मानव तस्करी के शक में फ्रांस से वापस लौटे 300 भारतीय

                (संतोष दूबे)

मुंबई। भारतीय यात्रियों सहित 303 पैसेंजर्स को ले जाने वाले जिस प्लेन को फ्रांस में मानव तस्करी के संदेह में रोका गया था, वह मुंबई पहुंच गया है। इस प्लेन के साथ 276 यात्री भारत पहुंचे हैं। विमान एययबस A340 ने दोपहर के करीब 2.30 बजे फ्रांस के वैट्री हवाई अड्डे से उड़ान भरी थी और मुंबई में मंगलवार सुबह करीब 4 बजे लैंडिंग की। मानव तस्करी के संदेह में चार दिन पहले फ्रांस में रोका गया चार्टर प्लेन आखिरकार मंगलवार सुबह मुंबई एयरपोर्ट पर लैंड हो गया। एक अधिकारी ने बताया कि प्लेन 276 यात्रियों को लेकर भारत पहुंचा, इसमें ज्यादातर भारतीय हैं।

The A340 aircraft, being operated by Romania's Legend Airlines, is expected to land at Mumbai airport around 2.20 pm. (Source: legendairlines.ro/)
दरअसल, चार दिन पहले निकारगुआ जाने वाली रोमानियाई कंपनी की फ्लाइट को फ्रांस के पास वैट्री हवाई अड्डे पर रोक दिया गया था। तीन सौ तीन यात्रियों को ले जाने वाले चार्टर प्लेन ने संयुक्त अरब अमीरात के दुबई से उड़ान भरी थी। मानव तस्करी के संदेह में 21 दिसंबर को पेरिस से 150 किमी पूर्व वैट्री हवाई अड्डे पर इसे रोक दिया गया था।
     सभी बताए जा रहे कामगार 

न्यूज एजेंसी AFP के मुताबिक, प्लेन में मौजूद 2 लोगों को बाकी 301 लोगों से अलग रखा गया है। इनसे कड़ाई से पूछताछ की गई थी। वहीं, 10 लोगों ने फ्रांस में ही शरण देने की मांग की थी। सभी लोग कामगार बताए गए हैं, जिन्हें निकारागुआ के रास्ते अमेरिका और कनाडा भेजा जा रहा था।
 फ्रांसीसी अधिकारियों के मुताबिक जब विमान ने मुंबई के लिए उड़ान भरी तो उसमें 276 यात्री सवार थे और दो नाबालिगों सहित 25 लोगों ने शरण के लिए आवेदन करने की इच्छा व्यक्त की थी। उस समय वह फ्रांस की धरती पर थे। फ्रांस के एक मीडिया हाउस के मुताबिक दो नाबालिगों को जज के सामने पेश किया गया और उन्हें गवाह बनाकर रिहा कर दिया गया।

      दो यात्रियों से हुई पूछताछ

अधिकारी के मुताबिक यात्रियों को हवाई अड्डे के एंट्री हॉल में रखा गया था। साथ ही एंट्री हॉल को कवर कर दिया गया था। पुलिस ने इस एरिया में दूसरे यात्रियों के प्रवेश पर रोक लगा दी थी। पेरिस प्रॉसीक्यूटर ऑफिस ने बताया था कि शुक्रवार को हिरासत में लिए गए 2 यात्रियों को शनिवार को फिर 48 घंटे के लिए हिरासत में लिया गया और उनसे पूछताछ की गई।

जिस फ्लाइट को फ्रांस से उड़ान भरने से रोका गया था, वह लीजेंड एयरलाइंस की थी। घटना के बाद एयरलाइंस की वकील लिलियाना बकायोको ने कहा था कि एयरबस A340 के चालक दल के सभी सदस्यों को पूछताछ के बाद उन्हें जाने की अनुमति दे दी गई, उन्होंने इससे पहले कहा था कि अगर अभियोजकों ने एयरलाइंस के खिलाफ आरोप दायर किए तो वह भी मुकदमा दायर करेंगे।

       ➖   ➖   ➖   ➖   ➖

देश दुनिया की खबरों के लिए गूगल पर जाएं

लाग इन करें : - tarkeshwartimes.page

सभी जिला व तहसील स्तर पर संवाददाता चाहिए

मो. न. : - 9450557628

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

रमंति इति राम: , राम जीवन का मंत्र

अतीक का बेटा असद और शूटर गुलाम पुलिस इनकाउंटर में ढेर : दोनों पर था 5 - 5 लाख ईनाम

अतीक अहमद और असरफ की गोली मारकर हत्या : तीन गिरफ्तार