बस्ती : बच्चा चुराकर बेचने वाली आशा व खरीददार सहित तीन गिरफ्तार

                          (अंकुर श्रीवास्तव)

बस्ती (उ.प्र.) । स्थानीय शहर के बीचोंबीच मालवीय मार्ग पर स्थित एस एस हास्पिटल से नवजात शिशु को आशा बहू द्वारा बेच दिये जाने के मामले में पुलिस ने आनन फानन में बच्चे की खरीद फरोख्त से जुड़े तीन लोगों को गिरफ्तार किया है। प्रसूता मां और आशा बहू आपस में रिश्तेदार भी हैं। बरामद बच्चे को उसके माता-पिता को दे दिया गया है। शहर कोतवाल शिवाकांत मिश्र की सक्रियता से मात्र चार घंटे में ही एस एस अस्पताल से अपह्रृत नवजात शिशु को बरामद कर एक पुरुष अभियुक्त व दो महिला अभियुक्ताओं को गिरफ्तार कर लिया गया है।

पुलिस अधीक्षक आशीष कुमार श्रीवास्तव द्वारा अपराध एवं अपराधियों के विरुद्ध चलाये जा रहे अभियान में अपर पुलिस अधीक्षक दीपेन्द्र नाथ चौधरी के निर्देशन में क्षेत्राधिकारी सदर शक्ति सिंह के पर्यवेक्षण में प्रभारी निरीक्षक कोतवाली शिवाकान्त मिश्र एवंं उनकी टीम ने वाल्टरगंज के मझौवामीर निवासी आशा बहू पूजा
पत्नी स्व. मनोज, रूधौली के अठदेउरा निवासी प्रमोद पाण्डेय उर्फ रिंकू पुत्र रामदेव एवं प्रीति पाण्डेय पत्नी मनोज पाण्डेय को गिरफ्तार कर लिया है। इन तीनों को कल बुधवार को दिन में 11 बजे वाल्टरगंज थाने के तेलियाडीह गांव से गिरफ्तार किया गया है। मामले में स्थानीय शहर कोतवाली में मुअसं. 322 / 2021 भादवि. की धारा 363, 365, 368 दर्ज किया गया है। गिरफ्तार करने वाली पुलिस टीम में प्रभारी निरीक्षक कोतवाली शिवाकान्त मिश्र, उ. नि. मुनीन्द्र त्रिपाठी, महिला उ.नि. किरन भाष्कर, का. चन्द्र प्रकाश मिश्र, मनीष कुमार यादव एवं महिला आरक्षी आराधना तिवारी शामिल रहीं।
 मामले में इन्द्रेश पुत्र रम्पत हरिजन ग्राम भरवलिया थाना वाल्टरगंज जनपद बस्ती ने थाना कोतवाल पर लिखित प्रार्थना पत्र दिया कि उसने अपनी पत्नी छाया को एस. एस. मेडिकल सेन्टर मालवीय तिराहा गंदा नाला पर डिलीवरी हेतु 14 सितम्बर को दिन में करीब 12 बजे भर्ती कराया, उसे करीब तीन बजे आपरेशन से बेटा पैदा हुआ। बेटा पैदा होने पर सभी लोग प्रसन्नचित्त व उत्साहित थे । हमारी दूर की रिश्तेदार पूजा जो आशाबहू का काम करती है वह भी आयी थी। बच्चे को वह उसकी माँ से लेकर खेला रही थी। बच्चे की माँ आपरेशन के कारण बेसुध हालत मे पड़ी थी। मौका पाकर पूजा ने बच्चे को गायब कर दिया और खुद महिला अस्पताल चली गयी। काफी तलाश किया गया परन्तु नवजात शिशु कहीं नही मिला ।

               पूछताछ का विवरण 

  पूछताछ में आशा बहू पूजा द्वारा बताया गया कि प्रमोद कुमार पाण्डेय व प्रीती पाण्डेय, जिनकी शादी करीब 15 वर्ष पहले हुई थी, लेकिन कोई बच्चा पैदा नहीं हुआ। प्रमोद पाण्डेय झाड़ फूंक व पूजा पाठ का काम करता है।  इसी दौरान प्रमोद पाण्डेय की मुलाकात आशा बहू पूजा से हुई, जिसने एक बच्चे की आवश्यकता के सम्बन्ध मे पूजा को बताया और पूजा ने उसको बच्चा देने के लिए वादा किया। 14 सितम्बर को पूजा ने प्रमोद कुमार पाण्डेय को फोन करके एस. एस. मेडिकल सेन्टर मालवीय तिराहा गंदा नाला बस्ती आने की बात कही और दोनो में वाट्सअप के माध्यम से चैटिंग भी हुआ। प्रमोद कुमार पाण्डेय से वार्ता कर बुलाया और बच्चे को चुराकर उसके सुपुर्द कर दिया। इसके लिए आशा बहू पूजा को पांच हजार रु. मिले, बाकी 45 हजार रूपये बाद मे देने की बात कही। प्रमोद कुमार पाण्डेय बोलेरो गाड़ी से बच्चे को लेकर अपने गांव चला गया वहां से अपनी पत्नी को लेकर ग्राम तेलियाडीह अपने मित्र के घर गया जहां आशाबहू पूजा की निशानदेही पर बच्चे सहित दोनों को गिरफ्तार कर लिया गया।

          ➖    ➖     ➖    ➖    ➖

देश दुनिया की खबरों के लिए गूगल पर जाएं

लॉग इन करें : - tarkeshwartimes.page

सभी जिला व तहसील स्तर पर संवाददाता चाहिए

मो. न. : - 9450557628

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

लखनऊ में सैकड़ों अरब के कैलिफोर्नियम सहित 8 गिरफ्तार, 3 बस्ती के

समायोजन न हुआ तो विधानसभा पर सामूहिक आत्महत्या करेंगे कोरोना योद्धा

बस्ती पंचायत चुनाव मतगणना : अबतक घोषित परिणाम