नरेन्द्र मोदी ने किया जेवर एयरपोर्ट का शिलान्यास : एक साथ खड़े हो सकेंगे 178 एयरक्राफ्ट

 

                           (विशाल मोदी) 

नई दिल्ली। नोएडा इंटरनेशनल एयरपोर्ट (जेवर एयरपोर्ट) का शिलान्यास आज प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने किया। यह दुनिया का चौथा सबसे बड़ा एयरपोर्ट होगा। इसके निर्माण में 29 हजार 650 करोड़ रुपए खर्च होंगे। यहां एक साथ 178 विमान खड़े हो सकेंगे। पहली फ्लाइट यहां से सितंबर 2024 में उड़ेगी। जेवर एयरपोर्ट 5845 हेक्टेयर जमीन पर बनेगा। हालांकि पहले चरण में इसका निर्माण 1334 हेक्टेयर जमीन पर होगा। फर्स्ट फेज में यहां दो यात्री टर्मिनल और दो रनवे बनाए जाएंगे। बाद में यहां कुल पांच रनवे बनेंगे।

जब जेवर एयरपोर्ट अपने पूरे क्षेत्रफल पर विकसित होगा, तब फ्लोरिडा के ऑरलैंडो अंतरराष्ट्रीय हवाई अड्डे को पछाड़कर दुनिया के चौथे बड़े हवाई अड्डे की सूची में अपना स्थान बना चुका होगा। हालांकि, यह एयरपोर्ट कम से कम साल 2030 तक दिल्ली जैसा अंतरराष्ट्रीय आकार ले पाएगा। पहले साल करीब 40 लाख यात्रियों की आवाजाही रहेगी। 2025-26 में यात्रियों की संख्या 70 लाख तक हो सकती है। साल-दर-साल संख्या दोगुने के हिसाब से बढ़ने की उम्मीद जताई गई है। 2044 तक यात्रियों की संख्या करीब 8 करोड़ होने की उम्मीद है। यहां एक साथ 178 विमान खड़े हो सकेंगे। एयर ट्रैफिक बढ़ने पर इससे अधिक रनवे बनाए जा सकते हैं। घरेलू उड़ानों में 40 फीसदी मांग मुंबई, कोलकाता, बेंगलुरु, हैदराबाद व चेन्नई जैसी मेट्रो सिटी में आने-जाने वाले यात्रियों की है। इसलिए जेवर एयरपोर्ट से शुरुआत में 8 घरेलू उड़ानें शुरू की जाएंगी।

यह एयरपोर्ट चार एक्सप्रेसवे, मेट्रो, बुलेट ट्रेन व पॉड टैक्सी से जुड़ा होगा। इसकी सबसे खास बात यह है कि मेट्रो और बुलेट ट्रेन का स्टेशन एयरपोर्ट की टर्मिनल बिल्डिंग में बनेगा, जिसमें हवाई सफर करने वाले यात्रियों के लिए हर सुविधा का ख्याल रखा गया है। खास बात यह भी है कि यह प्रदूषण से मुक्त होगा और यूपी का पांचवां इंटरनेशनल एयरपोर्ट होगा। प्रधानमंत्री ने एयरपोर्ट के शिलान्यास के बाद प्रदर्शनी देखी। इसमें एयरपोर्ट की विकास यात्रा के बारे में फिल्म भी दिखाई गई। प्रधानमंत्री के कार्यक्रम के चलते पुलिस आज सुबह से ही सतर्क रही। पीएम मोदी ने शिलान्यास के बाद जनता को संबोधित किया। 

हम राष्ट्र प्रथम की भावना पर चलते हैं - पीएम मोदी

पीएम ने कहा कि हम राष्ट्र प्रथम की भावना पर चलते हैं। यूपी और देश के लोग गवाह हैं कि बीते कुछ हफ्तों में विपक्षियों द्वारा कैसी राजनीति हुई लेकिन देश विकास के रास्ते पर नहीं रुका। इसी महीने की शुरुआत में 2070 तक नेट जीरो की घोषणा की है। यूपी में एक साथ नौ मेडिकल कॉलेज की शुरुआत कर नई इबारत लिखी है। महोबा और झांसी में भी कई काम हुए। पूर्वांचल एक्सप्रेसवे भी यूपी को समर्पित किया गया। इसी महीने महाराष्ट्र के पंडरपुर में सैकड़ों किलोमीटर के हाईवे का उद्घाटन किया गया। हमारे राष्ट्रभक्ति के सामने कुछ राजनीतिक दलों की कामनाएं टिक नहीं सकतीं। यही प्रगति हमें आगे ले जाएगी। 

यूपी की इंटरनेशनल एयर कनेक्टिविटी को दे रहा नई पहचान

प्रधानमंत्री ने कहा कि यूपी की इंटरनेशनल एयर कनेक्टिविटी यूपी को नई पहचान दे रहा है। आने वाले दो तीन सालों में पांच इंटरनेशनल एयरपोर्ट वाला राज्य बन जाएगा। पिछली सरकारों ने कैसे पश्चिमी यूपी के विकास को नजरअंदाज किया उसका एक उदाहरण जेवर एयरपोर्ट भी है। दो दशक पहले राज्य की भाजपा सरकार ने इसका सपना देखा, लेकिन बाद की सरकारों ने इसे फंसाए रखा। एक सरकार ने तो लिखित में केंद्र को दिया था कि इस एयरपोर्ट का काम बंद किया जाए। लेकिन डबल इंजन की सरकार ने इस सपने को साकार किया। पीएम ने कहा कि हम चाहते तो 2017 में ही यहां आकर शिलान्यास कर देते लेकिन हमने ऐसा नहीं किया। पहले सरकारें रेवड़ियों की तरह इंफ्रास्ट्रक्चर प्रोजक्ट की घोषणा कर देती थीं लेकिन कोई विचार नहीं करती थीं कैसे बनेगा। इसी वजह से लागत कई गुना बढ़ जाती थी। एक-दूसरे पर ठीकरा फोड़ने की नीति शुरू हो जाती है। लेकिन हमने ऐसा नहीं किया। क्योंकि ये हमारे लिए राजनीति नहीं राष्ट्रनीति का एक बड़ा हिस्सा है। हमारी कोशिश है कि प्रोजेक्ट लटके नहीं, भटके नहीं। तय समय पर काम पूरा हो, देरी होने पर जुर्माने का भी प्रावधान है। किसानों की जमीन को लेकर जिस तरह की देरी होती थी वो भी प्रोजेक्ट में देरी का कारण बनती थी। हमने किसान हित में, देश के हित में इन अड़चनों को भी दूर किया। हमने कोशिश की कि पूरी पारदर्शिता के साथ भूमि अधिग्रहण हो इसके बाद हमने शिलान्यास किया ताकि सबके साथ न्याय हो।

पीएम ने कहा, यह एयरपोर्ट एक्सपोर्ट के लिए अंतरराष्ट्रीय एयरपोर्ट से सीधा जुड़ेगा। छोटे किसान यहां से सीधे जल्द खराब होने वाले वस्तुओं को एक्सपोर्ट कर सकेंगे। सभी आसपास के जिलों को एक्सपोर्ट के लिए बहुत लाभ होगा। हवाई अड्डे के निर्माण के दौरान सुचारू रूप से चलाने के लिए हजारों लोगों की जरूरत होती है जिससे उन्हें रोजगार मिलेगा। हमने इस सोच को बदला कि दिल्ली में एयरपोर्ट है लेकिन अन्य आसपास के जिलों को भी एयरपोर्ट चाहिए। एयर कनेक्टिविटी बढ़ने से टूरिज्म बढ़ता है। जैसे माता वैष्णो देवी और चारधाम में हेलिकॉप्टर सेवा आने से वहां टूरिज्म बढ़ा है। आजादी के सात दशक बाद यूपी को वो मिलना शूरू हुआ है जिसका वो हकदार रहा है। डबल इंजन की सरकार से यूपी देश का सबसे विकसित राज्य बन रहा है। रैपिड रेल कॉरिडोर हो, मेट्रो रेल कनेक्टिविटी हो, डेडिकेटेड फ्रेट कॉरिडोर हों यह आधुनिक यूपी की नई पहचान बन रहे हैं। यूपी को ताने सुनने के लिए मजबूर कर दिया गया था। कभी गरीबी, कभी उद्योगों के अभाव के ताने, खराब सड़कों के ताने, अपराध के ताने। यूपी के लोगों का यही सवाल था कि क्या कभी यहां की सकारात्मक छवि बन पाएगी कि नहीं। पहले की सरकार ने यूपी में जो अभाव अंधकार बनाए रखा, झूठे सपने दिखाए, वही यूपी आज अंतरराष्ट्रीय छाप छोड़ रहा है।

  नोएडा एयरपोर्ट की विकास में बड़ी भूमिका

पीएम ने कहा कि नोएडा पूरे उत्तर भारत का लॉजिस्टिक गेटवे बनेगा। आज जिस तेजी से एविएशन क्षेत्र में बढ़ोतरी हो रही है उनके लिए भी नोएडा इंटरनेशनल एयरपोर्ट की बहुत बड़ी भूमिका होगी। यह एयरपोर्ट विमानों के रखरखाव, देखभाल व मेंटेनेंस का केंद्र बनेगा, जो देश-विदेश के विमानों को सेवा देगी और देश के युवाओं को रोजगार देगी। आज भी हम अपने 85 प्रतिशत विमानों को एमआरओ सेवा के लिए विदेश भेजते हैं, जिसमें 15000 करोड़ रुपये खर्च होते हैं। जिसका अधिकांश हिस्सा दूसरे देशों को जाता है लेकिन ये एयरपोर्ट इस स्थिति को भी बदलने में मदद करेगा। इस एयरपोर्ट के माध्यम से मल्टीमीडिया कार्गो हब की भी संकल्पना पूरी हो रही है। हम सभी ये जानते हैं जिन राज्यों की सीमा समुद्र से सटे होते हैं उनके लिए बंदरगाह सबसे बड़ी ताकत होती है लेकिन यूपी जैसे राज्यों के लिए यही भूमिका एयरपोर्ट की होती है।

पीएम मोदी ने कहा कि यूपी के, देश के सभी लोगों को नोएडा एयरपोर्ट के इस भूमिपूजन की बहुत बहुत बधाई। आज इस भूमिपूजन के साथ ही जेवर भी अंतरराष्ट्रीय मानक की तरफ बढ़ गया है। इसका बहुत बड़ा लाभ दिल्ली एनसीआर व पूरे देश को होगा। इसके लिए पूरे देश को बधाई देता हूं। 21वीं सदी का भारत एक से एक आधुनिक इंफ्रास्ट्रक्चर का निर्माण कर रहा है। बेहतर सड़क, एयरपोर्ट, रेलवे स्टेशन का निर्माण हो रहा है। ये सभी लोगों का जीवन बदलकर रख देते हैं। सभी वर्ग का जीवन इससे प्रभावित होता है और इससे बहुत लाभ मिलता है। इन प्रोजेक्ट की ताकत और बढ़ जाती है जब इनके साथ लास्ट माइल कनेक्टिविटी हो। नोएडा एयरपोर्ट कनेक्टिविटी की दृष्टि से भी बेहतरीन मॉडल बनेगा। रेलवे से लेकर मेट्रो तक हर तरह के मोड से कनेक्ट होगा।
सीएम योगी ने कहा कि मैं उन सभी किसानों का धन्यवाद करता हूं जिन्होंने बिना किसी विवाद के अपनी जमीन एयरपोर्ट के लिए दी। सीएम ने तमाम योजनाओं का जिक्र किया जो ग्रेटर नोएडा के लिए लागू होने जा रही हैं। गन्ने की इस मिठास को अंतरराष्ट्रीय मंच देने के लिए पीएम का यह कार्यक्रम जेवर में हुआ है। अंत में उन्होंने पीएम का अभिनंदन किया। सिंधिया के बाद सीएम योगी जनता को संबोधित कर रहे हैं। सीएम ने कहा कि 2014 के बाद भारतीयों ने बदलते भारत को देखा है। एक भारत श्रेष्ठ भारत की परिकल्पना को पूरा होते देखा है। कोरोना काल के दौरान कैसे एक-एक नागरिक के जान और जीविका की रक्षा करनी है यह पीएम ने पूरे विश्व को दिखा दिया है। यह उपलक्ष्य पश्चिमी उत्तर प्रदेश के लिए बहुत महत्वपूर्ण है। यहां के किसानों ने गन्ने की मिठास फैलाने का काम किया था लेकिन कुछ लोगों ने इसमें दंगों की कड़वाहट घोलने का काम किया। उत्तर प्रदेश आज एक नई ऊंचाई की ओर बढ़ रहा है। हर नागरिक तक बिना भेदभाव के सभी सामाजिक फायदे पहुंच रहे हैं।
केंद्रीय नागरिक उड्डयन मंत्री ज्योतिरादित्य सिंधिया ने मंच से संबोधित करते हुए कहा कि लोगों की आंखों में चमक है क्योंकि उनका सपना पीएम मोदी पूरा करने जा रहे हैं। यूपी असीमित क्षमताओं का प्रदेश है। उन्होंने कहा कि इस एयरपोर्ट का बहुत पुराना इतिहास है। यह दिल्ली के एयरपोर्ट से भी आगे जाएगा। पीएम का सपना था कि यूपी में एशिया का सबसे बड़ा एयरपोर्ट बने तो उन्होंने वो कर दिखाया। आने वाले समय में धार्मिक प्रदेश यूपी औद्योगिक क्षेत्र के रूप में सामने आएगा। जिस यूपी में केवल 4 एयरपोर्ट होते थे वहां आज 9 एयरपोर्ट हैं। आने वाले समय में यहां 17 एयरपोर्ट होंगे, उनमें पांच अंतरराष्ट्रीय एयरपोर्ट होंगे। रनवे पर प्लेन और पटरी पर ट्रेन और एक्सप्रेसवे पर दौड़ती गाड़ियां यही पीएम का सपना है। मंच पर ही पीएम मोदी को पटका और श्रीकृष्ण की मूर्ति भेंट की गई। पीएम को स्मृति चिन्ह भी भेंट किया गया।
प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने सभास्थल पर पहुंच कर यहां एनिमेशन के जरिए एयरपोर्ट की खासियतों और पूरे मॉडल को देखा। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ सभास्थल पर काफी पहले पहुंच चुके थे, उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के मंच पर पहुंचते ही जय श्रीराम के नारों से पूरा पंडाल गूंज उठा।

   मंच पर साधु ने दी प्रस्तुति 

जेवर एयरपोर्ट के कार्यक्रम स्थल पर एक सांस्कृतिक मंच भी बनाया गया है, जहां तमाम कलाकार अपनी अपनी प्रस्तुतियां दे रहे हैं। यहीं पर सांस्कृतिक मंच पर भगवान राम के आध्यात्मिक गानों पर नृत्य करते एक साधु को भी देखा गया।

         ➖    ➖    ➖     ➖     ➖

देश दुनिया की खबरों के लिए गूगल पर जाएं

लॉग इन करें : - tarkeshwartimes.page

सभी जिला व तहसील स्तर पर संवाददाता चाहिए

मो. न. : - 9450557628

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

लखनऊ में सैकड़ों अरब के कैलिफोर्नियम सहित 8 गिरफ्तार, 3 बस्ती के

समायोजन न हुआ तो विधानसभा पर सामूहिक आत्महत्या करेंगे कोरोना योद्धा

बस्ती : ब्लॉक रोड पर मामूली विवाद में मारपीट, युवक की मौत