खाकी पर दाग : एसएचओ पर थाने में रेप का आरोप, इंस्पेक्टर सहित छ: गिरफ्तार

 

                          (विशाल मोदी) 

 लखनऊ। यूपी के ललितपुर में पुलिस के एक इंस्पेक्टर खाकी दागदार कर दिया है। ऐसा घिनौना कृत्य जिससे एक बार फिर यूपी पुलिस शर्मसार हो रही है। थाने में नाबालिग के साथ एसएचओ ने दुष्कर्म किया है। इस पर पुलिस महकमे ने कड़ा एक्शन लिया है। आरोपी एसएचओ तिलकधारी सरोज को निलंबित कर एफआईआर दर्ज करने के बाद गिरफ्तार कर लिया गया है। घटना के छ: और आरोपियों को भी गिरफ्तार कर लिया गया है। घटना के समय थाने में तैनात सभी पुलिस कर्मियों को लाइन हाजिर कर दिया गया है। इस घटना ने यूपी पुलिस के रिकॉर्ड पर एक और काला धब्बा लगा दिया है।

मामला ललितपुर के पाली थाने का है। यहां की एक नाबालिग लड़की रेप का शिकार हुई थी। अपने साथ हुए जुल्म की शिकायत करने जब वो थानेदार के पास पहुंची तो आरोप है कि थानेदार ने उसके साथ रेप किया। इससे पहले नाबालिग को मोहल्ले के ही तीन लड़के 22 अप्रैल को बहला फुसलाकर भोपाल ले गए थे। वहां नाबालिग का बलात्कार किया गया और बाद में लड़की को घर छोड़ दिया गया था।
 जब पीड़ित लड़की अपनी मौसी के साथ रेप की शिकायत लिखवाने थाने गई, तो वहां 28 अप्रैल की रात थाना प्रभारी तिलकधारी सरोज ने थाना परिसर के ही एक कमरे में उसके साथ रेप किया। नाबालिग के साथ जघन्य वारदात की ये बात चाइल्ड लाइन तक भी पहुंची। जिसके बाद जिले के एसपी को शिकायत हुई और फिर थानेदार को निलम्बित कर मामला दर्ज करवाया गया। जबकि थाने में घटना के वक्त तैनात सभी पुलिसकर्मियों को लाइन हाजिर कर दिया गया।

     छह आरोपी भी गिरफ्तार

प्रयागराज में हाईकोर्ट के नजदीक से थानेदार को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है। इस मामले में मुख्य आरोपी थानेदार समेत कुल छह लोगों को आरोपी बनाया गया। सभी छह आरोपी को गिरफ्तार कर लिया गया है। जिसमें नाबालिग लड़की की मौसी और उसका बेटा भी शामिल है। यह घटना पुलिस थाने में हुई जहां वह न्याय मांगने गई थी। यह पहली बार नहीं है, चंदौली और हाथरस की घटनाएं आपके सामने हैं।'' 

 आरोपी एसएचओ तिलकधारी सरोज को प्रयागराज से वहां की सर्विलांस टीम ने मोबाइल लोकेशन के जरिए हाईकोर्ट के पास से गिरफ्तार कर लिया है। यह रेप का एफआईआर और निलंबित होने के बाद कानूनी मदद के लिए प्रयागराज पहुंचा था। यह गिरफ्तारी से बचने के लिए लगातार अपनी लोकेशन बदल रहा था। एडीजी प्रेम प्रकाश ने बताया कि उसकी लोकेशन सुबह बांदा उसके बाद राजापुर चित्रकूट और फिर कौशाम्बी होते हुए प्रयागराज में मिली। आरोपी इंस्पेक्टर तिलकधारी अपनी पत्नी व रिश्तेदारों का फोन यूज कर रहा था। इसकी गिरफ्तारी के लिए प्रयागराज की सर्विलांस टीम को लगाया गया था। इसके अलावा सीओ ललितपुर के नेतृत्व में भी एक टीम गिरफ्तारी के लिए पहुंची थी। इस पूरे मामले में झांसी डीआईजी जोगेन्द्र कुमार पुनिया एडीजी जोन कानपुर भानु भाष्कर लगातार मानीटरिंग कर रहे थे। 

                ➖    ➖    ➖    ➖    ➖

देश दुनिया की खबरों के लिए गूगल पर जाएं

लॉग इन करें : - tarkeshwartimes.page

सभी जिला व तहसील स्तर पर संवाददाता चाहिए

मो. न. : - 9450557628

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

बस्ती : दवा व्यवसाई की पत्नी का अपहरण

अयोध्या : नहाते समय पत्नी को किस करने पर पति की पिटाई

बस्ती : पत्नी और प्रेमी ने बेटी के सामने पिता को काटकर मार डाला, बोरे में भरकर छिपाई लाश