पीडब्ल्यूएस परिवार की 1 ईंट 1 रुपये के शिक्षालय की अद्वितीय ऐतिहासिक राष्ट्रीय शैक्षिक महाक्रांति का महाअभियान

=  प्रत्येक दानदाता पंजीकृत सम्मानित सदस्य

=  निर्धन बेसहारा बच्चों को पूर्णतया निःशुल्क गुणवत्तापूर्ण शिक्षा

=  अयोध्या दर्शनार्थियों के निःशुल्क ठहराव व भोजन प्रसाद की व्यवस्था

                         (अनूप पाण्डेय) 

 हर्रैया (बस्ती)। एनजीओ परमेंदु वेलफेयर सोसाइटी (पीडब्ल्यूएस परिवार) द्वारा मात्र 1 ईंट 1 रुपये के जन सहयोग से अयोध्या विकास प्राधिकरण क्षेत्र के गोरसरा शुक्ल (बस्ती) में निर्माणाधीन पीडब्ल्यूएस शिक्षालय परमेंदु शिक्षा सदन, परम शक्ति धाम अब केवल तीर्थराज प्रयागराज व अयोध्या ही नही बल्कि उत्तर प्रदेश सहित भारत वर्ष के 19 राज्यों के राष्ट्रभक्त हिंदुस्तानी नागरिकों को स्वयं से जोड़ने के साथ देश-विदेश में चर्चा-परिचर्चा का विषय बन गया है।

     1 ईंट 1 रुपये की शिक्षालय योजना

     पीडब्ल्यूएस प्रमुख आर के पाण्डेय एडवोकेट (हाई कोर्ट इलाहाबाद) के अनुसार 75 वर्ष के स्वतंत्रता के बाद भी भारत वर्ष में अशिक्षा एक बड़ी समस्या है व जिसे हल करने में अभी तक की सभी राज्य व केंद्र सरकारें तथा संस्थाएं असफल रही हैं वहीं दूसरी तरफ आसमान छूती मंहगी शिक्षा व्यवस्था व्यवसाय बनती जा रही है जिससे समाज का एक बड़ा तबका गुणवत्तापूर्ण शिक्षा से वंचित है इसीलिए पीडब्ल्यूएस परिवार ने मात्र 1 ईंट 1 रुपये के जन सहयोग से शिक्षालय निर्माण व गुणवत्तापूर्ण शिक्षा व्यवस्था से सामाजिक व राष्ट्रीय वैचारिक महाक्रांति का महाअभियान चलाया है।

  पीडब्ल्यूएस परिवार का मानना है कि आजकल आलीशान बिल्डिंग व मंहगी शिक्षा व्यवस्था तथा देश में शिक्षा के अनेक पैटर्न व अनगिनत बोर्ड समाज में असमानता को बढ़ावा देने के साथ निर्धन बेसहारा बच्चों को गुणवत्तापूर्ण शिक्षा से वंचित कर रहे हैं इसीलिए इसीलिए पीडब्ल्यूएस परिवार ने मात्र 1 ईंट 1 रुपये के जन सहयोग से शिक्षालय निर्माण की मुहिम चलाई है जिससे देश का प्रत्येक व अधिकतम राष्ट्रभक्त नागरिक इस महाअभियान का हिस्सा बन सकें तथा पूर्णतया लोकतांत्रिक, पारदर्शी, निष्पक्ष व्यवस्था के साथ स्थापित हो रहे पीडब्ल्यूएस शिक्षालय को प्रत्येक नागरिक गर्व से अपना शिक्षालय मानकर राष्ट्र निर्माण में अपना योगदान दे सके।
  पीडब्ल्यूएस प्रमुख आर के पाण्डेय एडवोकेट ने बताया कि बचपन में उन्होंने प्रतिदिन लगभग 18 किमी पैदल यात्रा करके मुश्किल हालात में इंटर की शिक्षा प्राप्त की व उसी समय उन्होंने संकल्प लिया था कि यदि उचित अवसर मिला तो वह एक ऐसी शिक्षा व्यवस्था स्थापित करेंगे जिससे समाज के प्रत्येक बच्चे को बेहतर शिक्षा के साथ समाज के सभी निर्धन बेसहारा बच्चों को पूर्णतया निःशुल्क गुणवत्तापूर्ण शिक्षा उपलब्ध कराकर उन्हें राष्ट्र निर्माण की मजबूत कड़ी बनाया जा सके।

1 ईंट 1 रुपये का शिक्षालय गोरसरा शुक्ल (बस्ती) अयोध्या विकास प्राधिकरण क्षेत्र ही क्यों ? 

एनजीओ पीडब्ल्यूएस के अनुसार उसके अभी तक के सभी सेवा कार्य का केंद्र बिंदु तीर्थराज प्रयागराज रहा है लेकिन अब 1 ईंट 1 रुपए से शिक्षालय निर्माण गोरसरा शुक्ल में कराने का उद्देश्य यह है कि जो अयोध्या कभी श्रीराम जन्मभूमि व बाबरी मस्जिद विवाद के लिए दुनिया में जाती रही है वह अयोध्या अब श्रीराम जन्मभूमि मन्दिर के साथ शिक्षा के मंदिर के रूप में भी विश्व विख्यात हो।

        क्यों अद्वितीय है यह योजना ?

 पीडब्ल्यूएस परिवार के अनुसार उसकी 1 ईंट 1 रुपये के जन सहयोग से शिक्षालय निर्माण व संचालन की योजना अद्वितीय ऐतिहासिक राष्ट्रीय शैक्षिक महाक्रांति है क्योंकि भारत वर्ष में पहली बार किसी संस्था द्वारा मात्र 1 ईंट 1 रुपये से शिक्षा क्रांति की कार्य योजना चलाई जा रही है जिसमें प्रत्येक दानदाता इसका रजिस्टर्ड सम्मानित सदस्य है व इसमें आम जनमानस के बच्चों को बेहतर शिक्षा के साथ समाज के सभी निर्धन बेसहारा बच्चों को पूर्णतया निःशुल्क गुणवत्तापूर्ण शिक्षा उपलब्ध कराते हुए अपने राष्ट्र भारत वर्ष को शिक्षित, विकसित, आत्मनिर्भर विश्वगुरु राष्ट्र भारत वर्ष बनाने में योगदान देने के साथ अयोध्या दर्शानार्थियों को निःशुल्क ठहराव व भोजन प्रसाद की व्यवस्था भी सम्मिलित है।

       ➖    ➖    ➖    ➖    ➖

देश दुनिया की खबरों के लिए गूगल पर जाएं

लॉग इन करें : - tarkeshwartimes.page

सभी जिला व तहसील स्तर पर संवाददाता चाहिए

मो. न. : - 9450557628

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

बस्ती : दवा व्यवसाई की पत्नी का अपहरण

अयोध्या : नहाते समय पत्नी को किस करने पर पति की पिटाई

बस्ती : पत्नी और प्रेमी ने बेटी के सामने पिता को काटकर मार डाला, बोरे में भरकर छिपाई लाश