मृतक के नाम पीएम आवास एलाट कराकर निकाल ली तीनों किश्तें, कार्रवाई सिफर

 एक एक व्यक्ति के नाम एक से अधिक जॉबकार्ड का मामला भी सुर्खियों में हैं और जिम्मेदारों के कान पर जूं न रेंगना अपने आप में एक बड़ा सवाल है

                          (अर्जुन सिंह) 

मेंहदावल (सन्त कबीर नगर) । स्थानीय विकास खण्ड सांथा भले ही सीबीआई जांच की जद में है लेकिन ब्लाक अधिकारियों को कुछ फर्क नहीं पड़ता। उदासीनता की उनकी कार्यशैली उसी प्रकार बरकरार है जैसे सीबीआई जांच के पहले थी। यही कारण है जिसके चलते ग्राम पंचायत गहबा मे एक मनरेगा मजदूर के नाम चार से पांच जाब कार्ड बने हुए हैं। इसके अलावा एक मृत व्यक्ति के नाम आवास एलाट कराकर तीनों किश्तें निकाले जाने का मामला भी सामने आया है।

यह कारगुजारी तब सामने आयी जब पारदर्शिता , सहभागिता एवं जवाबदेही की जिम्मेदारी नीति के अनुपालन मे सोशल आडिट टीम द्वारा भौतिक सत्यापन किया गया। यही नहीं सोशल आडिट टीम द्वारा मिली जानकारी के मुताबिक प्रधानमंत्री आवास योजना ( ग्रामीण ) मे भी जालसाज तरीके से छ: वर्ष पूर्व देहावसान हुए राम मिलन पुत्र अलगू के नाम से 2018 / 2019 में आवास का लाभ उठाते हुए एक दूसरे व्यक्ति के बैक एकाउंट से तीन किश्तों में प्राप्त होने वाला धनराशि आहरित कर लिया गया है । वही ग्राम पंचायत प्रतापपुर में भी मनरेगा जाब कार्ड में फरेब का रास्ता अख्तियार करते हुए एक मनरेगा मजदूर के नाम दो - दो जाब कार्ड बनाने का काम किया गया है । ऐसे में यह सवाल उठना लाजिमी है कि क्या जिम्मेदार अधिकारी अब अधिकारी नही रहे या फिर किसी कारण उनके हाथ बंधे हुए हैं ? बहरहाल मनरेगा जाब कार्ड में धांधलेबाजी का खेल जारी है ।

       ➖    ➖    ➖     ➖    ➖

देश दुनिया की खबरों के लिए गूगल पर जाएं

लॉग इन करें : - tarkeshwartimes.page

सभी जिला व तहसील स्तर पर संवाददाता चाहिए

मो. न. : - 9450557628

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

अयोध्या : नहाते समय पत्नी को किस करने पर पति की पिटाई

बस्ती : पत्नी और प्रेमी ने बेटी के सामने पिता को काटकर मार डाला, बोरे में भरकर छिपाई लाश

नवनिर्वाचित विधायक और समर्थकों पर एफआईआर