हरिधाम हर्रैया में प्रवाहित हुई मानस मंदाकिनी

                 (अनूप पाण्डेय) 

हर्रैया (बस्ती) । हिन्दी नववर्ष व चैत्र नवरात्रि के पावन पर्व पर परमपिता परमात्मा की असीम अनुकम्पा से श्री अवधधाम से पधारीं राष्ट्रीय कथावाचिका मानस कोकिला आराधना शास्त्री के श्रीमुख से श्रीरामकथा के रूप में मानस मंदाकिनी रुपी गंगा प्रवाहित हुई।

 कथा में श्रीराम प्रभु के अनन्य भक्तों ने कोविड के अनुपालन में उचित दूरी का पालन करते हुए कथा श्रवण किया। श्री राम चरित मानस की विशेषता बताते हुए आराधना शास्त्री ने कहा कि इसको सुनने सुनाने से प्रभू राम का चरित्र हमारे मानस पटल पर अंकित हो जाता है जिस घर में नियमित मानस पाठ होता है वहां सर्वत्र शारीरक मानसिक सुख शांति व्याप्त रहती है। प्रभु का आदर्श हमें माता, पिता, भाई, बन्धु, पत्नी के प्रति ही नहीं अपितु राज्य व समाज के प्रति दायित्व बोध कराता है और जो व्यक्ति अपने दायित्वों का पूरी निष्ठा से अनुपालन करता है वो सबके लिए आदर का पात्र बन जाता है, किन्तु जिसके अन्दर दायित्व बोध नहीं होता वो दूसरों का आदर सम्मान नहीं करता फलतः वो महाज्ञानी लंकापति रावण की भांति ज्ञान वैभव व  असीम शक्ति से परिपूर्ण होने के बाद भी घृणा का पात्र बनता है व विनाश को प्राप्त होता है। राम का चरित्र बार बार सुनना चाहिए। जिस तरह एक बार भोजन करने से जीवन भर के लिए शक्ति नहीं मिलती उसी तरह जीवन में एक बार दो बार प्रभु का चरित्र सुनने से प्रभु की भक्ति व कृपा की प्राप्त नहीं होती और हमें मोक्ष नहीं मिलता है। 
इसके पूर्व दीप प्रज्वलन व व्यासपीठ का पूजन कर महोत्सव का शुरुआत करते हुए कार्यक्रम के संरक्षक आयोजक समाजसेवी चन्द्रमणि पाण्डेय सुदामाजी ने कहा कि कथा श्रवण का सौभाग्य बड़े ही भाग्य से मिलता है और जिस तरह भाग्यवान वो नहीं जो सोना खरीद लाये अपितु भाग्यवान वो जो कोयले में सोना पा जाये। ठीक उसी तरह कथा का आयोजन करना कराना बड़ी बात नहीं। बिन आयोजन बिन निमन्त्रण श्रीराम कथा सुनने का सौभाग्य ही भाग्य है और आज यह सौभाग्य हमारे हरिधाम हर्रैया विशेषकर नगर क्षेत्र के निवासियों को मिला है। ऐसे आयोजन में हमें बढ चढ कर सहभाग करना चाहिए। कार्यक्रम के मुख्यअतिथि नगरपंचायत अध्यक्ष राजेंद्र प्रसाद गुप्ता ने महोत्सव में हर सम्भव सहयोग का आश्वासन देते हुए कहा कि ऐसे आयोजनों से समाज का चारित्रिक विकास होता है। इस मौके पर मौजूद प्रदीप गुप्ता, बृजेश गुप्ता, राजेन्द्र गुप्ता, पूर्व प्रमुख विजय बहादुर सिंह, लड्डूलाल गुप्ता, दिवाकर मिश्र, कन्हैयालाल तिवारी, अवधेष पाठक, पंचानन मिश्र,अतुल शुक्ल, अनूप शुक्ल सहित सैकड़ो की संख्या में रामभक्तो ने मंत्रमुग्ध होकर कथा श्रवण किया।

           ➖    ➖    ➖    ➖    ➖

देश दुनिया की खबरों के लिए गूगल पर जाएं

लॉग इन करें : - tarkeshwartimes.page

सभी जिला व तहसील स्तर पर संवाददाता चाहिए

मो. न. : - 9450557628

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

बस्ती के पूर्व सीएमओ ने गंगा में लगाई छलांग

लॉक डाउन पूरी तरह खत्म

बस्ती जिले में 35 नये डॉ. तैनात