गोरखपुर : 111 गांवों से गुजरेगी नई रेल लाइन, 12 स्टेशन और 11 पुल बनेंगे

                           (विशाल मोदी) 

गोरखपुर (उ.प्र.)। सहजनवां से दोहरीघाट के बीच नई रेल लाइन के बिछाने की प्रक्रिया तेज हो चुकी है। खबर के अनुसार इस नई रेल लाइन को बिछाने वाली कार्यदाई संस्था के द्वारा लिए चिन्हित भूमि का लिडार सर्वे यानी (लाइट डिटेक्शन एंड रैंगिंग) पूरा कर लिया गया है। इस नए रूट पर 11 बड़े पुल, 47 छोटे पुल और 12 स्टेशन बनाए जाएंगे। बता दें कि इस परियोजना पर 1320 करोड़ रुपए खर्च होंगे। रेलवे बोर्ड ने कार्य तेजी से करने के लिए 120 करोड़ रुपए का बजट जारी कर दिया है।

लिडार सर्वे के बाद सहजनवा - दोहरीघाट मार्ग पर नई रेल लाइन बिछाने के लिए मिट्टी, गिट्टी और अन्य चीजों के लिए सटीक जानकारी मिली है। इसके साथ ही यह भी पता चला है कि रास्ते में कितने कर्व आएंगे। इस लीडर सर्वे के बाद डिजाइनिंग का काम शुरू हो चुका है। जमीन अधिग्रहण की प्रक्रिया भी पिछले 2 महीनों से चल रही है इन दोनों कामों के पूरा होने के बाद लाइन बिछाने का काम शुरू हो जाएगा। बता दें कि इसके लिए 535 हेक्टेयर जमीन का अधिग्रहण होना है। इसमें पुल बनाने की योजना भी तैयार हुई है। घाघरा और आमी नदी पर बड़े पुल बनाए जाएंगे। इसमें से एक पुल घाघरा नदी के ऊपर बनेगा जो दोहरीघाट और बड़हलगंज के बीच होगा। यह पुल सबसे अधिक महत्वपूर्ण है। बाकी के 10 अन्य बड़े पुल आमी और छोटे - छोटे तलाबों, पोखरो पर बनेंगे। दो रेल ओवरब्रिज भी रेल लाइन पर बनेंगे। बता दें कि इस लाइन पर 12 स्टेशन होंगे, जिसमें से चार हाल्ट स्टेशन होंगे और 7 क्रॉसिंग स्टेशन भी बनेंगे।

                 वैकल्पिक मार्ग

गोरखपुर के दक्षिणांचल और पूर्वांचल के रेल यात्रियों के लिए इस नए रेल लाइन के बिछने से एक वैकल्पिक मार्ग मिल जाएगा। यही नहीं गोरखपुर से वाराणसी की दूरी भी कम हो जाएगी। वाराणसी, प्रयागराज और लखनऊ के लिए भी गोरखपुर से दोहरीघाट होते हुए ट्रेनों का संचालन होने लगेगा। बता दें कि यह रेल लाइन सहजनवा में बाराबंकी- गोरखपुर- छपरा मेन लाइन में मिलेगी और दोहरीघाट से इंदारा होते हुए मऊ और वाराणसी रेल मार्ग से भी जुड़ेगी।

यह रेलवे लाइन गोरखपुर और मऊ जिले के 111 गांव से होकर सहजनवा - दोहरीघाट नई रेल लाइन गुजरेगी। गोरखपुर की 104 गांव की भूमि अधिग्रण प्रक्रिया शुरू हो गई है, लाइन बिछाने के लिए 359 एकड़ भूमि का अधिग्रहण होना है। जिला प्रशासन को पूर्वोत्तर रेलवे ने चिन्हित भूमिका अभिलेख सौंपा है भूमि की स्क्रुटनी की प्रक्रिया शुरू हो गई है। पूर्वोत्तर रेलवे के मुख्य जनसम्पर्क अधिकारी ने कहा कि सहजनवा - दोहरीघाट नई रेल लाइन परियोजना के अंतर्गत लीडर सर्वे का कार्य पूरा कर लिया गया है। आवश्यक एलाइनमेंट प्लान, यार्ड प्लान, ब्रिज प्लान तथा क्वांटिटी गणना का कार्य चल रहा है, भूमि अधिग्रहण की प्रक्रिया चल रही है।

         ➖    ➖    ➖    ➖    ➖

देश दुनिया की खबरों के लिए गूगल पर जाएं

लॉग इन करें : - tarkeshwartimes.page

सभी जिला व तहसील स्तर पर संवाददाता चाहिए

मो. न. : - 9450557628

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

बस्ती : दवा व्यवसाई की पत्नी का अपहरण

अयोध्या : नहाते समय पत्नी को किस करने पर पति की पिटाई

बस्ती : पत्नी और प्रेमी ने बेटी के सामने पिता को काटकर मार डाला, बोरे में भरकर छिपाई लाश