अभा उद्योग व्यापार मण्डल ने मनाया व्यापारी दिवस : विभूतियां सम्मानित

                         (घनश्याम मौर्य) 

बस्ती (उ.प्र.)। संगठित समाज अपने हित में जो चाहे वो परिवर्तन करा सकता है। हमारी संगठित शक्ति शासन को 3 सितम्बर व्यापारी दिवस घोषित करने को बाध्य करेगी। ये बातें अखिल भारतीय उद्योग व्यापार मण्डल के जिलाध्यक्ष सुबाष चन्द्र शुक्ल ने तीन सितम्बर को आयोजित व्यापारी दिवस के अवसर पर विषय प्रवर्तन करते हुए कहीं। उन्होंने संगठन के महत्व और सांगठनिक ढांचे की रुपरेखा पर विस्तार से प्रकाश डाला। प्रान्तीय उपाध्यक्ष अमरमणि पाण्डेय के नेतृत्व में व्यापारियों ने तीन सितम्बर को व्यापारी दिवस घोषित कराने के लिए हुंकार भरी।

जिलाध्यक्ष श्री शुक्ल ने व्यापारी समाज से आग्रह किया कि हम आपस में खरीदारी कर ऑनलाइन कारोबार को रोके। नहीं तो खुदरा व्यवसाय चौपट हो जाएगा।जिला उपाध्यक्ष प्रभूप्रीत सिंह ने कहा कि ऑनलाइन व्यवसाय को रोकना है तो रीटेल व्यवसाय में मुनाफा घटाना होगा। उन्होंने कहा कि केवल व्यापार के हित में ही नहीं अपितु राष्ट्रहित में भी आनलाइन व्यापार को पटखनी देना ही होगा। आनलाइन खरीदारी व्यापारी ही नहीं आम जनता के भी हित में ठीक नहीं है। सुबाष चन्द्र शुक्ल ने व्यापारियों के सर्वोच्च हित और तीन सितम्बर को व्यापारी दिवस घोषित कराने के लिए परिणाम केन्द्रित अभियान चलाने की बात कही।
 अखिल भारतीय उद्योग व्यापार मण्डल बस्ती ने स्थानीय डीपीएस स्कूल पचपेड़िया के हाल में व्यापारी दिवस तथा वरिष्ठ व्यापारी व सामाजिक क्षेत्र में विशिष्ट योगदान करने वाली विभूतियों को सम्मानित कर अपना भी मान बढ़ाया। कार्यक्रम में प्रांतीय उपाध्यक्ष अमरमणि पांडेय व मंडल प्रभारी राधेश्याम कमलापुरी बतौर मुख्य अतिथि उपस्थित रहे। अध्यक्षता संरक्षक प्रमोद गाड़िया ने की। इससे पहले मुख्य अतिथि गण के साथ प्रमोद गाडिया, राजाराम तिवारी, सुभाष शुक्ला, राजीव पांडेय ने दीप प्रज्जवलित व संगठन गीत गाकर कार्यक्रम का शुभारंभ किया। कार्यक्रम में जिला वरिष्ठ महामंत्री राम विनय पांडेय ने उपस्थित अतिथियों एवं व्यापारियों का परिचय कराकर स्वागत किया।
मण्डल प्रभारी राधेश्याम कमलापुरी ने कहा कि व्यापारियों को संगठित हो अपने हक की लड़ाई लड़नी चाहिए। हमारा प्रदेश नेतृत्व किसी भी समस्या का समाधान करने को सक्षम है। श्री कमलापुरी ने कहा कि व्यापारियों के लिए कोई दिवस घोषित नहीं है। इसलिए तीन सितम्बर व्यापारी दिवस घोषित कराना व्यापारियों के सम्मान से जुड़ा विषय है।
प्रांतीय उपाध्यक्ष अमरमणि पांडेय ने भारत सरकार से मांग किया कि तीन सितम्बर को व्यापारी दिवस घोषित कर व्यापारियों का सम्मान बढ़ाएं। श्री पाण्डेय ने कहा कि व्यापारियों का सम्मान सर्वोच्च प्राथमिकता का विषय है। व्यापारी हमारे समाज और राष्ट्र हित की सबसे महत्वपूर्ण कड़ी है। सुनील श्रीवास्तव को जिला संगठन मंत्री व सदस्यता प्रभारी, भजन गायक अविनाश श्रीवास्तव तथा राजेश शर्मा को नगर महामंत्री तथा प्रेम चंद सोनी बभनान व प्रवीण कुमार चौधरी को जिला उपाध्यक्ष घोषित किया गया।
सम्मानित होने वालों में राजन गुप्ता, राजीव पांडेय, अभिषेक गुप्ता, प्रभु प्रीत सिंह, राजाराम तिवारी, राधे श्याम अग्रहरि, विनोद कुमार गुप्ता ,भागवत गुप्ता, सुरेश गुप्ता, राजनाथ श्रीवास्तव, पंकज विश्वकर्मा, वेद प्रकाश मिश्र, शिवदीन गुप्ता, शिव सहाय गुप्ता, कल्लू बाबा, रामकुमार साहू, उमेश दुबे, अयोध्या कसौधन, राम कमल सिंह, जितेन्द्र नाथ मिश्र, धर्मेंद्र त्रिपाठी, पंकज त्रिपाठी, जयेश सिंह मुन्ना, अनुज सिंह, आनंद मनी,  कविश अबरोल, अमीर चंद्र गुप्ता, सुनील कसौधन, राहुल श्रीवास्तव, राजेश शर्मा, रमेश सिंह, अनमोल, सत्यपाल , बीएम शुक्ल, महेंद्र पांडेय, राजेश चित्रगुप्त, सुनील सिंह, हरिओम प्रकाश एवं डॉ. शैलेन्द्र आदि प्रमुख हैं।
कार्यक्रम में लालजी शुक्ल, नरेंद्र त्रिपाठी, रमेश चौहान, सरबजीत सिंह, रजनीश सोनी, पंकज शुक्ल, उमा शंकर, राम बिलास शर्मा, वीरेंद्र, अरविंद दुबे, आदित्य गोस्वामी, गिरधारी साहू, सुनील गिरि, आदि लोग उपस्थित रहे।

        ➖    ➖    ➖    ➖    ➖

देश दुनिया की खबरों के लिए गूगल पर जाएं

लॉग इन करें : - tarkeshwartimes.page

सभी जिला व तहसील स्तर पर संवाददाता चाहिए

मो. न. : - 9450557628

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

बस्ती : दवा व्यवसाई की पत्नी का अपहरण

अयोध्या : नहाते समय पत्नी को किस करने पर पति की पिटाई

बस्ती : पत्नी और प्रेमी ने बेटी के सामने पिता को काटकर मार डाला, बोरे में भरकर छिपाई लाश