भारत ने सेमीफाइनल में हराकर अंग्रेजों से किया हिसाब बराबर, दक्षिण अफ्रीका से होगी भारत की खिताबी भिड़ंत

 

             (संतोष दूबे)

नई दिल्ली। भारत ने टी20 वर्ल्ड कप के दूसरे सेमीफाइनल में इंग्लैंड को 68 रन से हरा दिया है। इसी के साथ टीम इंडिया ने फाइनल में प्रवेश पा लिया है और अब उसका सामना खिताबी भिड़ंत में दक्षिण अफ्रीका से होगा। भारत ने 2022 वर्ल्ड कप के सेमीफाइनल में आई हार का हिसाब भी चुकता कर दिया है।

दो साल पहले सेमीफाइनल में इंग्लैंड ने टीम इंडिया को 10 विकेट से रौंदा था। 172 रन के लक्ष्य का पीछा करते हुए इंग्लैंड के बल्लेबाज कोई बड़ी पार्टनरशिप लगा ही नहीं पाए। इंग्लैंड की आधी टीम 50 रन के भीतर ही आउट हो गई थी, जिसके बाद टीम इंडिया की जीत औपचारिकता मात्र रह गई थी। इंग्लैंड की टीम पूरे 20 ओवर भी नहीं खेल पाई और 103 के स्कोर पर ऑलआउट हो गई। भारत के लिए सबसे ज्यादा विकेट कुलदीप यादव और अक्षर पटेल ने लिए, इन दोनों गेंदबाजों ने तीन - तीन विकेट लिए।

इंग्लैंड ने टॉस जीतकर पहले गेंदबाजी का निर्णय लिया था, जो उसी पर भारी पड़ा। भारतीय टीम को पहले बल्लेबाजी का न्योता मिला और टीम ने स्कोरबोर्ड पर 171 रन लगाए। हालांकि बारिश ने कई बार टीम इंडिया की पारी में दखल दिया, लेकिन रोहित शर्मा की 57 रन और सूर्यकुमार यादव के 47 रनों की बदौलत भारत 171 रन के स्कोर तक पहुंचने में सफल रहा। अंतिम ओवरों में हार्दिक पांड्या ने 23 रन और रवींद्र जडेजा ने 17 रन की कैमियो पारी खेलकर महफिल लूटी।

172 के लक्ष्य का पीछा करने उतरी इंग्लैंड की टीम की शुरुआत बहुत खराब रही। कप्तान जोस बटलर से विकेट गिरने का सिलसिला शुरू हुआ जो अंत तक रुका ही नहीं। आधी इंग्लिश टीम 50 रन के भीतर पवेलियन लौट चुकी थी। कप्तान जोस बटलर ने 23 रन और हैरी ब्रूक ने 25 रन का योगदान दिया। 15 ओवर तक इंग्लैंड ने 86 रन पर 8 विकेट गंवा दिए थे। चूंकि हाथ में मात्र 2 विकेट बाकी थे, ऐसे में 5 ओवरों में 86 रन बना पाना लगभग असंभव सा ही था।

       दबाव में ढह गई इंग्लैंड

इंग्लैंड की शुरुआत तो बढ़िया रही क्योंकि टीम ने 3 ओवर में बिना विकेट गंवाए 26 रन बना लिए थे। मगर अगले 23 रन के अंदर इंग्लिश टीम के 5 बल्लेबाज पवेलियन लौट गए थे। एक समय टीम का स्कोर 5 विकेट के नुकसान पर 49 रन था। दरअसल शुरुआती 26 रन इंग्लैंड के किन्हीं 2 खिलाड़ियों के बीच सबसे बड़ी साझेदारी रही। कोई बड़ी पार्टनरशिप ना होना इंग्लैंड की हार का सबसे बड़ा कारण रहा। टीम के 7 बल्लेबाज तो दहाई का आंकड़ा भी नहीं छू पाए। 

        ➖   ➖   ➖   ➖

देश दुनिया की खबरों के लिए गूगल पर जाएं

लाग इन करें : - tarkeshwartimes.page

सभी जिला व तहसील स्तर पर संवाददाता चाहिए

मो. न. : - 9450557628

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

रमंति इति राम: , राम जीवन का मंत्र

स्वतंत्रता आंदोलन में गिरफ्तार होने वाली राजस्थान की पहली महिला अंजना देवी चौधरी : आजादी का अमृत महोत्सव

बस्ती में बलात्कारी नगर पंचायत अध्यक्ष गिरफ्तार