15 से होगी गेहूं खरीद , छोटे किसानों को आरक्षण

तारकेश्वर टाईम्स (हि.दै.)


बस्ती (सू.वि. उ.प्र.) । गेहूं की खरीद पन्द्रह अप्रैल से शुरू हो रही है इसमें प्रत्येक मंगलवार एवं शुक्रवार को लघु एवं सीमांत किसानों के लिए आरक्षित रहेगा। 



 उक्त जानकारी जिलाधिकारी आशुतोष निरंजन ने दी है। उन्होंने बताया कि मंगलवार एवं शुक्रवार को लघु एवं सीमांत किसानां का गेहूं खरीदा जायेगा। उन्होंने बताया कि गेहूं खरीद के लिए बस्ती सदर में राजस्व निरीक्षक रमेश मणि त्रिपाठी मो0 नं0 9453261971, तहसील भानपुर में लेखपाल प्रभात मो0नं0 9452254424, तहसील हर्रैया में अनुराग श्रीवास्तव मो0नं0 9170407407 तथा रूधौली में रामनयन चौधरी लेखपाल मो0नं0 9839218227 को हेल्प डेस्क प्रभारी नामित किया गया है। इसके अलावा जिला खाद्य विपणन अधिकारी कार्यालय में कन्ट्रोल रूम बनाया गया है जहां हरमिन्दर सिंह मो0नं0 7839565077 उपलब्ध रहेंगे। किसान गेहूं बेचने में आने वाली किसी भी समस्या, पंजीकरण एवं सत्यापन हेतु इन नामित कर्मचारियों से सम्पर्क कर सकते हैं। 
  उन्होने बताया कि गेहूं का समर्थन मूल्य रू0 1925 प्रति कुन्तल निर्धारित है। केन्द्रों पर गेहूं की तौलवाई, वाहन से उतराई एवं सफाई के मद में 20 रूपये की धनराशि किसानों द्वारा स्वयं वहन की जायेगी। 
 उन्होंने कहा कि कोरोना वायरस के कारण लाकडाउन के दौरान गेहूं क्रय केन्द्र पर अनावश्यक भीड़ न हो इसलिए ऑनलाइन टोकन व्यवस्था की गयी है। गेहूं बेचने के इच्छुक किसान क्रय केन्द्र प्रभारी से सम्पर्क कर अपना पंजीकरण नम्बर बतायेंगे। केन्द्र प्रभारी एक सप्ताह के अन्दर टोकन जनरेट कर एस0एम0एस के माध्यम  किसानों को उनके मोबाइल पर सूचित करेंगे। निर्धारित तिथि एवं समय पर किसान अपना गेहूं बेच सकेंगे, उन्हें गेहूं क्रय केन्द्र पर जाने की आवश्यकता नहीं होगी। गेहूं क्रय केन्द्र पर हाथ धोने के लिए साबुन एवं पानी, सेनेटाइजर की व्यवस्था रहेगी। केन्द्र पर उपस्थित सभी लोगों को सोशल डिस्टेन्सिंग अपनाते हुए मास्क, तौलिया, गमछा से मुंह एवं नाक को ढक कर रखें ।
       ➖    ➖   ➖   ➖   ➖
देश दुनिया की खबरों के लिए गूगल पर जाएँ 
लाॅग इन करें : - tarkeshwartimes.page
सभी जिला व तहसील स्तर पर संवाददाता चाहिए 
मो. न. : - 9450557628


इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

बस्ती के पूर्व सीएमओ ने गंगा में लगाई छलांग

लॉक डाउन पूरी तरह खत्म

बस्ती जिले में 35 नये डॉ. तैनात