ओमप्रकाश राजभर पता करेंगे अखिलेश और शिवपाल की बीमारी

 

                          (विशाल मोदी)

लखनऊ। प्रदेश में विधानसभा चुनाव से पहले जहां अखिलेश यादव और शिवपाल यादव ने साथ आकर मुलायम सिंह यादव के कुनबे में एकता का संदेश देने की कोशिश की थी तो अब हार के बाद एक बार फिर फूट पड़ गई है। सपा विधानमंडल दल की बैठक में नहीं बुलाए जाने से नाराज शिवपाल यादव ने दिल्ली जाकर बड़े भाई मुलायम सिंह यादव से मुलाकात की है। इस बीच, सपा गठबंधन में शामिल सुहेलदेव भारतीय समाज पार्टी (सुभासपा) प्रमुख ओपी राजभर ने कहा है कि अखिलेश को उन्हें बुलाना चाहिए था। उन्होंने यह भी कहा है कि परिवार में झगड़े तो होते रहते हैं। दोनों लोगों से मिलेंगे और बीमारी का पता लगाएंगे।

राजभर ने एक टीवी चैनल से बातचीत में यह भी बताया कि सरकार की ओर से आज विधायकों के शपथ ग्रहण की कार्यक्रम तय करने की वजह से सपा गठबंधन के विधायकों की बैठक टाल दी गई है। राजभर ने शिवपाल की नाराजगी को लेकर कहा कि जहां परिवार में सैकड़ों लोग हों, कोई ना कोई नाराजगी होती रहती है। परिवार में कभी-कभी होता है। परिवार में नाराजगी-खुशी तो होती ही है, कभी खुशी कभी गम।
ओपी राजभर से जब विधायक दल की बैठक में शिवपाल को नहीं बुलाए जाने को लेकर सवाल किया गया तो पहले तो उन्होंने यह कहकर टालने की कोशिश की कि उन्हें ज्यादा जानकारी नहीं है। पता नहीं कि क्यों नहीं बुलाया गया। हालांकि, बार पर पूछे-जाने पर राजभर ने कहा कि वह (शिवपाल) सपा के विधायक हैं। सभी को बुलाया जाना चाहिए था। उन्हीं को नहीं, सपा के सिंबल पर जो जीते हैं सभी को बुलाना कानूनी अधिकार है।
क्या वह अखिलेश और शिवपाल के बीच झगड़े को सुलझाने की कोशिश करेंगे? यह पूछ जाने पर राजभर ने हंसते हुए कहा कि उनके घर के झगड़े में हम क्या करने जाएं? दोनों से अच्छे संबंधों की दलील देकर जब पूछा गया कि क्या वह पंच बनेंगे तो सुभासपा प्रमुख ने कहा, ''दोनों लोगों से मिलेंगे, बात करेंगे तो बताएंगे क्या दिक्कत है, क्या बीमारी है। उस बीमारी को ठीक करने की कोशिश की जाएगी। इस देश में हर चीज की दवा बन गई है। हम दोनों से मिलकर जानेंगे कि ऐसी बात क्यों हो रही है। ऐसा नहीं होना चाहिए।''

       ➖    ➖    ➖    ➖    ➖

देश दुनिया की खबरों के लिए गूगल पर जाएं

लॉग इन करें : - tarkeshwartimes.page

सभी जिला व तहसील स्तर पर संवाददाता चाहिए

मो. न. : - 9450557628

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

नवनिर्वाचित विधायक और समर्थकों पर एफआईआर

बस्ती : ब्लॉक रोड पर मामूली विवाद में मारपीट, युवक की मौत

समायोजन न हुआ तो विधानसभा पर सामूहिक आत्महत्या करेंगे कोरोना योद्धा