मीनारानी श्रीवास्तव को श्रद्धांजलि : शान्ता श्रीवास्तव

 मां अपने बच्चों के लिए ईश्वर का आशीर्वाद होती है। मां के आंचल की छांव सदा महसूस होती रहती है। सामाजिक सरोकारों से जुड़ी जरुरतमंदों की सेवा करने वाली स्वर्गीय मीनारानी श्रीवास्तव तीन जुलाई 1999 को गोलोक वासी हो गयी थीं।

 वे प्रधानाध्यापिका थीं और उत्तर प्रदेश के कुशीनगर जिले के सेवरही भारतीय जनता पार्टी महिला मोर्चा की अध्यक्ष भी थीं। इनके एक पुत्र एवं छ: पुत्रियाँ हैं। सभी अलग अलग क्षेत्रों में बेहतर कार्य कर रहे हैं।

स्व. मीना रानी का जीवन समाज के वंचित वर्ग को समर्पित रहा। ऐसी मातृत्व की भावना से ओतप्रोत मीनारानी जी को भावभीनी श्रद्धांजलि और सादर नमन।

इनकी पुत्री शान्ता श्रीवास्तव वरिष्ठ अधिवक्ता और सामाजिक कार्यकर्ता हैं। ये बार एसोसिएशन धनघटा (संतकबीरनगर) की अध्यक्षा रह चुकी हैं। ये बाढ़ पीड़ितों की मदद एवं जनहित भूख हड़ताल भी कर चुकी हैं। इन्हें "महिला सशक्तिकरण, पर्यावरण, कन्या शिक्षा, नशामुक्त समाज, कोरोना जागरूकता आदि विभिन्न सामाजिक कार्यों में योगदान के लिये अनेकों पुरस्कार व "जनपद विशिष्ट जन" से सम्मानित किया जा चुका है।

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

अयोध्या : नहाते समय पत्नी को किस करने पर पति की पिटाई

बस्ती : पत्नी और प्रेमी ने बेटी के सामने पिता को काटकर मार डाला, बोरे में भरकर छिपाई लाश

नवनिर्वाचित विधायक और समर्थकों पर एफआईआर