बांके बिहारी हादसे की जांच के आदेश, कमेटी गठित : दो लोगों की गई है जान

 

                           (विशाल मोदी) 

लखनऊ। उ. प्र. सरकार ने मथुरा श्रीकृष्ण जन्माष्टमी की घटना के सम्बंध में जांच कमेटी गठित की। श्री बांके बिहारी मंदिर में हुई घटना के लिए पूर्व डीजीपी सुलखान सिंह की अध्यक्षता में जांच समिति का गठन बनी है। मंडलायुक्त अलीगढ़ गौरव दयाल समिति के सदस्य होंगे। अपर मुख्य सचिव गृह अवनीश अवस्थी ने आदेश जारी करते हुए कहा कि घटना किन परिस्थितियों में हुई और भविष्य में ऐसी घटनाओं की पुनरावृत्ति न हो, मंदिर परिसर में व्यवस्था सुधार कैसे हो। इसको लेकर जांच करेगी। पूरे घटनाक्रम की जांच 15 दिन में पूरी करके रिपोर्ट शासन को प्रस्तुत करने के निर्देश दिए गए है।

मथुरा बांके बिहारी की मंगला आरती में देर रात भारी भीड़ के कारण अव्यवस्था फैल गई दम घुटने के कारण एक महिला और एक पुरुष की मौत हो गई। कई लोगों की हालत बिगड़ गई, जिन्हें पुलिस ने बड़ी मुश्किल से भीड़ से निकाला।
जानकारी के मुताबिक 19 / 20 अगस्त की रात करीब पौने दो बजे कृष्ण जन्माष्टमी की मंगला आरती के दौरान बांके बिहारी मंदिर में भीड़ का भारी दबाव हो गया। हालत यह हो गई कि लोगों का दम घुटने लगा। अव्यवस्था फैलने से वहां अफरा-तफरी मच गई। कई लोगों का दम घुटने लगा और बेहोश होने लगे। पुलिस ने कड़ी मशक्कत कर उन लोगों को भीड़ से निकाला, जिनकी हालत बिगड़ गई थी। इस दौरान महिला निर्मला देवी पत्नी देव प्रकाश निवासी नोएडा सेक्टर 99 एवं रुक्मणि विहार निवासी 65 वर्षीय राम प्रसाद विश्वकर्मा की मौत हो गई। रामप्रसाद मूल रूप से जबलपुर मध्य प्रदेश के रहने वाले थे।
जिन दो लोगों की मौत हुई उनके परिजन पोस्टमार्टम के लिए तैयार नहीं हुए और शव को अपने साथ ले गए। चार लोगों को अस्पताल में भर्ती कराया गया है। मंदिर में जिस समय हादसा हुआ उस समय डीएम, एसएसपी, नगर आयुक्त सहित भारी पुलिस बल मौजूद था। हादसा होते ही पुलिस और निजी सुरक्षा कर्मियों ने बेहोश हो रहे श्रद्धालुओं को मंदिर से निकालना शुरू कर दिया। इस हादसे में घायल हुए श्रद्धालुओं को वृंदावन के राम कृष्ण मिशन, ब्रज हेल्थ केयर और सौ शैय्या अस्पताल भेजा गया। 

मंदिर के 2 निकास द्वार हैं। एक 4 नंबर और दूसरा 1 नंबर, 4 नंबर गेट पर एक श्रद्धालु दम घुटने के कारण बेहोश हो गया। उसे पुलिस कर्मी जब तक निकालते तब तक मंदिर से निकलने वाले श्रद्धालुओं की भीड़ अधिक जमा हो गई। जिसकी वजह से अन्य श्रद्धालुओं का दम घुटने लगा और हादसा हो गया। जिन लोगों को 100 सैया अस्पताल में भर्ती कराया गया था, उनमें से एक महिला को छोड़कर सभी को डिस्चार्ज कर दिया गया है। इस समय फरीदाबाद की सुभाष कॉलोनी निवासी 26 वर्षीया मनीता पत्नी नेत्रपाल अस्पताल में भर्ती है।

         ➖    ➖    ➖    ➖    ➖

देश दुनिया की खबरों के लिए गूगल पर जाएं

लॉग इन करें : - tarkeshwartimes.page

सभी जिला व तहसील स्तर पर संवाददाता चाहिए

मो. न. : - 9450557628

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

बस्ती : दवा व्यवसाई की पत्नी का अपहरण

अयोध्या : नहाते समय पत्नी को किस करने पर पति की पिटाई

बस्ती : पत्नी और प्रेमी ने बेटी के सामने पिता को काटकर मार डाला, बोरे में भरकर छिपाई लाश