सनातन धर्म अपनाने का कोई अफसोस नहीं : बोले वसीम रिजवी उर्फ जीतेन्द्र नारायण

                        (बृजवासी शुक्ल) 

हरिद्वार। वसीम रिजवी उर्फ जितेंद्र त्यागी ने कहा कि सच्चा सनातनी उन पापों का भी पश्चाताप कर लेता है, जो उसने किए नहीं। उन्होंने कहा कि वह दोबारा जेल जा रहे है, जबकि उन्होंने कोई पाप नहीं किया है। कहा कि हिन्दुस्तान हिन्दुओं की भूमि है। कहा कि चार महीने जेल में देखा कि बड़े-बड़े अपराधी छूटकर चले गए। हेट स्पीच मामले में जेल जाने से पहले यह बात उन्होंने कही।

कोर्ट में सरेंडर करने से पहले वसीम रिजवी उर्फ जितेंद्र नारायण त्यागी अखाड़ा परिषद के अध्यक्ष श्रीमहंत रविंद्र पूरी से मिलने पहुंचे अखाड़ा पहुंचे। शांभवी पीठाधीश्वर व काली सेना प्रमुख आनंद स्वरूप भी मौजूद रहे। जितेंद्र नारायण त्यागी ने अपनी बात को दोहराते हुए कहा कि उन्हें ज्वालापुर के लोगों ने जेल के अंदर मारने की साजिश बनाई थी, लेकिन वह जेल प्रशासन के सख्त होने के कारण साजिश को अंजाम नहीं दे पाए। वहीं धर्म वापसी पर बोलते हुए उन्होंने कहा कि जब से मैंने सनातन धर्म को अपनाया है इस लड़ाई में अकेला हो गया हूं। लेकिन इसका मुझे कोई अफसोस नहीं है। मैंने काफी सोच समझ के इस धर्म को अपनाया है। कहा कि आपस में कोई मतभेद नहीं होना चाहिए। कहा कि मतभेद के कारण ही हिन्दुस्तान एक हजार साल गुलामी के कारण जकड़ा रहा है।

          ➖    ➖    ➖    ➖    ➖

देश दुनिया की खबरों के लिए गूगल पर जाएं

लॉग इन करें : - tarkeshwartimes.page

सभी जिला व तहसील स्तर पर संवाददाता चाहिए

मो. न. : - 9450557628

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

रमंति इति राम: , राम जीवन का मंत्र

स्वतंत्रता आंदोलन में गिरफ्तार होने वाली राजस्थान की पहली महिला अंजना देवी चौधरी : आजादी का अमृत महोत्सव

सो कुल धन्य उमा सुनु जगत पूज्य सुपुनीत