उपेन्द्र दत्त शुक्ल के निधन पर योगी ने जताया शोक

गोरखपुर  (उ.प्र.) । भारतीय जनता पार्टी के प्रदेश उपाध्यक्ष उपेंद्र दत्त शुक्ल का रविवार की शाम करीब साढ़े तीन बजे हृदय गति रुक जाने से निधन हो गया है।  



वह करीब 65 वर्ष के थे। दोपहर दो बजे के करीब उन्हें घबराहट महसूस हुई तो खुद चलकर छात्रसंघ चौराहा स्थित एक निजी अस्पताल पहुंचे। वहां उनकी बिगड़ती सेहत को देख चिकित्सकों ने भर्ती किया लेकिन अभी इलाज पूरी तरह शुरू हो पाता कि सांसें रुक गईं। उनके पार्थिव शरीर को बेतियाहाता स्थित आवास पर ले जाया गया है। 
           योगी ने उपेन्द्र पर लगाया था दांव
उपेंद्र शुक्ल भाजपा के महत्वपूर्ण पदों पर रहकर अपनी राजनीतिक क्षमता का परिचय दिया था। उनकी पहचान एक संघर्षशील नेता की थी। उनकी इसी छवि को देखते हुए उन्हें 2018 के लोकसभा उपचुनाव में पार्टी ने उन्हें गोरखपुर संसदीय सीट से भाजपा का प्रत्याशी बनाया गया था। हालांकि उस चुनाव में पार्टी को सपा प्रत्याशी प्रवीण निषाद से हार का मुंह देखना पड़ा था। वह सीट मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के सांसद पद से इस्तीफा देने खाली हुई थी। उपेंद्र शुक्ल ने समय-समय पर क्षेत्रीय अध्यक्ष, जिलाध्यक्ष जैसे महत्वपूर्ण पदों रहकर भी पार्टी को अपनी सेवा दी थी।
उपेन्द्र शुक्ला के निधन की खबर सुनकर बड़ी संख्या में भाजपा कार्यकर्ता अस्पताल पहुंच गए। भाजपा गोरखपुर क्षेत्र के अध्यक्ष डाक्टर धर्मेन्द्र सिंह ने उपेन्द्र शुक्ल के निधन को अपूरणीय क्षति बताया।
            मुख्यमंत्री ने जताया शोक 
मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने उपेन्द्र दत्त शुक्ला के निधन पर गहरा शोक व्यक्त किया है। मुख्यमंत्री ने कहा कि उपेन्द्र शुक्ला एक मिलनसार एवं जनप्रिय नेता थे। भारतीय जनता युवा मोर्चा से लेकर भारतीय जनता पार्टी में अनेक महत्वपूर्ण दायित्वों का कुशलतापूर्वक निर्वहन करते हुए आजीवन राष्ट्रवादी विचारधारा के प्रति समर्पित भाव के साथ कार्य करते रहे। उनके निधन से पार्टी ने एक समर्पित कार्यकर्ता और जनता ने एक सच्चा हितैषी खो दिया है।
         ➖   ➖   ➖   ➖   ➖
देश दुनिया की खबरों के लिए गूगल पर जाएँ 
लाॅग इन करें : - tarkeshwartimes.page
सभी जिला व तहसील स्तर पर संवाददाता चाहिए 
मो.न. : - 9450557628


इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

बस्ती के पूर्व सीएमओ ने गंगा में लगाई छलांग

लॉक डाउन पूरी तरह खत्म

बस्ती जिले में 35 नये डॉ. तैनात