किसान आंदोलन समाप्त

                      (संजीव पाण्डेय) 

नई दिल्ली। केंद्र सरकार के एलान और प्रस्ताव पर समझौते के बाद किसान आंदोलन आज 378वें दिन समाप्त हो गया है। इसके बाद किसान विजय दिवस मनाएंगे। शुक्रवार को विजय दिवस मनाने की योजना थी, लेकिन सीडीएस जनरल बिपिन रावत और अन्य सैन्य अधिकारियों के निधन के चलते इसे टाला गया है। शुक्रवार को शहीदों का अंतिम संस्कार होगा। इस वजह से अब किसान शनिवार को विजय दिवस मनाएंगे। ग्यारह दिसंबर से किसान एक साथ सुबह 10:30 बजे जाना शुरू करेंगे।

13 दिसंबर को किसान अमृतसर के स्वर्ण मंदिर जाएंगे। वहीं 15 दिसंबर को दिल्ली में संयुक्त किसान मोर्चा की अगली बैठक होगी। किसानों ने स्पष्ट किया है कि इसे आंदोलन का स्थगन इसलिए कर रहे हैं क्योंकि जो प्रस्ताव अभी पूरी तरह से माने नहीं गए हैं, उनकी किसान संयुक्त मोर्चा हर महीने समीक्षा करेगा। अगर लंबे समय तक किसानों की मांगे अटकी रहीं तो आंदोलन फिर शुरू होगा।

एसकेएम के औपचारिक एलान के बाद किसान खुशी खुशी घर वापसी को तैयार है। किसानों व सरकार के बीच सहमति बनने के बाद कुंडली बॉर्डर पर आज संयुक्त किसान मोर्चा की अहम बैठक चल रही है, जिसमें आंदोलन वापसी का निर्णय लिया जा सकता है। वहीं, बॉर्डर पर साल भर से धरनारत किसानों ने अपना सामान, तंबू व झोंपड़ियां समेटने शुरू कर दिया है।
 किसानों का कहना है कि वे मोर्चा के आदेश का इंतजार कर रहे हैं। आदेश मिलते ही यहां से खुशी-खुशी अपने घरों को रवाना होंगे। इससे पहले कुंडली बॉर्डर पर सबसे पहले मोर्चा द्वारा गठित 5 सदस्यीय कमेटी की बैठक हुई। फिर मोर्चा की नौ सदस्यीय कमेटी ने बैठक की। इसके बाद संयुक्त किसान मोर्चा के सभी सदस्यों की बैठक हुई और आंदोलन वापसी का निर्णय लिया गया। 

         ➖    ➖    ➖    ➖    ➖

देश दुनिया की खबरों के लिए गूगल पर जाएं

लॉग इन करें : - tarkeshwartimes.page 

सभी जिला व तहसील स्तर पर संवाददाता चाहिए

मो. न. : - 9450557628

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

लखनऊ में सैकड़ों अरब के कैलिफोर्नियम सहित 8 गिरफ्तार, 3 बस्ती के

बस्ती : ब्लॉक रोड पर मामूली विवाद में मारपीट, युवक की मौत

समायोजन न हुआ तो विधानसभा पर सामूहिक आत्महत्या करेंगे कोरोना योद्धा