कोविड टीकाकरण को लेकर सीडीओ ने की प्रधानाचार्यों की बैठक

 

                           (नीतू सिंह) 

बस्ती (सू.वि.उ.प्र.) कोविड -19 टीकाकरण के लिए कलेक्ट्रेट सभागार में जिले के सभी स्कूल, कॉलेज के प्रधानाचार्यो के साथ बैठक की गयी। सीडीओ डॉ. राजेश कुमार प्रजापति ने कहा कि सभी एबीएसए, प्रभारी चिकित्सा अधिकारी से समन्वय स्थापित करके अधिक से अधिक बच्चों का टीकाकरण कराएं। समीक्षा में उन्होने पाया कि विद्यालयों में काफी बच्चे टीकाकरण से वंचित हैं और टीम के जाने पर वे वहॉ उपलब्ध नहीं मिलते हैं। इसके लिए उन्होंने प्रधानाचार्यो से अपील किया कि अधिक से अधिक बच्चों को विद्यालयों में उपस्थित कराएं। ऐसे मौके पर उनके अभिभावक भी उपस्थित रहें। 

उन्होंने कहा कि स्कूलों में टीमों के जाने पर बहुत कम बच्चे मिलते हैं। 21 व 22 अप्रैल को पुनः टीकाकरण टीम विद्यालयों में जाएगी। इस तिथि को सभी बच्चे अवश्य उपस्थित हों ताकि उनका टीकाकरण कराई जा सके। उन्होंने कहा कि प्रदेश में नए वैरीएंट के मरीजों का मिलना शुरू हो गया है। टीकाकरण से ही हम सभी बच्चों को सुरक्षित रख सकते हैं। उन्होंने कहा कि 12 वर्ष से अधिक आयु के बच्चों को सेकंड डोज का टीका भी ड्यू हो गया है। प्रथम डोज का टीकाकरण कराने वाले बच्चों का दूसरा डोज लगवाना सुनिश्चित करें।

उन्होंने कहा कि स्कूल में आने वाले बच्चों को गांव में टीकाकरण टीम जाकर टीका लगवाएगी। इसके लिए सभी सीडीपीओ, आंगनबाड़ी कार्यकत्री के माध्यम से गांव में सूची बनाकर बच्चों का टीका लगवाएं। उन्होंने डीपीआरओ तथा बीएसए को निर्देशित किया कि अपनी टीम के माध्यम से टीकाकरण लगे हुए बच्चों की फीडिंग पोर्टल पर कराना सुनिश्चित करें। बैठक में एसीएमओ डॉ. फखरेयार हुसैन, डा. ए.के. गुप्ता, नगर के नोडल डॉ. एके कुशवाहा, बीएसए जगदीश शुक्ला, आलोक राय, डॉक्टर स्नेहिल, यूएनडीपी के हरेंद्र, सभी प्रभारी चिकित्सा अधिकारी, एबीएसए, स्कूल कॉलेज के प्रधानाचार्यगण उपस्थित रहे।

       ➖    ➖    ➖    ➖    ➖

देश दुनिया की खबरों के लिए गूगल पर जाएं

लॉग इन करें : - tarkeshwartimes.page

सभी जिला व तहसील स्तर पर संवाददाता चाहिए

मो. न. : - 9450557628

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

बस्ती : दवा व्यवसाई की पत्नी का अपहरण

अयोध्या : नहाते समय पत्नी को किस करने पर पति की पिटाई

बस्ती : पत्नी और प्रेमी ने बेटी के सामने पिता को काटकर मार डाला, बोरे में भरकर छिपाई लाश