जयप्रकाश और अन्ना हजारे की तरह आंदोलन करें अखिलेश

 

                      (संजीव पाण्डेय) 

इटावा (उ.प्र.) । प्रदेश के लखीमपुर में सपा प्रत्याशी के साथ अभद्रता की घटना की निंदा करते हुए प्रगतिशील समाजवादी पार्टी (प्रसपा) अध्यक्ष शिवपाल सिंह यादव ने अपने भतीजे एवं समाजवादी पार्टी (सपा) अध्यक्ष अखिलेश यादव को नसीहत देते हुए कहा कि प्रदेश भर में प्रदर्शन करने के बजाय वह लखनऊ में समाजवाद के जनक जयप्रकाश नारायण तथा अन्ना हजारे की भांति आंदोलन की शुरुआत करें।

शिवपाल यादव ने बसरेहर मे पत्रकारों से बातचीत करते हुए कहा कि 2022 में जो सरकार बनेगी, उसकी चाबी प्रसपा के पास ही रहेगी। हमारे बिना कोई सरकार नहीं बना पाएगा। उन्होंने किसी दल का नाम लिए बगैर कहा कि हमारा गठबंधन किसी बड़े दल से जल्द होगा। अपनी कर्मस्थली जसवंतनगर विधानसभा क्षेत्र में तीन निर्विरोध तथा एक मतदान से चारों ब्लाक प्रमुख बनने पर कहा कि प्रसपा को क्षेत्र जनता ने अपार समर्थन दिया है। उन्होंने कहा कि मौजूदा दौर में फेसबुक, ट्विटर भी जरूरी हैं, लेकिन चुनाव जीतने के लिए धरातल पर जनसंपर्क भी बेहद जरूरी है। चुनाव की रणनीति मतदाताओं की इच्छा के अनुरूप बनाई जाती, है तभी सफलता मिलती है। ब्लाक प्रमुख चुनाव में प्रदेश में कई जगह हुई हिंसा को लेकर कहा कि सरकार अपने ही लोगों पर अंकुश लगाने में विफल रही जिससे अराजकता प्रकट हुई। इस गुंडागर्दी पर तत्काल प्रभाव से अंकुश लगना चाहिए अन्यथा हालात काफी भयावह होंगे।
शिवपाल सिंह यादव और अखिलेश यादव के बीच चल रहा कोल्ड वॉर लगातार जारी है। पिछले दिनों अखिलेश ने चाचा शिवपाल के लिए केवल जसवंतनगर सीट देने की बात कही है। इससे शिवपाल और उनके समर्थक खासे नाराज दिखाई दे रहे हैं। शिवपाल यादव पहले बोल चुके हैं कि उनकी पार्टी पूरे प्रदेश की 403 विधानसभा सीट पर अपने उम्मीदवार उतारेगी, लेकिन उनके समर्थकों का मत है कि अखिलेश और शिवपाल मिल कर यूपी विधानसभा का चुनाव मिल कर लड़ें तभी भाजपा को हरा पाएंगे।

    ➖      ➖      ➖      ➖     ➖

देश दुनिया की खबरों के लिए गूगल पर जाएं

लॉग इन करें : - tarkeshwartimes.page

सभी जिला व तहसील स्तर पर संवाददाता चाहिए

मो. न. : - 9450557628

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

बस्ती के पूर्व सीएमओ ने गंगा में लगाई छलांग

लॉक डाउन पूरी तरह खत्म

बस्ती जिले में 35 नये डॉ. तैनात