भारत ने चूम लिया चांद, सबसे आगे होंगे हिन्दुस्तानी

                (प्रशांत द्विवेदी)

नई दिल्ली। भारत ने चन्द्रयान - 3 के चांद पर सफलतापूर्वक लैंडिंग के साथ ही चांद को चूम लिया है। चन्द्रयान  - 3 (Chandrayaan-3) ने चांद की सतह पर आज सफल लैंडिंग कर ली है। यह सफलता हासिल करने वाला भारत दुनिया का चौथा देश बन चुका है। 140 करोड़ लोगों की प्रार्थना और इसरो के साढ़े 16 हजार वैज्ञानिकों की चार साल की मेहनत रंग ले लाई। अब पूरी दुनिया ही नहीं चांद भी भारत की मुठ्ठी में है। ISRO ने चांद पर परचम लहरा दिया है। अब बच्चे सिर्फ चंदा मामा नहीं बुलाएंगे। चांद की तरफ देख कर अपने भविष्य के सपने को पूरा करेंगे। करवा चौथ की छन्नी से सिर्फ चांद नहीं बल्कि देश की बुलंदी भी दिखेगी। Chandrayaan-3 ने चांद की सतह पर अपने कदम रख दिए हैं।

भारत के यशस्वी प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने चन्द्रमा के दक्षिणी ध्रुव पर भारत के चन्द्रयान - 3 के पूरी सफलता के साथ लैंडिंग के वक्त कहा कि यह 140 करोड़ भारतीयों के लिए गौरव की बात है। हम इस अद्भुत और ऐतिहासिक क्षण के साक्षी हैं। बच्चे अब चन्दा मामा दूर के नहीं, चन्दा मामा टूर के बुलाएंगे। भारत का झण्डा चांद पर लहरा रहा है। भारत ने अंतरिक्ष में इतिहास रच दिया है। चांद के साउथ पोल पर विक्रम लैंडर पूरी ठीक तरह से उतर गया है। चन्द्रयान - 3 ने आज शाम 6 बजकर 4 मिनट पर चांद के साउथ पोल पर सॉफ्ट लैंडिंग के साथ ही इतिहास रच दिया। इसके साथ भारत चन्द्रमा के दक्षिणी ध्रुव पर पहुंचने वाला दुनिया का पहला देश बन गया।  चंद्रयान - 3 मिशन का लैंडर मॉड्यूल आज शाम चन्द्रमा की सतह पर उतर गया। चन्द्रयान - 3 मिशन के जरिए भारत ने आज इतिहास रच दिया। भारतीय अंतरिक्ष अनुसंधान संगठन (Indian Space Research Organization) के चंद्रयान - 3 मिशन का लैंडर मॉड्यूल सफलता पूर्वक चंद्रमा की सतह पर उतर गया। लैंडर विक्रम (Lander Vikram) और रोवर प्रज्ञान से युक्त लैंडर मॉड्यूल ने शाम छह बजकर चार मिनट पर चंद्रमा के दक्षिणी ध्रुव पर सॉफ्ट लैंडिंग की और इतिहास रच दिया।
इस सफलता के साथ भारत चन्द्रमा के दक्षिणी ध्रुव पर पहुंचने वाला दुनिया का पहला देश बन गया। इसके साथ ही भारत अमेरिका, चीन और पूर्व सोवियत संघ के बाद चंद्रमा की सतह पर ‘सॉफ्ट लैंडिंग' करने वाला दुनिया का चौथा देश बन गया। चंद्रमा की सतह पर अमेरिका, पूर्व सोवियत संघ और चीन ‘सॉफ्ट लैंडिंग' कर चुके हैं, हालांकि इनमें से कोई भी देश ऐसा नहीं है जिसकी ‘सॉफ्ट लैंडिंग' चंद्रमा के दक्षिणी ध्रुवीय क्षेत्र में हुई है। चंद्रयान-3 के लैंडर की सॉफ्ट लैंडिंग में 15 से 17 मिनट लगे। चंद्रयान - 3 को 14 जुलाई 2023 को दोपहर 2.30 बजे लॉन्च किया गया था।

अंतरिक्ष में भारत की उपलब्धियां अब अभूतपूर्व ऊंचाइयों को छू चुकी हैं : रक्षा मंत्री राजनाथ

रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने बुधवार को चन्‍द्रयान - 3 के लैंडर विक्रम के चन्‍द्रमा के दक्षिणी ध्रुव पर सफलतापूर्वक अपना कदम रखने पर देशवासियों और वैज्ञानिकों को बधाई दी और कहा कि यह सफलता भारत की अंतरिक्ष प्रौद्योगिकी में क्षमता और शक्ति का प्रमाण है। उन्होंने ट्वीट करते हुए लिखा, "मिशन चंद्रयान 3 की सफलता पर टीम इसरो को बहुत बधाई। अंतरिक्ष में भारत की उपलब्धियां अब अभूतपूर्व ऊंचाइयों को छू चुकी हैं। सारा देश उन वैज्ञानिकों पर गर्व महसूस कर रहा है जिन्होंने अपनी बुद्धिमत्ता, मेहनत और प्रबल इच्छाशक्ति से इस मिशन की सफलता के साथ इतिहास रच दिया है।"

चंद्रयान - 3 के लैंडर और एमओएक्स के बीच संचार लिंक स्थापित : ISRO

चंद्रयान-3 मिशन के सफल होने के तुरंत बाद भारतीय अंतरिक्ष अनुसंधान संगठन (इसरो) ने कहा कि लैंडर और यहां स्थित अंतरिक्ष एजेंसी के मिशन संचालन परिसर (एमओएक्स) के बीच संचार लिंक स्थापित हो गया है। एमओएक्स इसरो टेलीमेट्री, ट्रैकिंग एंड कमांड नेटवर्क (आईएसटीआरएसी) में स्थित है। इसरो ने चंद्रमा की सतह पर उतरने के दौरान 'लैंडर हॉरिजॉन्टल वेलोसिटी कैमरे' द्वारा ली गईं तस्वीरें भी जारी कीं।

अदाणी ग्रुप के चेयरमैन गौतम अदाणी ने चंद्रयान - 3 के सफल होने ISRO को बधाई दी। उन्होंने इसरो को भारत का गौरव बताया है। साथ ही उन्होंने चंद्रयान - 3 के सफल होने को भारतीयों के लिए ऐतिहासिक क्षण बताया।

वैज्ञानिक समुदाय की प्रतिभा और कड़ी मेहनत का परिणाम : राहुल गांधी

कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी ने चंद्रयान-3 की सफल 'लैंडिंग' को भारतीय अंतरिक्ष अनुसंधान संगठन (ISRO) की शानदार उपलब्धि करार देते हुए बुधवार को कहा कि यह सफलता वैज्ञानिक समुदाय की प्रतिभा और कड़ी मेहतन का परिणाम है। राहुल गांधी ने ट्वीट करते हुए लिखा, "आज की शानदार उपलब्धि के लिए टीम इसरो को बधाई। चंद्रमा पर चंद्रयान-3 की 'सॉफ्ट लैंडिंग' हमारे वैज्ञानिक समुदाय की दशकों की जबरदस्त प्रतिभा और कड़ी मेहनत का परिणाम है। 1962 के बाद से भारत का अंतरिक्ष कार्यक्रम नई ऊंचाइयों को छू रहा है और युवा सपने देखने वालों की पीढ़ियों को प्रेरित कर रहा है।"

"अविस्मरणीय क्षण..." : चंद्रयान-3 की सफल लैंडिंग पर राष्ट्रपति द्रौपदी मुर्मू

राष्ट्रपति द्रौपदी मुर्मू ने चंद्रयान-3 की सफल 'सॉफ्ट लैंडिंग' पर भारतीय अंतरिक्ष अनुसंधान संगठन (इसरो) और मिशन में शामिल सभी लोगों को बुधवार को बधाई दी और कहा कि यह एक अविस्मरणीय क्षण है तथा वैज्ञानिकों ने इतिहास रचकर भारत को गौरवान्वित किया है।


 चंद्रयान की सफल लैंडिंग देखने के बाद अपने वीडियो संदेश में राष्ट्रपति ने कहा, "चंद्रयान - 3 की 'सॉफ्ट लैंडिंग' एक महत्वपूर्ण अवसर है। यह एक ऐसी घटना है जो जीवनकाल में एक बार होती है।" उन्होंने कहा कि चंद्रयान - 3 की चंद्रमा की सतह पर 'लैंडिंग' के साथ ही वैज्ञानिकों ने इतिहास रच दिया है और भारत को गौरवान्वित किया है।

राष्ट्रपति मुर्मू ने कहा, "मैं इसरो, चंद्रयान - 3 मिशन में शामिल सभी लोगों को बधाई देती हूं तथा उन्हें आगे और बड़ी उपलब्धियां हासिल करने की शुभकामनाएं देती हूं।"

 चंद्रयान-3 के सफल होने पर CJI डीवाई चंद्रचूड़ ने कहा - "विकास की राह में मील का पत्थर 

इस महान देश के नागरिक के तौर पर ये गर्व का क्षण है कि मैं भी इस चंद्रयान - 3 के चंद्रमा के दक्षिणी ध्रुव पर उतरने का साक्षी बना। चंद्रयान - 3 की सफलता ने हमारे देश भारत को चुनिंदा विकसित देशों की कतार में ला खड़ा कर दिया है, जिन्होंने ऐसी उपलब्धि हासिल की है। भारत तो उन देशों से अलग पहला देश है जिसने दक्षिणी ध्रुव पर सॉफ्ट लैंडिंग की है। ये देश के वैज्ञानिकों की अथक मेहनत का नतीजा है।

ये कामयाबी विकास की राह में मील का पत्थर है। इसरो की टीम और देश के सभी वैज्ञानिक समाज को इस ऐतिहासिक उपलब्धि पर हार्दिक बधाई। इन्होंने पूरे देश को गौरवान्वित किया है।

अमित शाह ने चंद्रयान-3 के चंद्रमा की सतह पर सफलतापूर्वक उतरने की सराहना की

केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने बुधवार को चंद्रयान - 3 के चंद्रमा की सतह पर सफलतापूर्वक उतरने की सराहना की और कहा कि इसी के साथ भारत चंद्रमा के दक्षिणी ध्रुव पर अपना लैंडर उतारने वाला पहला देश बन गया है।

अमित शाह ने ट्वीट करते हुए कहा, "जब दुनिया चंद्रयान - 3 को अंतरिक्ष में भारत के युग की पटकथा लिखते हुए देख रही है, मैं इस मिशन को ऐतिहासिक रूप से सफल बनाने के लिए इसरो और हमारे वैज्ञानिकों के अथक प्रयासों के लिए उनका हृदय से आभार व्यक्त करता हूं। यह ऐतिहासिक उपलब्धि न केवल भारतीय प्रतिभा की शक्ति का प्रमाण है, बल्कि यह प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी की कल्पना के अनुसार अंतरिक्ष के क्षेत्र में एक वैश्विक नेता के रूप में उभरने के लिए अमृत काल के माध्यम से भारत की यात्रा का भी शुभारंभ है।"

ISRO की बेमिसाल उपलब्धि, सामूहिक संकल्प का नतीजा : कांग्रेस

कांग्रेस ने चंद्रयान-3 (Chandrayaan-3) की सफल 'लैंडिंग' को भारतीय अंतरिक्ष अनुसंधान संगठन (ISRO) की बेमिसाल उपलब्धि करार देते हुए बुधवार को कहा कि यह किसी एक व्यक्ति नहीं, बल्कि सामूहिक संकल्प का नतीजा है।


कांग्रेस अध्यक्ष मल्लिकार्जुन खरगे ने कहा कि चंद्रयान - 3 की सफलता प्रत्येक भारतीय की सामूहिक सफलता है। वहीं, पार्टी महासचिव जयराम रमेश ने एक बयान में कहा, "आज हम जो सफलता देख रहे हैं वो एक सामूहिक संकल्प, एक सामूहिक कामकाज है, एक सामूहिक टीम के प्रयास का नतीज़ा है। यह सिस्टम का नतीज़ा है, एक व्यक्ति का नहीं है।"

Chandrayaan - 3 : चांद पर तिरंगा देख पूरी दुनिया कायल, हिंदुस्तान को मिल रही बधाई - "भारत तेरी सदा जय हो!"

Chandrayaan - 3 on Moon : भारत ने इतिहास रच दिया है। भारतीय अंतरिक्ष अनुसंधान संगठन (ISRO) ने बुधवार को अंतरिक्ष क्षेत्र में एक नया अध्याय रचते हुए चंद्रमा के दक्षिणी ध्रुव पर लैंडर 'विक्रम' और रोवर 'प्रज्ञान' से लैस एलएम की साफ्ट लैंडिग कराने में सफलता हासिल की। इस सफलता के साथ सोशल मीडिया पर देश - विदेश के कई लोगों ने अपनी प्रतिक्रियाएं दी हैं। साथ ही साथ इसरो के सभी लोगों को शुभकामनाएं दी हैं।

देश के लोगों के लिए गर्व का क्षण : केंद्रीय मंत्री हरदीप पुरी

चंद्रयान - 3 के विक्रम लैंडर की चंद्रमा पर सफल लैंडिंग पर केंद्रीय मंत्री हरदीप पुरी ने कहा, "23 अगस्त 2023 भारत के इतिहास में सुनहरे अक्षरों में लिखा जाएगा। यह देश के सभी लोगों के लिए गर्व का क्षण है।"

 इसरो प्रमुख एस सोमनाथ ने अपनी टीम को दी बधाई

इसरो प्रमुख एस सोमनाथ ने चंद्रयान-3 मिशन की सफलता पर अपनी टीम को बधाई दी। चंद्रयान-3 मिशन के प्रोजेक्ट डायरेक्टर पी वीरमुथुवेल ने कहा कि, हम चंद्रमा के दक्षिणी ध्रुव पर जाने वाले पहले देश बन गए हैं।

 हमने सपने को हकीकत में बदलते देखा : केंद्रीय मंत्री जितेंद्र सिंह

चंद्रयान - 3 के लैंडर के चंद्रमा पर उतरने पर केंद्रीय मंत्री जितेंद्र सिंह ने कहा, "...जबकि दुनिया चंद्रमा के बारे में कल्पना करती है, हमने वास्तव में चंद्रमा को महसूस किया है।

दुनिया चंद्रमा के सपने देखती है, और हमने सपने को हकीकत में बदलते देखा है। आकाश की कोई सीमा नहीं है।"

 हम इस पल का लंबे समय से इंतजार कर रहे थे : के. सिवन

इसरो के पूर्व प्रमुख के सिवन ने इसरो को तीसरे चंद्रमा मिशन चंद्रयान - 3 की चंद्रमा पर सफल लैंडिंग पर बधाई दी। उन्होंने कहा, "हम वास्तव में उत्साहित हैं। हम इस पल का लंबे समय से इंतजार कर रहे थे। मैं बहुत खुश हूं।"

 इसरो के वैज्ञानिकों के कौशल, साहस और प्रतिभा के कारण मिली उपलब्धि : खट्टर

हरियाणा के सीएम मनोहर लाल खट्टर ने कहा - "अरे वाह, मजा आ गया! देखो चंद्रमा हमारे और करीब आ गया है। यह खुशी का क्षण है क्योंकि चंद्रमा पर तिरंगा फहराया गया है। चंद्रमा पर सफलतापूर्वक उतरने के बाद चंद्रयान - 3 चंद्रमा की सतह पर भारत की उपस्थिति को दर्शा रहा है। इस महान अवसर पर मैं इसरो और उसके वैज्ञानिकों के प्रति आभार व्यक्त करता हूं, क्योंकि उनके कौशल, साहस और प्रतिभा के कारण हमें यह उपलब्धि मिली है...''

    योगी आदित्यनाथ ने दी बधाई

चन्द्रयान - 3 की सफल लैंडिंग पर उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा कि ''चंद्रयान - 3 की सफल सॉफ्ट लैंडिंग नए भारत की क्षमताओं और शक्ति का सशक्त प्रदर्शन है।


प्रधानमंत्री के दूरदर्शी नेतृत्व और मार्गदर्शन में इसरो के वैज्ञानिकों ने जो किया, कोई नहीं कर सका। चंद्रमा का दक्षिणी ध्रुव अब तक दुनिया के लिए असंभव था, लेकिन हमारे दूरदर्शी वैज्ञानिकों ने इसे संभव बना दिया है। वसुधैव कुटुंबकम की पवित्र भावना के साथ, मैं इस सफलता के लिए इसरो के सभी वैज्ञानिकों को बधाई और देश को शुभकामनाएं देता हूं।"

 इसरो के मिशन कंट्रोल सेंटर में 'वंदे मातरम' के नारे लगे। चंद्रयान - 3 मिशन के विक्रम लैंडर के चंद्रमा की सतह पर उतरते ही बेंगलुरु में इसरो के मिशन कंट्रोल रूम में 'वंदे मातरम' का जोरदार नारे लगा और जश्न शुरू हो गया।

Chandrayaan-3 मिशन के साथ ही दो शब्द बार - बार सुने और पढ़े जाते रहे हैं - लैंडर और रोवर। चंद्रयान-3 के लैंडर (Chandrayaan-3 Lander) का नाम विक्रम रखा गया है और रोवर को प्रज्ञान नाम दिया गया है। बता दें कि चंद्रयान - 2 के लैंडर और रोवर का नाम भी यही था। इसमें इस बार कोई बदलाव नहीं किया गया है।

  "चंदामामा अब दूर के नहीं, टूर के हैं..." - PM नरेंद्र मोदी

भारत के महत्वाकांक्षी मिशन चंद्रयान 3 (Chandrayaan 3) का लैंडर विक्रम (vikram lander) सफलतापूर्वक चंद्रमा के दक्षिणी ध्रुव पर उतरा, और दक्षिण अफ्रीका में मौजूद प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने वर्चुअली उस लैंडिंग को देखते हुए कहा, "यह क्षण मुश्किलों के महासागर को पार करने का है, और यह क्षण 140 करोड़ धड़कनों के सामर्थ्य का है..."।

 यह क्षण विकसित भारत के शंखनाद का : पीएम मोदी

पीएम मोदी ने चंद्रयान - 3 मिशन की सफलता पर कहा कि, ये क्षण विकसित भारत के शंखनाद का है। यह क्षण नए भारत के जयघोष क है। यह क्षण मुश्किलों के महासागर को पार करने का है। यह क्षण जीत के चंद्रपथ पर चलने का है। यह क्षण 140 करोड़ धड़कनों के सामर्थ्य का है। यह क्षण भारत में नई ऊर्जा के विश्वास का है। यह क्षण भारत के उदीयमान भाग्य के आह्वान का है।

          ➖    ➖    ➖    ➖

देश दुनिया की खबरों के लिए गूगल पर जाएं

लाग इन करें : - tarkeshtimes.page

सभी जिला व तहसील स्तर पर संवाददाता चाहिए

मो. न. : - 9450557628

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

रमंति इति राम: , राम जीवन का मंत्र

अतीक का बेटा असद और शूटर गुलाम पुलिस इनकाउंटर में ढेर : दोनों पर था 5 - 5 लाख ईनाम

अतीक अहमद और असरफ की गोली मारकर हत्या : तीन गिरफ्तार