स्टुअर्ट ब्रॉड ने किया टेस्ट क्रिकेट अलविदा : आखिरी गेंद पर जड़ा छक्का

                (सोम पाण्डेय)

नई दिल्ली। इंग्लैंड के तेज गेंदबाज स्टुअर्ट ब्रॉड (Stuart Broad) ने एशेज सीरीज के बीच संन्यास का ऐलान कर दिया है। तीसरे दिन के खेल के बाद ब्रॉड ने बताया कि यह उनका आखिरी मैच होगा। इस बीच अनुभवी तेज गेंदबाज ब्रॉड ने केनिंग्टन ओवल में अपने अंतरराष्ट्रीय करियर की अंतिम गेंद पर शानदार छक्का लगाकर खेल का समापन किया।

ब्रॉड, पांचवें टेस्ट के तीसरे दिन अंतिम सेशन में बल्लेबाजी करने आए और अपने लंबे समय के गेंदबाजी साथी जेम्स एंडरसन के साथ नाबाद रहे। टॉप और मिडिल ऑर्डर के दमदार बल्लेबाजी प्रदर्शन के बाद दिन का खेल खत्म होने तक इंग्लैंड 377 रन की बढ़त के साथ मजबूत स्थिति में पहुंच गया है।

चौथे दिन दोनों ने 1.5 ओवर खेले और टीम के लिए छह रन जोड़े। ब्रॉड ने ये सभी रन मिचेल स्टार्क की शॉर्ट गेंद पर एक ही हिट से बनाए। अगले ओवर में स्पिनर टॉड मर्फी का सामना करते हुए एंडरसन आउट हो गए। आप नीचे दिए गए वीडियो में ब्रॉड की आखिरी अंतर्राष्ट्रीय डिलीवरी देख सकते हैं, जिसपर फैंस जमकर प्यार लुटा रहे हैं।

इंग्लैंड अपनी दूसरी पारी में 395 रन पर ऑलआउट हो गई और ऑस्ट्रेलिया के सामने 384 रन का विशाल लक्ष्य रखा है।ऑस्ट्रेलिया के पूर्व कप्तान रिकी पोंटिंग ने पिछले कुछ वर्षों में एशेज क्रिकेट में असाधारण प्रदर्शन के लिए स्टुअर्ट ब्रॉड की प्रशंसा की और उन्हें सर्वश्रेष्ठ एशेज योद्धा बताया। स्काई स्पोर्ट्स पर बातचीत में पोंटिंग ने कहा कि उन्होंने घर पर लगातार 25 एशेज टेस्ट खेले हैं, जो अपने आप में अविश्वसनीय है।'

स्टुअर्ट ब्रॉड जब रविवार को आखिरी बार विकेट के लिए उतरे तो उन्हें गार्ड ऑफ ऑनर दिया गया, 37 वर्षीय ब्रॉड अब तक 602 विकेट के साथ टेस्ट इतिहास में पांचवें सबसे सफल गेंदबाज हैं। उन्होंने कहा कि, 'मुझे पूरी जिंदगी एशेज से प्यार रहा है और अपनी आखिरी गेंद फेंकने और ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ अपनी आखिरी गेंद का सामना करने में सक्षम होने का विचार मुझे खुशी से भर देता है।'

उन्होंने आगे कहा, "मैं इसके बारे में कुछ समय, कुछ हफ्तों से सोच रहा था। इंग्लैंड बनाम ऑस्ट्रेलिया हमेशा मेरे लिए शिखर पर रहा है। मुझे ऑस्ट्रेलिया के साथ हुई लड़ाइयां पसंद हैं, जो मेरे और टीम के रास्ते में आईं, मेरा एशेज से प्रेम संबंध है और मुझे लगता है कि मैं चाहता था कि मेरी आखिरी बल्लेबाजी और गेंदबाजी एशेज में हो। मैंने स्टोक्सी को कल रात बताया और आज सुबह चेंजिंग रूम को बताया और ईमानदारी से कहूं तो, यह सही समय लगा और मैं नहीं चाहता था कि दोस्त या नॉटिंघमशायर टीम के साथी ऐसी चीजें देखें जो सामने आ सकती हैं। मैंने इसके बारे में बहुत सोचा है, और यहां तक कि कल रात आठ बजे तक, मैं 50/50 था। लेकिन जब मैं स्टोक्सी के कमरे में गया और उसे बताया, तो मुझे वास्तव में खुशी महसूस हुई, क्योंकि मैंने जो कुछ भी हासिल किया है उससे मैं संतुष्ट हूं।"

ब्रॉड ने 167 टेस्ट मैच, 121 वनडे इंटरनेशनल और 56 टी20 इंटरनेशनल मैच खेले हैं, जिसमें उन्होंने 845* विकेट लिए हैं। ब्रॉड ने ब्रॉड ने 20 साल की उम्र में अगस्त 2006 में पाकिस्तान के खिलाफ टी20 मैच में इंग्लैंड के लिए पहला मुकाबला खेला था। वहीं, 2007 में श्रीलंका के खिलाफ अपना पहला टेस्ट मैच खेला था। इसी साल टी20 विश्व कप में युवराज सिंह ने उनके ओवर में छह छक्के लगाए थे और ब्रॉड गलत वजह से चर्चा में आए थे। हालांकि, इसके बाद उन्होंने कई रिकॉर्ड अपने नाम किए। वह क्रिकेट के सबसे महान तेज गेंदबाजों में से एक के रूप में जाने जाएंगे, जो टेस्ट विकेट लेने वालों की सर्वकालिक सूची में पांचवें स्थान पर हैं। नॉटिंघमशायर का यह गेंदबाज अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट में अपने नाम कई सम्मान लेकर गया है, जिसमें 2010 टी20 विश्व कप और चार एशेज सीरीज जीत शामिल हैं।


टीम के साथी जेम्स एंडरसन के साथ, ब्रॉड अपने देश के लिए 600 टेस्ट विकेट लेने वाले केवल दो तेज गेंदबाजों में से एक हैं और उन्होंने इस सप्ताह ओवल में अपने अंतिम मैच में अपना 150 वां एशेज विकेट लिया।


41 साल के एंडरसन संन्यास के मूड में नहीं

37 साल के ब्रॉड ने भले ही संन्यास का एलान कर दिया हो, लेकिन इंग्लैंड के अनुभवी तेज गेंदबाज जेम्स एंडरसन फिलहाल इस बारे में नहीं सोच रहे हैं। उन्होंने कहा कि वह पांचवें एशेज टेस्ट के बाद क्रिकेट को अलविदा नहीं कहना चाहते, क्योंकि अभी वह अपनी टीम को बहुत कुछ दे सकते हैं। इंग्लैंड के लिए सर्वाधिक विकेट ले चुके एंडरसन रविवार को 41 वर्ष के हो जाएंगे। उन्होंने इस एशेज सीरीज में पांच ही विकेट लिए हैं लेकिन उनका मानना है कि उन्होंने खराब गेंदबाजी नहीं की। उन्होंने कहा, मुझे नहीं लगता कि मैंने खराब गेंदबाजी की या मेरी रफ्तार कम हुई है। मुझे लगता है कि अभी भी इस टीम को बहुत कुछ दे सकता हूं। जहां तक संन्यास का सवाल है तो मैं जल्दी ही नहीं लेने वाला। अभी मैं बहुत कुछ दे सकता हूं। आप प्रार्थना करते हैं कि खराब दौर बड़ी सीरीज में नहीं आए लेकिन मेरे साथ ऐसा हो रहा है । वैसे मेरे पास टीम के लिए कुछ करने का एक और मौका है। एशेज सीरीज के बाद इंग्लैंड को अब जनवरी में भारत में खेलना है और एंडरसन को उम्मीद है कि वह तब तक खेलेंगे।

      ➖    ➖    ➖    ➖    ➖

देश दुनिया की खबरों के लिए गूगल पर जाएं

लाग इन करें : - tarkeshwartimes.page

सभी जिला व तहसील स्तर पर संवाददाता चाहिए

मो. न. : - 9450557628

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

रमंति इति राम: , राम जीवन का मंत्र

अतीक का बेटा असद और शूटर गुलाम पुलिस इनकाउंटर में ढेर : दोनों पर था 5 - 5 लाख ईनाम

अतीक अहमद और असरफ की गोली मारकर हत्या : तीन गिरफ्तार