकर सुरक्षित तरीके से भगवान गजानन का विसर्जन किया। बस्ती में गणेश पूजा अब विधिवत मेले का रुप लेने लगा है।

बता दें कि गणेश चतुर्थी के पावन अवसर पर स्थानीय शहर में गणपति प्रतिमाओं की स्थापना सैकड़ों की संख्या में की गई थी। विगत दो वर्षों में कोरोना महामारी के दौरान यह परम्परा बाधित रही। दो वर्षों बाद अब ऐसे कार्यक्रमों की अनुमति मिल रही है। शहर में पहले गणपति जी की प्रतिमाओं की स्थापना की परम्परा न के बराबर थी। अब जन मानस में गणपति पूजन और प्रतिमाओं की स्थापना के प्रति काफी श्रद्धा देखी जा रही है।

पूरे शहर में रात भर भगवान गजानन की जयकार और भक्ति गीतों के साथ वातावरण भक्तिमय बना रहा। प्रतिमा स्थापना करने वाले भक्तों के साथ साथ आम जनता में भी विसर्जन का दृश्य देखने का काफी आकर्षण रहा। स्थानीय अमहट घाट पर विसर्जन की सारी व्यवस्था की जिम्मेदारी जोनल मजिस्ट्रेट एसडीएम न्यायिक गुलाब चन्द्र द्वितीय के जिम्मे रही।

श्री चन्द्रा के साथ सेक्टर मजिस्ट्रेट के रुप में नायब तहसीलदार सदर कृष्ण कुमार मिश्र, अधिशासी अधिकारी नगर पालिका बस्ती दुर्गेश्वर त्रिपाठी एवं खण्ड विकास अधिकारी बनकटी धनेश कुमार यादव ने सुरक्षा व्यवस्था के साथ जिम्मेदारियों का निर्वहन किया। इस मौके पर प्रैक्सिस विद्यापीठ रूधौली के प्रबन्धक सुशांत पाण्डेय और सीए अजीत चौधरी ने घाट पर भक्तों के लिए की व्यवस्थाओं की प्रशंसा करते हुए गणपति पूजन की बधाईयाँ दीं। 

              ➖    ➖    ➖    ➖    ➖

देश दुनिया की खबरों के लिए गूगल पर जाएं

लॉग इन करें : - tarkeshwartimes.page

सभी जिला व तहसील स्तर पर संवाददाता चाहिए

मो. न. : - 9450557628

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

बस्ती : दवा व्यवसाई की पत्नी का अपहरण

अयोध्या : नहाते समय पत्नी को किस करने पर पति की पिटाई

बस्ती : पत्नी और प्रेमी ने बेटी के सामने पिता को काटकर मार डाला, बोरे में भरकर छिपाई लाश