बस्ती : एंटीबॉडी टेस्ट शून्य होने पर एसीएमओ से जवाब तलब, एलटी के निलंबन की संस्तुति

 

                           (संतोष दूबे) 

बस्ती (सू.वि.उ.प्र.) । शुक्रवार को कप्तानगंज और गौर में शून्य सीरो टेस्ट पाये जाने पर जिलाधिकारी सौम्या अग्रवाल ने एसीएमओ डाॅ. सीएल कन्नौजिया का स्पष्टीकरण तलब किया है। कोविड-19 का सैम्पल बाॅक्स में भेजे जाने पर उन्होंने प्रभारी चिकित्साधिकारी को चेतावनी जारी करने का निर्देश दिया है। कुदरहा में वीटीएम वायल में सैम्पल ठीक ढंग से न लेने पर उन्होने वहां तैनात एलटी. के निलम्बन की कार्यवाही करने का निर्देश दिया है। सीएमओ डाॅ. अनूप कुमार ने उनके निलम्बन की महानिदेशक स्वास्थ्य सेवाएं को संस्तुति भेजा है। विकास भवन स्थित एकीकृत कमाण्ड एवं कंट्रोल सेण्टर में आयोजित समीक्षा बैठक में उन्होःने कहा कि कोविड-19 का सामना करने के लिए हम सभी को मिलजुल कर प्रयास करना होगा। जिले में कोविड-19 की स्थिति नियंत्रण में है। ऐसी स्थिति में किसी प्रकार की लापरवाही क्षम्य नही होगी।

उल्लेखनीय है कि शुक्रवार को सीरो सर्विलांस के अन्तर्गत 04 ब्लाक में एन्टीबाडी टेस्ट के लिए ब्लड सैम्पल एकत्र किया जाना था, इसके अन्तर्गत हर्रैया तथा दुबौलिया में 24-24 सैम्पल लिए गये परन्तु कप्तानगंज एंव गौर में एक भी सैम्पल नही लिया गया। सीरो सर्विलांस के अन्तर्गत कुछ कोरोना संक्रमित तथा कुछ कोरोना असंक्रमित लोगों का ब्लड सैम्पल लेकर जाॅच किया जायेगा। समीक्षा में डीएम ने पाया कि बार-बार निर्देश दिये जाने के बावजूद कोविड-19 का सैम्पल बाॅक्स में भरकर परसरामपुर द्वारा भेजा गया, जो कि मान्य नही है। इसी प्रकार कुदरहाॅ में भी लैब टेक्नीशियन द्वारा बिना नमूना लिए बी0टी0एम0 जाॅच के लिए भेज दिया गया। जिलाधिकारी ने इस लापरवाही के लिए परसरामपुर एम0ओ0आई0सी को चेतावनी देने तथा कुदरहाॅ के एल0टी0 को निलम्बित करने का निर्देश सीएमओ को दिया है। 
सौम्या अग्रवाल ने कोविड- 19 के टीकाकरण के लिए तैनात जिला स्तरीय अधिकारियों द्वारा कराये गये टीकाकरण की समीक्षा किया। इसमें सर्वाधिक 212 टीका जिला पंचायत राज अधिकारी द्वारा लगवाया गया। बेसिक शिक्षा अधिकारी द्वारा 146, जिला कार्यक्रम अधिकारी द्वारा 134, समाज कल्याण अधिकारी द्वारा 37, जिला पूर्ति अधिकारी द्वारा 31 टीके लगवाये गये। उन्होने अन्य अधिकारियों को निर्देश दिया कि अपने ग्राम स्तरीय कर्मचारियों के माध्यम से अधिक से अधिक टीका लगवाये। उन्होने बताया कि कोवैक्सीन का दूसरा डोज 28 दिन तथा कोवीशील्ड का दूसरा डोज 84 दिन पर लगेगा। उन्होने कहा कि उनके साथ तैनात सीएचओ टीका लगायेंगी। रजिस्टर मेनटेन करने का कार्य अधिकारी अपने कर्मचारी से करायेगे। हर दो घण्टे पर सीएचओ रजिस्टर पर दर्ज लोगों का नाम कम्प्यूटर आपरेटर को व्हाट्सएप द्वारा भेजेगे ताकि वे पोर्टल पर अपलोड करें। शाम को सीएचओ रजिस्टर द्वारा पोर्टल पर दर्ज लोगों का नाम मिलान करायेंगे।
 जिलाधिकारी ने कान्टैक्ट ट्रेसिंग, मेडिसिन वितरण, अन्ट्रेस्ड केस, पोर्टल पर फीडिंग, नये मरीजो को फैसेलिटी एलाटमेन्ट तथा कोविड अस्पतालों की व्यवस्था की समीक्षा किया। एसीएमओ डाॅ0 सीके वर्मा ने बताया कि मेडिसिन वितरण अब आशासंगिनी के माध्यम से किया जा रहा है। उमेश ने बताया कि अन्ट्रेस्ड केस शून्य है। विनय ने बताया कि सभी कोरोना संक्रमित व्यक्तियों का डाटा फीड कर लिया गया है। कान्टैक्ट ट्रेसिंग के बारे में सुधीर ने आवश्यक जानकारी दिया। उन्होंने बताया कि जिले में 45 वर्ष से अधिक आयु के लगभग 532850 लोग है। जिनमें से 146643 कुल 28 प्रतिशत लोगों को फस्र्ट डोज का टीका लग गया है। कुल 21882 कुल 15 प्रतिशत लोगों को सेकेण्ड डोज का टीका लगा है। प्रदेश में जिला टीकाकरण के मामले में 28वें स्थान पर है।
 सीडीओ डाॅ. राजेश कुमार प्रजापति ने कहा कि टीकाकरण के लिए तैनात सभी जिला स्तरीय अधिकारी बेहतर प्लानिंग के साथ क्षेत्र में जाये और अधिक से अधिक लोगों का टीकाकरण कराये। लोगों की भ्रान्तियों को दूर करें। बेसिक शिक्षा अधिकारी जगदीश शुक्ल ने बताया कि प्रातः कुल 82 होमआईसोलेटेड मरीजो से सम्पर्क किया गया, जिसमें से 66 से वार्ता हो पायी, शेष के संबंध में आशा एंव निगरानी समिति को अवगत कराया गया। बैठक में एसीएमओ डाॅ. फखरेयार हुसैन, डाॅ. सीके वर्मा, डाॅ. सोमेश श्रीवास्तव, डाॅ. संजय त्रिपाठी, पीडी कमलेश सोनी, संजेश श्रीवास्तव, डाॅ. एके कुशवाहा, हरेन्द्र मिश्र, डाॅ. आरके हलदार, डीएसओ रमन मिश्र एंव विभागीय अधिकारीगण उपस्थित रहें। 

            ➖     ➖     ➖     ➖     ➖

देश दुनिया की खबरों के लिए गूगल पर जाएं

लॉग इन करें : - tarkeshwartimes.page

सभी जिला व तहसील स्तर पर संवाददाता चाहिए

मो. न. : - 9450557628

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

बस्ती के पूर्व सीएमओ ने गंगा में लगाई छलांग

लॉक डाउन पूरी तरह खत्म

बस्ती जिले में 35 नये डॉ. तैनात