यूपी के होनहार शिक्षकों के उत्कृष्ट कार्यों की गवाह बनी गुरु गोरक्षनाथ की धरती

                         (विशाल मोदी) 

बेसिक शिक्षा विभाग द्वारा स्वप्रेरित, ऊर्जावान, टेक्नोसेवी शिक्षको के स्वतःस्फूर्त समूह एडूलीडर्स यूपी के संयोजन में आयोजित हुआ शैक्षिक गुणवत्ता सेमिनार व एडूलीडर्स 2021 सम्मान समारोह समारोह, बेसिक शिक्षा मंत्री डॉ. सतीश द्विवेदी ने प्रदेश भर के 148 शिक्षकों को प्रदान किए एडूलीडर्स सम्मान, बेसिक शिक्षा मंत्री ने लॉक डाउन के दौरान एडूलीडर्स टीम के प्रयासों को सराहा

गोरखपुर के विधायक डॉ. राधा मोहन दास अग्रवाल ने कार्यक्रम का उदघाटन करते हुए कई शिक्षको के सीधे बात की और एडूलीडर्स के इस प्रयोग को एक सफल नवाचार बताते हुए इस प्रयोग को सभी जिलों में आयोजित करने हेतु उनके द्वारा सरकार को सलाह देने की कही बात बेसिक शिक्षा विभाग उत्तर प्रदेश की अपर निदेशक सुश्री ललिता प्रदीप ने एडूलीडर्स यूपी द्वारा प्रदेश के हजारों शिक्षकों को उनके व्यवसायिक दक्षता बढ़ाने व उनके उत्साहवर्धन हेतु किए जा रहे प्रयासों को ऐतिहासिक बताया डायट प्राचार्य डॉ. भूपेन्द्र सिंह, सहायक शिक्षा निदेशक डॉ. सत्य प्रकाश त्रिपाठी व बीएसए गोरखपुर रमेन्द्र त्रिपाठी ने सभी एडूलीडर्स के कार्यों की प्रशंसा करते हुए दूसरे शिक्षकों के लिए प्रेरक बताया

एडूलीडर्स यूपी बस्ती के युवा राष्ट्रपति पदक प्राप्त शिक्षक डॉ. सर्वेष्ट मिश्र ने कहा किस तरह साल 2020 में बना एक एडूलीडर्स यूपी एक ऐसा स्वतःस्फूर्त समूह है जिसकी सभी 75 जनपदों में टीमें है और हर जिले में व्हाटसप समूहों के माध्यम से हजारों शिक्षक जुड़े हैं।एडूलीडर्स यूपी ने प्रदेश के हजारों शिक्षकों की उनके व्यावसायिक दक्षता बढ़ाने, उनकी सक्सेज स्टोरी को साझा करने व उन्हें एडूलीडर्स अवार्ड प्रदान करने की एक नई पहल की है। गत वर्ष एडूलीडर्स गुरुवंदन कार्यक्रम में भी 150 शिक्षको को बेसिक शिक्षा मंत्री डॉ. सतीश द्विवेदी ने प्रदान किया था एडूलीडर्स यूपी सम्मान 2020

बस्ती (उ.प्र.) । शिक्षक दिवस के उपलक्ष्य में बस्ती के राष्ट्रपति पदक प्राप्त शिक्षक डॉ सर्वेष्ट मिश्र के संयोजन में बेसिक शिक्षा विभाग गोरखपुर द्वारा गुरु गोरक्षनाथ की धरती गोरखपुर प्रदेश भर के 148 होनहार शिक्षकों के उत्कृष्ट कार्यों की गवाह बनी। जिलाधिकारी विजय किरन आनन्द जी के कुशल नेतृत्व में बेसिक शिक्षा विभाग गोरखपुर द्वारा स्वप्रेरित, ऊर्जावान, टेक्नोसेवी शिक्षको के स्वतःस्फूर्त समूह एडूलीडर्स यूपी के संयोजन में शैक्षिक गुणवत्ता सेमिनार व एडूलीडर्स 2021 सम्मान समारोह का आयोजन महायोगी गुरु गम्भीर नाथ प्रेक्षागृह में किया गया। जिसमें प्रदेश के बेसिक शिक्षा मंत्री डॉ सतीश द्विवेदी जी ने प्रदेश भर के 148 शिक्षकों को एडूलीडर्स यूपी सम्मान प्रदान किए।

महायोगी गुरु बाबा गंभीरनाथ प्रेक्षागृह, तारामंडल गोरखपुर में आयोजित शैक्षिक गुणवत्ता सेमिनार एवम एड़ूलीडर्स सम्मान समारोह में बीएसए रमेंद्र कुमार सिंह ने प्रदेश के सभी 75 जनपदों से आए 148 शिक्षकों व अतिथियों का स्वागत किया। उन्होंने प्रतिभागी शिक्षकों सभी का स्वागत करते हुए कहा कि आज का दिन गोरखपुर के लिये ऐतिहासिक है क्योंकि आज प्रदेश भर के उत्कृष्ट शिक्षको को एक ही मंच पर एकत्र हुए हैं। डायट प्राचार्य डॉ भूपेंद्र कुमार सिंह ने सभी आमंत्रित शिक्षकों का उत्साहवर्धन करते हुए उन्हें बेसिक शिक्षा का ब्रांड एम्बेसडर बताया। एडूलीडर्स के संयोजक डॉ सर्वेष्ट मिश्र ने एडूलीडर्स की संकल्पना व कार्यक्रम के बारे में जानकारी देते हुए सभी शिक्षकों व अतिथियों का स्वागत किया। कार्यक्रम में सर्वप्रथम राज्य शिक्षक पुरस्कार/राष्ट्रीय पुरस्कार से सम्मानित शिक्षकों ने प्रस्तुतिकरण कर अपने विद्यालयों की सफलता की कहानी एक दूसरे से साझा की।
कार्यक्रम की औपचारिक शुभारम्भ नगर विधायक डॉ राधा मोहन दास अग्रवाल ने सरस्वती माँ पर माल्यार्पण कर कार्यक्रम का शुभारंभ किया। उन्होंने कार्यक्रम विभिन्न जनपदों से आए शिक्षको के सीधी बात की और एडूलीडर्स के इस प्रयोग को एक सफल नवाचार बताते हुए इस प्रयोग को सभी जिलों में आयोजित करने हेतु उनके द्वारा सरकार के सामने प्रस्ताव रखने की बात कही। उन्होंने कहा कि तकनीकी के माध्यम से हमारे व्यवहार में परिवर्तन हुए हैं बेसिक शिक्षा विभाग में भी नित नई तकनीको के प्रयोग से शिक्षा का स्तर उठा है।भाषा या संसाधन किसी विद्यालय को उत्कृष्ट नही बनाते हैं बल्कि शिक्षकों की ईमानदारी, समर्पण भाव नियमितता ही उत्कृष्ट बनाती है। हर बच्चा अपने मे विशिष्ट होता है। शिक्षक को उसकी क्षमता का मूल्यांकन कर आगे बढ़ाने का प्रयास किया जाना चाहिये। शिक्षक का मूल्यांकन गांव के लोगों द्वारा किये जा रहे स्नेह से होता है।
डायट प्राचार्य डॉ भूपेंद्र सिंह सहायक शिक्षा निदेशक डॉ सत्य प्रकाश त्रिपाठी व बीएसए रमेन्द्र कुमार सिंह ने सभी का आह्वान करते हुए कहा कि आप लोग बेसिक के नगीने हैं आप सभी अपने जनपद में जाकर अन्य शिक्षकों को भी प्रेरित करें। कार्यक्रम में विभिन्न जनपदों से एडूलीडर्स अवार्ड 2021 हेतु चयनित अपने कार्यों की पॉवर पॉइंट प्रस्तुति दी। विशिष्ट अतिथि व पूर्व मंडलीय क्रीड़ा अधिकारी सुश्री निशा मिश्रा ने शिक्षकों से खेल और स्वास्थ्य के मध्य सम्बन्ध बता कर बच्चों के शारीरिक विकास पर ध्यान देने का आह्वान किया। बेसिक शिक्षा विभाग उत्तर प्रदेश की अपर निदेशक सुश्री ललिता प्रदीप ने एडूलीडर्स यूपी द्वारा प्रदेश के हजारों शिक्षकों को उनके व्यवसायिक दक्षता बढ़ाने व उनके उत्साहवर्धन हेतु किए जा रहे प्रयासों को प्रशंसा करते हुए कहा कि शिक्षको का बहुत बड़ा महत्व है। शिक्षण मात्र कक्षाओं में ही सीमित नही रहता है अपितु समाज की हर गतिविधि में लक्षित होता है। शिक्षक रचनाकार होते हैं उनकी उत्कृष्टता ही समाज को नई दिशा प्रदान करती है।

कार्यक्रम के दूसरे सत्र सम्मान समारोह का उद्घटान प्रदेश के बेसिक शिक्षा मंत्री डॉ. सतीश चन्द्र द्विवेदी ने किया। अपर शिक्षा निदेशक सुश्री ललिता प्रदीप जी व विभागीय अधिकारियों द्वारा उनका स्वागत किया गया।

एडुलीडर्स यूपी संयोजक डॉ सर्वेष्ट मिश्र द्वारा एडूलीडर्स यूपी द्वारा पिछले डेढ़ वर्ष की यात्रा के बारे में सभी को अवगत कराते हुए एक वीडियो फ़िल्म की प्रस्तुति की गई। इसके उपरांत बेसिक शिक्षा मंत्री डॉ सतीश द्विवेदी व विशिष्ट अतिथयों द्वारा एडूलीडर्स पत्रिका का विमोचन किया गया जिसमें सभी एडूलीडर्स सम्मान से सम्मानित शिक्षकों के प्रयासों का सचित्र प्रकाशन किया गया है।

बेसिक शिक्षा मंत्री डॉ सतीश द्विवेदी जी ने लॉक डाउन के दौरान एडूलीडर्स यूपी के के प्रयासों की सराहना करते हुए ऐतिहासिक बताया। उन्होंने कहा कि बेसिक शिक्षा विभाग में ऐसे बहुत से शिक्षक हैं जिन्होंने अपनी कर्मठता से बेसिक की तस्वीर बदल दी है। उन्होंने मिशन शक्ति कार्यक्रम के बारे में बताते हुए कहा कि बेसिक विभाग इस दिशा में उल्लेखनीय कार्य कर रहा है। शिक्षको द्वारा विभिन्न प्रकार के नवाचारों के माध्यम से शिक्षण कार्य कर रहे । सुदूर ग्रामीण क्षेत्रों में स्थित विद्यालयों में उत्कृष्ट कार्य कर रहे शिक्षकों के लिये ढेरों साधुवाद देते हुए उन्होंने कहा कि इन्ही शिक्षकों के कारण ही बेसिक शिक्षा आज नई ऊंचाइयों को स्पर्श कर रही है। उत्तर प्रदेश को उत्तम प्रदेश की भूमिका बनाने में बेसिक शिक्षा विभाग की महत्वपूर्ण भूमिका रही है। सरकार द्वारा चलाये गए ऑपरेशन कायाकल्प से विद्यालयों में मूलभूत आवश्यकताओं की पूर्ति हुई है। आज से पहले गांव की सबसे बुरी इमारत सरकारी स्कूल हुआ करते थे वहीं आज गांव की सबसे अच्छी इमारत सरकारी विद्यालय होते हैं। ये परिणाम सरकार एवम शिक्षकों के सम्मिलित प्रयासों का ही परिणाम है।

कार्यक्रम के अंत मे बेसिक शिक्षा मंत्री ने प्रदेश भर के 148 शिक्षकों को एडूलीडर्स सम्मान के रुप मे स्मृति चिह्न व प्रमाण पत्र प्रदान किए। कार्यक्रम का संचालन ऋचा व मोहमद सदके ए हुसैन ने किया। अंत मे अतिथियों का आभार डॉ सर्वेष्ट मिश्र व बेसिक शिक्षा विभाग गोरखपर के जिला समन्वयक श्री विवेक जायसवाल ने किया। तकनीकी सहयोग विनीत पंवार व विमल आनद सहित एडूलीडर्स से जुड़े तमाम शिक्षकों ने किया।

       ➖    ➖    ➖    ➖    ➖

देश दुनिया की खबरों के लिए गूगल पर जाएं

लॉग इन करें : - tarkeshwartimes.page

सभी जिला व तहसील स्तर पर संवाददाता चाहिए

मो. न. : - 9450557628

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

लखनऊ में सैकड़ों अरब के कैलिफोर्नियम सहित 8 गिरफ्तार, 3 बस्ती के

समायोजन न हुआ तो विधानसभा पर सामूहिक आत्महत्या करेंगे कोरोना योद्धा

बस्ती पंचायत चुनाव मतगणना : अबतक घोषित परिणाम