बच्चे को देख पसीजा आरक्षी ममता चौहान का दिल, एसआई रिजवान ने की मदद तो मुस्काया बचपन

 

                        (अनूप पाण्डेय) 

हर्रैया (बस्ती) । थाने के बाहर कूड़ा करकट में रोजी तलाश रहे बच्चे को देख महिला आरक्षी ममता चौहान का दिल पसीज गया। उसे नहला धुला कर नये कपड़े पहनाए, खाना खिलाया और किताबें भी दीं। इस नेक कार्य में एसआई रिजवान ने भी भरपूर सहयोग किया। उनके इस नेक कार्य की क्षेत्र में चर्चा हो रही है।

महिला आरक्षी ममता चौहान थाना गौर जब पहरा ड्युटी करने बाद वापस लौट रही थीं, तब उन्होंने देखा कि एक लड़का जिसकी उम्र लगभग 12 वर्ष थी थाना गेट के बाहर कूड़ा बीन रहा है। जिसे देखकर महिला आरक्षी की मानवीय संवेदना जागृत हो गई। महिला आरक्षी ममता के द्वारा उस बच्चे से नाम पता पूछने पर अपना नाम अजीत पुत्र बूचे उम्र करीब 12 वर्ष निवासी ग्राम धोबहिया थाना गौर जनपद बस्ती बताया। तब महिला आरक्षी ममता चौहान ने उसे बुलाकर नहला धुला कर चाय नाश्ता कराया तथा गौर बाजार ले जाकर नए कपड़े दिलाए तथा उसे पहनाया।
बच्चे ने बताया कि वह लॉक डाउन के कारण स्कूल नहीं जा पा रहा है। माता - पिता के आय का साधन भी लॉकडाउन के कारण खत्म हो गया है। इसलिए वह कूड़ा बीन रहा है, जबकि उसका मन पढ़ने का है। तब महिला आरक्षी ममता चौहान ने लाकर उस बच्चे को नई किताबें प्रदान की। जिससे बच्चे के चेहरे पर मुस्कान आ गई। इस सम्पूर्ण कार्य में उपनिरीक्षक रिजवान अली का विशेष सहयोग रहा।

          ➖      ➖      ➖      ➖      ➖

देश दुनिया की खबरों के लिए गूगल पर जाएं

लॉग इन करें : - tarkeshwartimes.page

सभी जिला व तहसील स्तर पर संवाददाता चाहिए

मो. न. : - 9450557628

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

लखनऊ में सैकड़ों अरब के कैलिफोर्नियम सहित 8 गिरफ्तार, 3 बस्ती के

समायोजन न हुआ तो विधानसभा पर सामूहिक आत्महत्या करेंगे कोरोना योद्धा

बस्ती पंचायत चुनाव मतगणना : अबतक घोषित परिणाम