चित्रकूट की डिप्टी जेलर चन्द्रकला गिरफ्तार : अब्बास - निखत भेंट मुलाकात मामला

                           (विशाल मोदी) 

चित्रकूट। चित्रकूट जेल के डिप्टी जेलर चंद्रकला को गिरफ्तार कर एंटी करप्शन कोर्ट लखनऊ भेज दिया गया है। चित्रकूट जेल में माफिया मुख्तार अंसारी के बेटे अब्बास अंसारी को उसकी पत्नी निखत को मिलाने में डिप्टी जेलर की भूमिका संदिग्ध थी। एसपी वृंदा शुक्ला ने बताया कि न्यायिक हिरासत में डिप्टी जेलर को 14 दिन के लिए लखनऊ जेल भेजा गया है। यह कार्यवाही अट्ठाइस फरवरी मंगलवार की की गई है। 

जेल में अब्बास अंसारी से उसकी पत्नी निखत को मिलाने में सहयोग देने वाले सपा नेता फराज खान और कैंटीन ठेकेदार नवीन सचान को पुलिस पहले ही जेल भेज चुकी है। मामले में पुलिस की 18 टीमें प्रदेश में अलग-अलग जगहों पर छापेमारी कर रही हैं। वहीं मामले में लगभग 20 से ज्यादा लोगों को हिरासत में लेकर पूछताछ की जा रही है।
                    (वृंदा शुक्ला एसपी चित्रकूट) 

चित्रकूट जेल कांड में एसटीएफ, एसओजी, यूपी पुलिस, एसआईटी टीम सबूत खंगालने में जुटी है। इसमें दो कैफे संचालक को पूछताछ के लिए पकड़ा गया है। इन्हें सर्विलांस व एसआईटी अपने साथ ले जाकर कंप्यूटर से जानकारी एकत्र करने में जुटी है। इसके अलावा एक बैंक के अधिकारी भी इस मामले में मददगार के रूप में निशाने पर हैं। गिरफ्तार की गई डिप्टी जेलर चन्द्रकला चित्रकूट जेल में सितंबर 2022 से तैनात थीं। लखनऊ के आशियाना थाना की एलडीए कॉलोनी निवासी चंद्रकला का नाम पुलिस विवेचना में सामने आया है।

                पूरे मामले पर एक नज़र

गौरतलब है कि चित्रकूट जेल में डीएम अभिषेक आनंद और एसपी वृंदा शुक्ला ने छापा मारकर निखत अंसारी को अपने पति अब्बास अंसारी से चोरी-छुपे मिलते पकड़ा था।अब्बास इस दौरान विदेशी करेंसी और मोबाइल भी बरामद किया था। साथ ही चालक समेत वाहन को भी कब्जे में लिया गया था। इस पर जेल अधीक्षक और दो जेलर समेत पांच वार्डन को निलंबित किया गया था।

निखत और उसका ड्राइवर नियाज पर विभिन्न धाराओं में मामला दर्ज कर कोर्ट में पेश किया गया था। निखत को 16 फरवरी को लखनऊ की अदालत में पेश कर घटना से जुड़े तथ्यों को संकलित करने के लिए पुलिस ने रिमांड मांगा था। कोर्ट ने पुलिस को तीन दिन की पुलिस रिमांड दी थी। जिसके बाद निखत और नियाज से पुलिस लाइन में कड़ी सुरक्षा के बीच पूछताछ शुरू हुई थी। इसके बाद दोनों को दोबारा चित्रकूट जेल में भेज दिया गया था।

       ➖    ➖    ➖    ➖    ➖

देश दुनिया की खबरों के लिए गूगल पर जाएं

लॉग इन करें : - tarkeshwartimes.page

सभी जिला व तहसील स्तर पर संवाददाता चाहिए

मो. न. : - 9450557628

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

रमंति इति राम: , राम जीवन का मंत्र

स्वतंत्रता आंदोलन में गिरफ्तार होने वाली राजस्थान की पहली महिला अंजना देवी चौधरी : आजादी का अमृत महोत्सव

सो कुल धन्य उमा सुनु जगत पूज्य सुपुनीत