गांव के ही चोर ने की थी महिला की हत्या, पुलिस ने किया गिरफ्तार, माल बरामद

                (विशाल मोदी)

बस्ती (उ.प्र.)। जिले के कलवारी थाना क्षेत्र के रामपुर में हाल ही में हुई हत्या का पुलिस ने खुलासा कर दिया है। इस हत्या को अंजाम दिया था घर में चोरी करने घुसे एक चोर ने, जो उसी गांव का रहने वाला है। वह चोरी के अपने मकसद में कामयाब भी हो गया था। लेकिन भाग निकलने के पहले ही वह महिला जग गई और उसे देख लिया, जो उसकी मौत का कारण बन गया। पुलिस ने इस हत्यारे चोर को गिरफ्तार कर लिया है और चोरी के माल भी बरामद कर लिया है।

घटना 27 मई की है। महिला बासमती घर में मृत पड़ी थी। पोस्टमार्टम में हत्या किये जाने की बात सामने आने पर पुलिस हरकत में आई और मृतका की बेटी की तहरीर पर मुअसं. - 136 / 2023 पर आईपीसी की धारा 302, 380, 457, 404, 411 के अन्तर्गत मुकदमा पंजीकृत हुआ। मामले में पुलिस रामपुर गांव के ही निवासी करीब 45 वर्षीय बबलू पुत्र राम निहोर उर्फ निहोरे को 31 मई को करीब चार बजे सायं पुलिस ने फुटहिया ओवर ब्रिज से गिरफ्तार किया है। इस घटना में महिला को गला दबाकर मारा गया जा। इस हत्यारे चोर के पास से एक सफेद धातु चैन, एक सफेद अंगूठी और 1600 रुपये (रु.एक हजार छ: सौ), की भी बरामदगी की गई है, जो उसने घटना के वक्त चुराए थे।
       (हत्यारे चोर के पास से बरामद माल)

 पूछताछ में अभियुक्त बबलू ने बताया कि उसकी पत्नी का देहांत हो चुका है।उसके एक लड़की है। वह चार भाई है। उसका एक भाई दिल्ली रहता है, जो बबलू का सारा खर्च देखता है, जिसके कारण।दूसरा भाई इसका सारा खर्च देखता है। इसी को उसने अपनी सारी जायदाद दे रखी है। जिसके कारण उसके एक और भाई की पत्नी खफा रहती है,जिसके कारण विवाद उत्पन्न हो गया था। गिरफ्तार बबलू ने बताया कि मेरे पास पैसा नहीं था और मुझे यह पता था कि गांव में बासमती पत्नी राम दुलारे अपने घर में अकेले रहती है। उसके लड़के और लड़कियां बाहर रहते हैं। जिस कारण बासमती के घर में चोरी करने के नियत से उसके घर की बाउंड्री वाल को फांद कर आंगन में लगे आम के पेड़ के सहारे रामरूप के छत पर चढ़ गया था और वहां से बासमती के घर के ऊपर वाले कमरे में रखे 2000 रुपये चोरी करके वापस नीचे आ रहा था कि तब तक बासमती दरवाजा खोलकर घर के अंदर आ गयी और किचन में लगे बल्ब की रोशनी में मुझे देख लिया और शोर मचाना चाही तो मैंने अपने को बचाने के लिए उसका गला दबाकर दीवाल में लड़ाते हुए धकेल दिया और पास में रखे सिलबट्टे के लोढ़े को उसके सर पर मार दिया। जब उसे लगा कि वह मर गयी है, लगा कि वह मर गयी है तो उसके पहने हुए गले की चैन व हाथ की अंगूठी निकाल कर वहां से भाग गया। तभी से इधर - उधर फरार था। चोरी के रुपयों में से 400 खर्च करने के बाद बचे 1600 रु. पुलिस ने बरामद कर लिया है। उसके पास से चोरी का चेन और अंगूठी भी पुलिस ने बरामद कर लिया है।

क्षेत्राधिकारी विनय चौहान के नेतृत्व में गिरफ्तार करने वाली पुलिस टीम में थानाध्यक्ष कलवारी आलोक कुमार श्रीवास्तव, एसओजी प्रभारी गजेंद्र सिंह प्रभारी, सर्विलांस सेल प्रभारी उप निरीक्षक शशिकान्त, गायघाट चौकी प्रभारी उप निरीक्षक द्वारिका प्रसाद चौधरी, हेका. अनन्त यादव, करमचंद, का. अभिषेक सिंह, साजिद जमाल, गजेंद्र प्रताप सिंह एसओजी टीम, सर्विलांस सेल के हेका. जनार्दन, सतेन्द्र सिंह कलवारी थाने के का. अरुण यादव, आशुतोष द्विवेदी एवं अवधराज यादव शामिल रहे।

     ➖   ➖   ➖   ➖   ➖

देश दुनिया की खबरों के लिए गूगल पर जाएं

लॉग इन करें : - tarkeshwartimes.page

सभी जिला व तहसील स्तर पर संवाददाता चाहिए

मो. न. : - 9450557628

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

रमंति इति राम: , राम जीवन का मंत्र

अतीक का बेटा असद और शूटर गुलाम पुलिस इनकाउंटर में ढेर : दोनों पर था 5 - 5 लाख ईनाम

अतीक अहमद और असरफ की गोली मारकर हत्या : तीन गिरफ्तार