बस्ती शहर में लुटेरों ने दिनदहाड़े घर में चाकू मार, बंधक बना लूटे लाखों के जेवर व नगदी

 

                (विशाल मोदी)

बस्ती उ.प्र.)। स्थानीय बीच शहर में दिनदहाड़े लुटेरों ने रौता चौराहे पर घर में घुसकर बुजुर्ग महिला को बन्धक बनाकर घर में जमकर लूटपाट की। लुटेरों ने महिला को हाथ पैर बांध कर घर में बन्द कर दिया और ज्वेलरी व 50 - 60 हजार नगदी लूटकर चम्पत हो गये। लुटेरों ने महिला को चाकू मारकर गम्भीर रूप से घायल भी कर दिया। दिन दहाड़े बीच शहर में दिल दहलाने वाली इस घटना से जिले में सनसनी फ़ैल गई है। पुलिस, फोरेंसिक, एसओजी ने डॉग स्क्वायड के साथ घटना स्थल का मुआयना कर लिया है। पुलिस अधीक्षक गोपाल कृष्ण चौधरी ने भी घटना स्थल पर जाकर बारीकी से मौका मुआयना किया और पुलिस टीम को सख्त निर्देश दिए हैं।

 (लूटे गये घर का बारीकी से निरीक्षण करते एसपी गोपाल कृष्ण चौधरी व अन्य)

बस्ती जिले में शहर कोतवाली थाना क्षेत्र की रौता पुलिस चौकी से सटे वरिष्ठ अधिवक्ता सुरेन्द्र मोहन वर्मा की दिव्यांग पत्नी को बदमाशों ने बंधक बनाकर पेट में चाकू मारकर घर मेंं लूटपाट की।इस दौरान उनके शरीर पर चाकू और लोके के राड से ताबड़तोड़ हमला कर उन्हे अधमरा कर दिया। ऐसा लगता है कि लुटेरों ने उन्हें मरा जानकर छोड़ा होगा। बताया जा रहा है घटना को दो युवकों ने अंजाम दिया। वे मुंह पर गमछा बांधकर घुसे थे। कमरों में रखे सामान बिखेर दिया और जमकर तोड़फोड़ की, साथ में मोबाइल, लाखों के जेवर और 50 - 60 हजार नगदी भी ले गये। बदमाशों ने जाते समय हाथ पैर बांधकर महिला को बाथरूम के पास धकेल दिया। सुरेन्द्र मोहन वर्मा ने बताया कि रोज की तरह वे बाहर का फाटक बंद करके कचहरी चले गये थे। घटना करीब दो - ढाई बजे की बताई जा रही है। लेकिन करीब 4 बजे जब वरिष्ठ अधिवक्ता सुरेन्द्र मोहन वर्मा घर आए तो नजारा देखकर हैरान हो गये।आनन फानन में उन्हें जिला चिकित्सालय में भर्ती कराया गया। जहां सुधरते न देख देर शाम बरगदवा स्थित निजी अस्पताल में भर्ती कराया गया है। दूसरी ओर पुलिस चौकी से सटे इतनी बड़ी घटना होने पर महकमे में भी हड़कम्प मच गया है। लोग बस्ती जिले की कानून व्यवस्था पर सवाल उठा रहे हैं।

(पत्रकारों को घटना की जानकारी देते और मौके का निरीक्षण करते एसपी गोपाल कृष्ण चौधरी, शहर कोतवाल विनय पाठक व मौजूद पुलिस फोर्स)

सूचना मिलते ही एसपी गोपालकृष्ण चौधरी समेत तमाम आला अफसर घटनास्थल पहुंचे, मौके से जरूरी साक्ष्य इकट्ठा किये गये। अपराधियों की गिरफ्तारी के लिए पुलिस टीम को तत्काल से ही एक्टिव कर दिया गया है। जिससे जल्द से जल्द उन्हें गिरफ्तार किया जा सके। बता दें कि सुरेन्द्र मोहन वर्मा वरिष्ठ अधिवक्ता होने के साथ साथ कायस्थ महासभा और चित्रगुप्त मंदिर परिवार में बहुत जिम्मेदार पदों पर हैं और शहर के प्रतिष्ठित व्यक्ति हैं। इस घटना ने पुलिस से लेकर आम जनता को भी झकझोर कर रख दिया है।

(ये लूटकांड में चाकू से हमले में घायल बुजुर्ग महिला (सुरेन्द्र मोहन वर्मा एडवोकेट की पत्नी हैं) 

घटना स्थल की बात करें तो शहर में एकदम व्यस्त मालवीय रोड पर ही पुलिस चौकी के ठीक बगल में अपराधियों ने इतनी बेरहमी के साथ दुस्साहसिक घटना को अंजाम दिया है, कि जनता में भी दहशत का माहौल है। पूरी घटना को देखते हुए कई एंगल पर ध्यान दिये जा रहे हैं। फिलहाल अभी कोई ऐसा क्लू नहीं मिल रहा, जिससे यह माना जाय कि किसी दुश्मनी वश लूट की जघन्य घटना को अंजाम दिया होगा। लेकिन इतना जरुर कहा जा रहा है कि अपराधी बाहरी नहीं, स्थानीय ही हो सकते हैं, जिन्हें वकील साहब के घर की पूरी स्थिति की जानकारी हो। सारे पहलुओं पर गौर करते हुए पुलिस ने चप्पे चप्पे पर जाल बिछा दिया है और जल्द ही गिरफ्तारी कर घटना के खुलासे की उम्मीद की जा रही है।

      ➖   ➖   ➖   ➖   ➖

देश दुनिया की खबरों के लिए गूगल पर जाएं

लाग इन करें : - tarkeshwartimes.page

सभी जिला व तहसील स्तर पर संवाददाता चाहिए

मो. न. : - 9450557628

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

रमंति इति राम: , राम जीवन का मंत्र

अतीक का बेटा असद और शूटर गुलाम पुलिस इनकाउंटर में ढेर : दोनों पर था 5 - 5 लाख ईनाम

अतीक अहमद और असरफ की गोली मारकर हत्या : तीन गिरफ्तार