बस्ती में सुरेन्द्र मोहन वर्मा के घर लूटपाट का पर्दाफाश

               (बृजवासी शुक्ल)

बस्ती (उ.प्र.)। स्थानीय शहर के बीचोंबीच चार दिन पहले हुए सनसनीखेज लूटकांड का पुलिस ने आज खुलासा कर दिया है। पुलिस ने दो लुटेरों को गिरफ्तार कर उनके कब्जे से 12 हजार 250 रु. और सोने के नौ नग जेवरात भी बरामद कर लिया है। पुलिस कप्तान ने गिरफ्तार करने वाली पुलिस टीम को 25 हजार रु. ईनाम की घोषणा की है।बता दें कि शहर के बीचोंबीच मालवीय रोड रौता चौराहे पर वरिष्ठ अधिवक्ता सुरेन्द्र मोहन वर्मा के घर में 11 सितम्बर सोमवार को दिन दहाड़े वकील की पत्नी को बन्धक बनाकर लुटेरों ने नगदी और ज्वेलरी आदि लूट लिया था। वकील की बुजुर्ग पत्नी को लुटेरों ने हाथ पीछे कर बांध दिया था और पेट में धारदार हथियार से मारकर गम्भीर रूप से घायल भी कर दिया था। वे हास्पिटल में भर्ती हैं।

पुलिस बीते 5 दिनों से रौता चौराहे पर दोपहर करीब दो बजे हुए इस जघन्य लूटकांड को अंजाम देने वाले लुटेरों की तलाश कर रही थी। लुटेरों की तलाश के लिए एसपी गोपाल कृष्ण चौधरी ने एसओजी, स्वाट, सर्विलांस और डॉग स्क्वायड टीम का गठन किया था। एक तरफ जहां उप्र. सरकार अपराध पर लगाम लगाने के लिए पुलिस अधिकारियों के साथ लगातार बैठक कर रही है।ऑपरेशन त्रिनेत्र की मुहिम चलाई जा रही है। वहीं बस्ती पुलिस त्रिनेत्र अभियान चलाए जाने को लेकर भले ही अपनी पीठ थपथपा रही हो, लेकिन जब घटनाएं होती हैं तो त्रिनेत्र अभियान (सीसीटीवी कैमरे) की सच्चाई सामने आ जाती है। त्रिनेत्र अभियान के बावजूद पुलिस अपराध पर नियंत्रण लगाने में पूरी तरह फेल साबित हो रही है। रौता पुलिस चौकी से महज 50 मीटर की दूरी पर लुटेरे जघन्य घटना को अंजाम देते हैं। शहर के बीचों बीच ये हादसा पुलिस के लिए चुनौती पूर्ण रहा। जिसके बाद पुलिस ने घटना के पांचवें दिन दो लुटेरों को गिरफ्तार किया है।
 (घटना के बाद मौके पर निरीक्षण करते एसपी गोपाल कृष्ण चौधरी, कोतवाल विनय पाठक, फोरेंसिक टीम व अन्य)
घटना बस्ती जिले के शहर कोतवाली थाना क्षेत्र के मालवीय रोड स्थित रौता चौकी के पास का है, जहां लुटेरे दिनदहाड़े मुंह बांध कर वरिष्ठ अधिवक्ता सुरेंद्र मोहन वर्मा के घर में घुस में गए और घर में अकेली उनकी बुजुर्ग पत्नी नूतन वर्मा के हाथ पांव बांधकर धारदार हथियार से लहूलुहान कर नगदी सहित लाखों के जेवरात लूटकर चम्पत हो गये थे। लुटेरों के जाने के बाद किसी तरह से बदहवास महिला ने जब घर के बालेसर से सड़क पर आवाज दी तो एक बच्ची ने उनकी आवाज को सुना तब जाकर इस घटना की जानकारी पड़ोसियों को हुई। घटना की सूचना पर अधिवक्ता सुरेंद्र कुमार वर्मा जब घर पहुंचे तो पत्नी की हालत देख उनके होश उड़ गए।
(घटना के दिन 11 सितम्बर को मौका मुआयना व पत्रकारों को जानकारी देते एसपी गोपाल कृष्ण चौधरी, साथ में सीओ विनय चौहान व कोतवाल)
सूचना पर पहुंची कोतवाली पुलिस ने पूरे मामले से एसपी गोपाल कृष्ण चौधरी को अवगत कराया और एसपी ने खुद घटना स्थल पर पहुंच कर घर के अंदर जाकर मुआयना किया। एसपी ने तुरंत ही लुटेरों की तलाश के लिए टीमें गठित की। करीब 500 से जायदा सीसीटीवी कैमरे खंगाले गए। लुटेरों की तलाश में हलकान पुलिस को आखिरकार आज पांचवें दिन लुटेरों को गिरफ्तार करने में सफलता मिली। घर में लूट की घटना और पत्नी को घायल अवस्था में अस्पताल में भर्ती कराकर पीड़ित सुरेन्द्र मोहन वर्मा एड. ने कोतवाली में मुकदमा दर्ज कराया था। लुटेरों ने सुरेन्द्र मोहन वर्मा की पत्नी नूतन वर्मा को बाथरुम में बन्द कर दिया था। दोनों ने अपने मुंह ढके थे।
(वरिष्ठ अधिवक्ता सुरेन्द्र मोहन वर्मा और उनकी पत्नी नूपुर वर्मा)

उक्त लूटकांड के अनावरण के बाद एसपी गोपाल कृष्ण चौधरी ने पत्रकारों को बताया कि लूट में नगर थाना क्षेत्र के महरीपुर निवासी अभियुक्त रामदेव यादव उर्फ प्रिंस पुत्र छिनमिन और पुरानी बस्ती थाना क्षेत्र के करमा निवासी राजेश पुत्र दुर्गा प्रसाद के खिलाफ जनपद के तीन थानों में कई आपराधिक मुकदमे दर्ज हैं। लुटेरों ने पुलिस को बताया कि वकील के घर में 50 - 60 हजार रु. नहीं बल्कि करीब 20 हजार रु. मिले थे। जिसमें से बचे हुए 12 हजार 250 रुपये पुलिस ने बरामद किए हैं। पुलिस कप्तान गोपाल कृष्ण चौधरी ने बताया कि अपराधियों के पास से घटना में प्रयुक्त सब्बल और वकील के घर से लूटे गए दो मोबाइल फोन भी बरामद किया है।

 इस लूटकांड के बावत थाना कोतवाली में मुअसं. - 298 / 23 पर धारा 34, 307, 342, 394 सपठित धारा 397, 411 और 455 भादवि. के अन्तर्गत मुकदमा दर्ज हुआ था। उन्होंने बताया कि अपराधियों को आज सुबह करीब सवा नौ बजे मुखबिर की सूचना पर अमहट पुल के पास से गिरफ्तार किया गया है।

     लुटेरों का आपराधिक इतिहास

 अभियुक्त रामदेव यादव उर्फ प्रिंस पुत्र छिनमिन के ऊपर कुल तीन आपराधिक मामले दर्ज हैं। जिसमें थाना कोतवाली बस्ती में सन् 2008 में मुअसं. 860 पर भादवि. की धारा 302 (हत्या), नगर थाने में वर्ष 2009 में मुअसं. 48 पर 3/4 और तीसरा मुकदमा ताजा घटना वकील साहब के घर लूट के मामले का है। दूसरा अपराधी राजेश उर्फ राजू पुत्र दुर्गा प्रसाद पुरानी बस्ती थाने का हिस्ट्रीशीटर न. 47 A है। इसके ऊपर पूरे एक दर्जन मुकदमे दर्ज हैं। थाना कोतवाली बस्ती में 8, पुरानी बस्ती में 3 और एक मामला कप्तानगंज थाने में दर्ज है। इसके ऊपर वर्ष 2008 में ही कोतवाली में पांच मुकदमें चोरी के दर्ज हैं और सभी में माल बरामद है। वर्ष 2009 में कोतवाली पुलिस ने इसके ऊपर मुअसं. 121 पर यूपी गैंगस्टर एक्ट की धारा 3(1) और कोतवाली में 2009 में ही मुअसं. - 140 पर 110 जी द. प्र. सं. के अन्तर्गत कार्रवाई की गई है। आठवां ताजा मामला कोतवाली का ही वकील के घर लूट का है। इसके साथ ही कोतवाली में 2009 में मुअसं. 140 पर 110 जी दण्ड प्रक्रिया संहिता और पुरानी बस्ती में अपराध सं. - 38 पर 401 दर्ज हैं।

   (जहां हुई लूट कमरे का निरीक्षण करते एसपी)
पुरानी बस्ती में 2010 में मुअसं. - 778 पर धारा 110 जी दप्रसं. और 2010 में ही पुरानी बस्ती में मुअसं. 1721 पर 3/4 पर गुण्डा एक्ट की कार्रवाई की गई। इसके अलावा इसी साल 2023 में ही कप्तानगंज थाने में 195 पर आईपीसी की धारा 379 / 411 के अन्तर्गत दर्ज हैं। इसमें भी माल बरामद हो गया था।

      गिरफ्तार करने वाली पुलिस टीम 

अपराधियों को गिरफ्तार करने वाली पुलिस टीम में कुल 22 अधिकारी व कर्मचारी शामिल रहे। टीम में प्रभारी निरीक्षक कोतवाली विनय कुमार पाठक, एसओजी प्रभारी गजेन्द्र सिंह, स्वाट टीम प्रभारी उमाशंकर तिवारी, प्रभारी सर्विलांस सेल शशिकांत, प्रभारी चौकी गाँधीनगर राकेश कुमार मिश्र, प्रभारी चौकी रोडवेज राहुल गुप्ता, इनकी टीम के कां. मनीष यादव, गौरव कुमार, चौकी प्रभारी बड़ेवन शशि शेखर सिंह, रौता चौकी प्रभारी रमेश यादव, हेका. ज्वाला सिंह, का.  अमरीश प्रजापति, मनीष यादव एवं गौरव, एसओजी टीम के हेका. अनंत यादव, का. साजिद जमाल, गजेन्द्र प्रताप सिंह एवं देवेन्द्र निषाद, स्वाट टीम के कां. सुभेन्द्र तिवारी,धर्मेन्द्र कुमार, रमेश कुमार, धीरज यादव तथा अभिलाष सिंह शामिल रहे।

         ➖   ➖   ➖   ➖   ➖

देश दुनिया की खबरों के लिए गूगल पर जाएं

लाग इन करें: - tarkeshwar5imes.page

सभी जिला व तहसील स्तर पर संवाददाता चाहिए

मो. न. : - 9450557628

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

रमंति इति राम: , राम जीवन का मंत्र

अतीक का बेटा असद और शूटर गुलाम पुलिस इनकाउंटर में ढेर : दोनों पर था 5 - 5 लाख ईनाम

अतीक अहमद और असरफ की गोली मारकर हत्या : तीन गिरफ्तार