आयुष्मान अंत्योदय के द्वार : बस्ती के हर ब्लॉक में बंटे गोल्डन कार्ड

 

                        (विशाल मोदी) 

बस्ती (उ.प्र.) । आयुष्मान भारत योजना के अंत्योदय लाभार्थियों में सोमवार को कार्ड वितरण हुआ। जिला अस्पताल परिसर में आयोजित कार्यक्रम में जिला पंचायत अध्यक्ष संजय चौधरी ने लाभार्थियों में आयुष्मान कार्ड का वितरण किया। इसी के साथ सभी ब्लॉकों में भी कार्ड वितरण कार्यक्रम का आयोजन किया गया। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ की पहल पर पहली बार मुख्यमंत्री जन आरोग्य अभियान के तहत अंत्योदय कार्ड धारक परिवारों को लाभांवित किया जा रहा है। इसके लिए ‘आयुष्मान अंत्योदय के द्वार’ कार्यक्रम चलाया जा रहा है। हर ब्लॉक में 125 लाभार्थियों में आयुष्मान कार्ड का वितरण जनप्रतिनिधियों के हाथों किया गया।

मुख्य अतिथि श्री चौधरी ने कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी व मुख्यमंत्री का सपना है कि हर परिवार को आवास, शिक्षा के साथ ही अच्छी स्वास्थ्य सुविधा मुहैया कराई जाए। जिले के लगभग 88 हजार अंत्योदय कार्ड धारक गरीब होने के बावजूद आयुष्मान भारत योजना से अभी तक वंचित थे। अब इन्हें योजना में शामिल करते हुए इनका आयुष्मान कार्ड बनाया जाना शुरू कर दिया गया है। इलाज के लिए अब इन परिवारों को किसी का मोहताज नहीं रहना होगा। सीडीओ डॉ. राजेश कुमार प्रजापति ने कहा कि अधिक से अधिक अंत्योदय कार्ड धारकों का आयुष्मान कार्ड बनवाने का प्रयास किया जाना चाहिए।
आयुष्मान कार्यक्रम के नोडल ऑफिसर डॉ. सीएल कन्नौजिया ने बताया कि 23 सितंबर को आयुष्मान दिवस के अवसर पर मुख्यमंत्री जन आरोग्य अभियान में अंत्योदय कार्ड धारक परिवारों को भी शामिल करके कार्ड बनाया जाना शुरू कर दिया गया है। जिले में लगभग 88 हजार अंत्योदय कार्ड धारक परिवार व प्रदेश में ऐसे करीब 40 लाख परिवार हैं, जो योजना से वंचित थे। मुख्यमंत्री जन आरोग्य अभियान से इन्हें आच्छादित करते हुए इन परिवारों का डाटा अभियान के डाटाबेस के साथ इंटीग्रेट कर दिया गया है। इन परिवारों को भी आयुष्मान योजना का लाभ मिल सकेगा। सीएमओ डॉ. अनूप कुमार, एसीएमओ डॉ. एफ हुसैन, डॉ. सीएल कन्नौजिया, डॉ. राकेशमणि त्रिपाठी, डॉ. स्वाति, अजय मिश्रा, महेंद्र गुप्ता, सचिन चौरसिया, विनय सिंह सहित अन्य कार्यक्रम में शामिल रहे।
श्री कन्नौजिया ने कहा कि जिन लोगों के पास अंत्योदय कार्ड है, वह लोग अंत्योदय कार्ड, आधार कार्ड के साथ नजदीकी जन सेवा केंद्र पर जाकर आयुष्मान कार्ड के लिए आवेदन कर सकते हैं। परिवार में जितने लोगों का नाम कार्ड में शामिल है, सभी को अलग-अलग कार्ड बनवाना अनिवार्य है। कार्ड धारक को ही नि:शुल्क इलाज की सुविधा मिलेगी। एक परिवार को साल में पांच लाख रुपए तक के इलाज की सुविधा देश भर में सरकारी व योजना से संबद्ध निजी अस्पतलों में मिलेगी। आयुष्मान योजना से संबद्ध अस्पतालों में भी आयुष्मान कार्ड बनाए जाने की सुविधा है।
23 सितंबर से अंत्योदय लाभार्थियों के आयुष्मान कार्ड बनाए जाने के लिए आवेदन शुरू किए गए हैं। डॉ. कन्नौजिया के अनुसार अब तक पांच हजार से ज्यादा लाभार्थियों ने कार्ड के लिए आवेदन किया है, दिन प्रतिदिन इसमें तेजी से इजाफा हो रहा है। स्टेट से आवेदन पास होने के साथ ही इन्हें आयुष्मान कार्ड जारी कराया जा रहा है। सभी ब्लॉकों में ज्यादा से ज्यादा आयुष्मान लाभार्थियों का आवेदन करने को कहा गया है। 

          ➖    ➖    ➖    ➖    ➖

देश दुनिया की खबरों के लिए गूगल पर जाएं

लॉग इन करें : - tarkeshwartimes.page

सभी जिला व तहसील स्तर पर संवाददाता चाहिए

मो. न. : - 9450557628

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

लखनऊ में सैकड़ों अरब के कैलिफोर्नियम सहित 8 गिरफ्तार, 3 बस्ती के

समायोजन न हुआ तो विधानसभा पर सामूहिक आत्महत्या करेंगे कोरोना योद्धा

बस्ती पंचायत चुनाव मतगणना : अबतक घोषित परिणाम