वक्त पर नहीं मिली एम्बुलेंस तो काल के गाल में समा गये जच्चा बच्चा


                           (अनूप पाण्डेय) 
अयोध्या। अयोध्या में सोहावल तहसील क्षेत्र के उप सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र हाजीपुर बरसेंडी में समय पर एम्बुलेंस न मिलने के कारण जच्चा बच्चा दोनों की मौत हो गई है। आज शनिवार सुबह छह बजे प्रसव पीड़ा होने पर मन्नन अपनी पत्नी अनीता 37 को लेकर उपकेंद्र पहुंचा था। जहां पत्नी ने जुड़वा बच्चे को जन्म दिया। प्रसव के कुछ देर बाद ही एक बच्चे की मौत हो गई। इसके बाद प्रसूता की तबीयत बिगड़ने लगी। उपकेंद्र पर व्यवस्था न होने के कारण दो घंटे बाद प्रसूता की भी मौत हो गई।

सोहावल तहसील के हाजीपुर बरसेंडी के मजरे अवधेश नगर के मुन्ना का पुरवा निवासी मन्नन की 37 वर्षीय पत्नी अनीता को शनिवार सुबह प्रसव पीड़ा शुरू हुई। मन्नन गांव की आशा बहु राधिका के साथ अनीता को पैदल ले जाकर गांव के उप स्वास्थ्य केंद्र में भर्ती कराया। जहां एएनएम विनीता गुप्ता ने प्रसव कराया। छह बजकर पांच मिनट पर अनीता ने पहले बच्चे को जन्म दिया। छह बजकर 30 मिनट पर अनीता ने दूसरे बच्चे को जन्म दिया। एएनएम विनीता गुप्ता ने बताया कि दूसरा बच्चा मृत पैदा हुआ। गौरतलब है कि अनीता की यह छठवीं डिलीवरी थी। इससे पहले वह पांच बच्चों को जन्म दे चुकी है। सभी बच्चे स्वस्थ है।

पति मन्नन ने बताया कि दो बच्चों के जन्म देने के करीब एक घंटे बाद पत्नी अनीता की हालत बिगड़ने लगी। इसके बाद एएनएम ने दवा किया। हालत अधिक बिगड़ने पर एएनएम ने जिला अस्पताल में रेफर किया। एएनएम ने एंबुलेंस को फोन किया। इस दौरान पत्नी की हालत और बिगड़ती गई। पति ने बताया कि एंबुलेंस तो नहीं आया लेकिन पत्नी दो घंटे तक पीड़ा से तड़पती रही, उसके बाद उसकी मौत हो गई।

एएनएम विनीता गुप्ता ने खुद को निर्दोष बताते हुए कहा कि अनीता की हालत बिगड़ता देख 102 एम्बुलेंस को काल कर एंबुलेंस बुलाया था। जब वह नहीं पहुंची तो दोबारा कॉल किया। 102 एम्बुलेंस हेल्पलाइन पर बताया कि गया कि यह इमरजेंसी कॉल 108 एम्बुलेंस को ट्रांसफर कर दी गई है। एक घंटे बाद 108 एंबुलेंस संचालक का एएनएम के पास फोन आया और लोकेशन मांगी गई। जब उसने लोकेशन बताई तो फिर फोन आया लोकेशन डिजिटल रूट चार्ट पर शो नहीं कर रही है। इसी बीच उपकेंद्र में प्रसूता की मौत हो गई।

सीएचसी प्रभारी प्रदीप कुमार ने बताया कि एएनएम ने घटना की जानकारी दी है। एएनएम ने बताया कि एम्बुलेंस यदि समय पर मिलती तो महिला की जिंदगी बच सकती थी। इसे गंभीरता से लिया गया है और सीएमओ को रिपोर्ट भेजी जा रही है। एएनएम से भी स्पष्टीकरण मांगा गया है। सीएमओ डॉ. अजय राजा ने बताया कि घटना की जानकारी नहीं है। संबंधित अधिकारी से बात करके मामले की जांच की जाएगी। दोषियों के खिलाफ सख्त कार्रवाई की जाएगी।
          ➖    ➖    ➖    ➖    ➖
देश दुनिया की खबरों के लिए गूगल पर जाएं
लॉग इन करें : - tarkeshwartimes.page
सभी जिला व तहसील स्तर पर संवाददाता चाहिए
मो. न. : - 9450557628

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

बस्ती : दवा व्यवसाई की पत्नी का अपहरण

अयोध्या : नहाते समय पत्नी को किस करने पर पति की पिटाई

बस्ती : पत्नी और प्रेमी ने बेटी के सामने पिता को काटकर मार डाला, बोरे में भरकर छिपाई लाश