जयंत चौधरी ने किये बड़े ऐलान : बागपत में चुनाव प्रचार का पहला चरण खत्म

 

                           (संतोष दूबे) 

 बागपत (उ.प्र.) । राष्ट्रीय लोक दल अध्यक्ष चौधरी जयंत सिंह ने कहा कि भाजपा सरकार में सबसे बुरी हालत किसानों की हुई है। उनको फसलों के पूरे दाम तक नहीं मिल रहे हैं। हर वर्ग परेशान है। रालोद ने सत्ता में भागीदारी होने पर हर वर्ग के उत्थान के लिए योजना बनाई है। सरकार में आने पर गन्ने का दाम पहले सत्र में डेढ़ गुणा दिया जाएगा और उसके बाद एसएपी से जोड़ दिया जाएगा। गन्ने की फसल में जितनी लागत बढ़ेगी, उसका दाम भी उतना ही बढ़ जाएगा। बुजुर्गों की पेंशन में तीन गुना की वृद्धि की जाएगी।

जयंत ने शनिवार को बड़ौत के जनता वैदिक कॉलेज के मैदान में आशीर्वाद पथ रैली को संबंधित किया। उन्होंने कहा कि सम्मान निधि की तरह किसानों को 15 हजार दिए जाएंगे और मोदी सरकार उसमें बढ़ोतरी करती है तो उसके अनुसार प्रदेश में बढ़ा दिए जाएंगे। किसानों व बुनकरों के बिल को लेकर कहा कि उनके पुराने बिल माफ और नए बिल आधे किए जाएंगे। मनरेगा के मजदूरों को देश में सबसे ज्यादा मजदूरी यूपी में 320 रुपये प्रतिदिन दी जाएगी। किसानों की जमीनों को बचाने के लिए लैंड मैनेजमेंट कारपोरेशन का गठन होगा, जो सरकारी जमीनों का सर्वेक्षण करेगा। इससे किसी भी प्रोजेक्ट के लिए किसानों की जमीन का अधिग्रहण करने की जगह उन जमीनों का इस्तेमाल किया जाएगा।
चौधरी जयंत सिंह ने कहा हर ब्लॉक में सभी सुविधाओं से युक्त खेल मैदान बनाए जाएंगे। उनमें खेल मित्र रखे जाएंगे, जो अंतरराष्ट्रीय स्तर के खिलाड़ी ही रहेंगे। सभी सरकारी स्कूलों में अंग्रेजी माध्यम की वोकेशनल शिक्षा देंगे व कंप्यूटर लैब बनवाई जाएगी। रिक्त पदों को छह माह में भरा जाएगा। पांच साल में एक करोड़ युवाओं को नौकरी दी जाएगी।
रालोद अध्यक्ष चौधरी जयंत सिंह ने चुनावी प्रचार का पहला चरण अपने दादा पूर्व प्रधानमंत्री स्वर्गीय चौधरी चरण सिंह और पिता पूर्व केंद्रीय मंत्री स्वर्गीय चौधरी अजित सिंह की कर्मभूमि पर खत्म किया। इस दौरान चौधरी जयंत सिंह ने हर वर्ग को साधने का प्रयास किया। लोगों को दादा और पिता के नाम पर भावनात्मक रूप से जोड़ा तो किसानों व भाईचारे के मुद्दे पर सरकार पर हमला बोलते हुए आक्रामक भी दिखाई दिए। कहा कि रास्ता कठिन है और चुनौती भरा सफर है, लेकिन आपके साथ से मंजिल जरूर मिलेगी। यहां भी खाप चौधरियों, थांबेदारों व अब्बासी समाज के लोगों ने चौधरी जयंत को पगड़ी पहनाई तो उन्होंने भी उसे विश्वास का प्रतीक बताते हुए उसकी लाज रखने का वादा किया।
चौधरी जयंत सिंह ने सबसे पहले लोगों से भावनात्मक रूप से जुड़ने का प्रयास करते हुए कहा कि हर कोई जानता है कि किन परिस्थितियों में वह उनके बीच आए है और आशीर्वाद पथ यात्रा शुरू की गई। अब सभी को उनका साथ देना है और जहां-जहां लोकदल कमजोर था, वहां लोगों को जोड़ना है। रास्ता कठिन है और चुनौती भरा सफर है, लेकिन साथ से मंजिल जरूर मिलेगी। उन्होंने कहा कि मैं रिश्ते की कद्र करूंगा और उनके मान-सम्मान की लड़ाई भी लडू़ंगा। सभी को पहले की तरह भाईचारा बनाकर रखना है।
चौधरी जयंत सरकार के खिलाफ आक्रामक भी दिखाई दिए। कहा कि जिस तरह से कृषि कानूनों के विरोध में किसान धरना देकर बैठे हुए हैं, अगर आपका वकील मजबूत होता तो इतना लंबा आंदोलन नहीं करना पड़ता। इस सरकार में आपका कोई वकील नहीं है जो पैरवी कर सके। खाद की कमी से किसान जूझ रहा है तो फसलों के दाम नहीं मिल रहे हैं। स्वामीनाथन आयोग को लागू नहीं किया जा रहा है तो जाति व धर्म के नाम पर लोगों को लड़ाकर भाईचारा बिगाड़ा जाता है। सरकार में केवल पूंजीपतियों का बोल-बाला है और उनके इशारे पर हर वर्ग का उत्पीड़न हो रहा है।
चौधरी जयंत सिंह ने सुरक्षा व्यवस्था को लेकर केंद्रीय गृहमंत्री अमित शाह पर तंज कसते हुए कहा कि वह प्रदेश में अब बाहुबली नहीं दिखने की बात कहते हैं। मगर, उनके कार्यक्रम में बाहुबली उनके पास ही बैठे हुए थे। गृहमंत्री कहते हैं कि अब महिलाएं रात को 12 बजे भी गहने पहनकर आराम से घूम सकती है। लेकिन प्रदेश में कानून व्यवस्था इतनी खराब है कि अमित शाह भी दोपहर में माला पहनकर निकले तो उनको भी लूट लिया जाएगा।
रालोद अध्यक्ष चौधरी जयंत सिंह ने कहा कि यहां भाजपा में ऐसे भी नेता है, जब वह रालोद में होते थे तो भाजपा वाले उनको बेकार बताते थे। अब वह भाजपा में चले गए तो वह चमक गए है। चौधरी जयंत ने उन नेताओं को लेकर टिप्पणी भी की। इसके अलावा भी जिले के काफी मुद्दों को लेकर वह बोले। दो घंटे देरी से आने के बाद करीब 36 मिनट तक हर मुद्दे पर बोलते रहे। आशीर्वाद पथ रैली में खाप, थांबा व समाज की पगड़ी पहनाई गई। उज्ज्वल खाप ने पगड़ी पहनाने के साथ ही 5.51 लाख रुपये दिए। बामनौली के थांबेदारों ने पगड़ी बांधी और 2.51 लाख रुपये दिए। अब्बासी समाज के लोगों ने चौधरी जयंत सिंह को पगड़ी बांधी। संजीव मान ने 11 लाख रुपये देने की घोषणा की। इनके अलावा गुराना गांव ने 1.51 लाख, दाहा ने एक लाख, टीकरी ने एक लाख, निरपुड़ा ने एक लाख रुपये दिए है।
चौधरी जयंत सिंह ने हर वर्ग को ध्यान में रखते हुए घोषणा की। कहा कि अभी 60 साल से 80 साल वालों तक को 500 रुपये पेंशन मिलती है, जिसको तीन गुना बढ़ाकर 1500 रुपये किया जाएगा। इस तरह ही 80 वर्ष से ज्यादा उम्र वालों को 800 रुपये पेंशन मिलती है, जिसे 2400 किया जाएगा। रियल एस्टेट सेक्टर को बढ़ावा देने के लिए स्टांप ड्यूटी को सात प्रतिशत से दो प्रतिशत करेंगे। उनका कहना है कि इसकी भरपाई उससे होगी, जब स्टांप ड्यूटी कम होने से जमीनों की खरीद-फरोख्त ज्यादा होगी। महिलाओं को दस लाख रुपये से ज्यादा की संपत्ति पर अभी तक कोई छूट नहीं मिलती है, लेकिन सत्ता में आने पर रालोद उस पर भी एक प्रतिशत छूट देगी।

       ➖    ➖    ➖    ➖    ➖

देश दुनिया की खबरों के लिए गूगल पर जाएं

लॉग इन करें : - tarkeshwartimes.page

सभी जिला व तहसील स्तर पर संवाददाता चाहिए

मो. न. : - 9450557628

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

लखनऊ में सैकड़ों अरब के कैलिफोर्नियम सहित 8 गिरफ्तार, 3 बस्ती के

समायोजन न हुआ तो विधानसभा पर सामूहिक आत्महत्या करेंगे कोरोना योद्धा

बस्ती : ब्लॉक रोड पर मामूली विवाद में मारपीट, युवक की मौत