बस्ती : अपहरण का नाटक रचने वाला बालक बरामद, पुलिस ने परिजनों को सौंपा

 

                         (अनूप पाण्डेय)

बस्ती (उ.प्र.) । जिले के हर्रैया थानान्तर्गत नदायें निवासी बारह दिनों से लापता किशोर श्याम जी पुत्र काशीराम का पता चल गया है। पुलिस ने उसे लखनऊ के चारबाग से बरामद किया है। इस घटना से जिले में उस वक्त सनसनी फैल गयी थी, जब खबर मिली थी कि कुछ लोग आंख में पट्टी बांधकर पता नहीं कहाँ उठा ले गये हैं। यह एक जुलाई से लापता था। और हर्रैया थाने पर अपहरण का केस दर्ज था।

पुलिस अधीक्षक आशीष श्रीवास्तव के दिशानिर्देशन में अपर पुलिस अधीक्षक दिपेन्द्र नाथ चौधरी के पर्यवेक्षण में इस मामले को क्षेत्राधिकारी हर्रैया शेषमणि उपाध्याय हैंडल कर रहे थे। प्रभारी निरीक्षक हरैया बिन्देश्वरी मणि त्रिपाठी के नेतृत्व में उ. नि. आशुतोष शुक्ला ने पुलिस बल के साथ दो जुलाई को थाना हरैया जनपद बस्ती पर पंजीकृत मुअसं. 213 / 2021 भादवि. की धारा 363 से सम्बन्धित गुमशुदा 15 वर्षीय बालक श्यामजी पुत्र काशीराम निषाद ग्राम नदायें थाना हर्रैया जनपद बस्ती को तेरह जुलाई को होटल लक्ष्मी चारबाग, जनपद लखनऊ (उ.प्र.) में मजदूरी करते समय सकुशल बरामद कर उसके परिजनों को सुपुर्द किया गया। 

     घटना का संक्षिप्त विवरण

दिनांक 02.07.2021 को कांशीराम पुत्र दयाराम निवासी ग्राम नदायें थाना हरैया जनपद बस्ती द्वारा थाना हरैया जनपद बस्ती पर लिखित प्रार्थना पत्र दिया कि मेरा लड़का श्यामजी उम्र करीब 15 वर्ष दिनांक 01.07.2021 को मेरे साथ खेत में दोपहर के करीब 03:00 बजे तक काम किया, उसके बाद बिना कुछ बताये खेत से चला गया और जब वह शाम होने तक घर नही आया तो मै गांव के कुछ लोगों की मदद से इधर-उधर खोजने का प्रयास किया किन्तु मेरा लड़का नही मिला । दिनांक 02.07.2021 की सुबह को मेरे लड़के नें अपने मोबाइल नम्बर से फोन किया और बताया कि मुझे दो लोग मेरी आँख पर पट्टी बांधकर कहीं लेकर चले आये है, जिसके बारे मे मुझे पता नही चल रहा है कि मै कहाँ पर हूँ । जिसके सम्बन्ध में थाना हरैया जनपद बस्ती पर मुअसं. 213 / 2021 आईपीसी की धारा 363 पंजीकृत किया गया । 

       पूछताछ का विवरण

पूछताछ करने पर गुमशुदा बालक श्यामजी पुत्र काशीराम निषाद द्वारा बताया गया कि दिनांक 14.06.2021 को मेरे पिता जी ने भैंस बांधने को लेकर मारा पीटा था, तभी से मैने घर न रहने के लिए योजना बनाना शुरु कर दिया था और दिनांक 01.07.2021 को खेत मे काम करने के बाद समय लगभग 03.00 बजे साइकिल लेकर घर से रुपये 300/- लेकर थाना छावनी मे आकर एक पंचर बनाने वाली दुकान पर साइकिल खड़ा कर दिया तथा पंचर बनाने वाले दुकानदार को बताया कि मै अपने भाई को छोड़ने आया हूँ और कुछ समय बाद वापस आ रहा हूँ, उसके बाद वह आगे बढ़कर रुपये 150/- किराया देकर लखनऊ की बस पकड़कर लखनऊ पहुँच गया जहाँ से रुपये 30/- किराया देकर चारबाग आ गया।

दिनांक 02.07.2021 को अपने मोबाइल से घर वालों के पास फोन करके गुमराह किया कि मुझे दो लोग मेरी आँख पर पट्टी बांधकर कहीं लेकर चले आये है, जिसके बारे मे मुझे पता नही चल रहा है कि मै कहाँ पर हूँ । मै घर नही आना चाहता था इसलिए चारबाग होटल मे काम करने लगा एवं मोबाइल पुरानी व खराब होने के कारण बन्द हो गयी थी। मैं स्वेच्छा से स्वयं लखनऊ गया था। बरामद करने वाली पुलिस टीम में उनि. आशुतोष शुक्ला, हेका. रामपाल थाना हरैया जनपद बस्ती शामिल रहे। 

        ➖      ➖     ➖      ➖     ➖

देश दुनिया की खबरों के लिए गूगल पर जाएं

लॉग इन करें : - tarkeshwartimes.page

सभी जिला व तहसील स्तर पर संवाददाता चाहिए

मो. न. : - 9450557628

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

बस्ती के पूर्व सीएमओ ने गंगा में लगाई छलांग

लॉक डाउन पूरी तरह खत्म

बस्ती जिले में 35 नये डॉ. तैनात