बस्ती : 5000 प्रति घंटा लेने वाले हास्पिटल का लाइसेंस निरस्त

 

                       (विशाल मोदी) 

 बस्ती (उ.प्र.) । वैश्विक महामारी कोरोना (कोविड - 19) की दूसरी लहर के भयंकर संक्रमण काल की आपदा को अवसर में बदलते हुए आक्सीजन लगाकर मरीजों से पांच हजार रुपये प्रति घंटा की उगाही करने वाले हैप्पी हास्पिटल का लाइसेंस रद्द कर दिया है। 

बीते छ: मई को मिली शिकायत पर जांच के बाद मिली तमाम अनियमितताओं और लापरवाही उजागर होने पर जिलाधिकारी सौम्या अग्रवाल के निर्देश पर सीएमओ ने हैप्पी हास्पिटल का लाइसेंस निरस्त कर दिया है। जिलाधिकारी बस्ती सौम्या अग्रवाल ने छ: मई को शिकायत मिलने पर अपर मुख्य चिकित्साधिकारी डॉ. फखरेयार हुसैन और उप जिलाधिकारी आशाराम वर्मा को जांच के आदेश दिए थे। त्वरित कार्रवाई करते हुए हुई जांच में कुछ भी ठीक नहीं था। एसडीएम बस्ती सदर एवं अपर मुख्य चिकित्सा अधिकारी बस्ती के निरीक्षण में वहां न कोई चिकित्सक, न कोई प्रशिक्षित हेल्थ वर्कर और न ही कोविड हेल्प डेस्क संचालित था।

हैप्पी हास्पिटल में जांच के समय वहां जीतीपुर की रहने वाली तहजीबुन्निशा पत्नी सैयद अंसारी भर्ती थी। अस्पताल में भर्ती इस मरीज को ऑक्सीजन दिया गया था। यहां तक कि मरीज का बीएचटी (Bead Head Ticket) तक नहीं बनायाा गया था यानि हवा में ट्रीीटमेंट किया जा रहा था। यहां तक कि मरीज की कोरोना जांच भी नहीं कराई गयी थी। जांच टीम द्वारा की गयी जांच में टीम को यहां घोर अनियमितता, अवैध धन उगाही और स्वास्थ्य विभाग द्वारा जारी निर्देश के अनुसार आपदा प्रबंधन अधिनियम का उल्लंघन पाया गया। जांच आख्या के पश्चात जिलाधिकारी सौम्या अग्रवाल के निर्देश पर सीएमओ ने हैप्पी हास्पिटल का लाइसेंस ही निलंबित कर दिया गया है। 

           ➖     ➖     ➖     ➖     ➖

देश दुनिया की खबरों के लिए गूगल पर जाएं

लॉग इन करें : - tarkeshwartimes.page

सभी जिला व तहसील स्तर पर संवाददाता चाहिए

मो. न. : - 9450557628

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

बस्ती के पूर्व सीएमओ ने गंगा में लगाई छलांग

लॉक डाउन पूरी तरह खत्म

बस्ती जिले में 35 नये डॉ. तैनात