बस्ती : मेडिसिन किट वितरण में लापरवाही उजागर, डीएम ने दी चेतावनी

                      (बृजवासी शुक्ल) 

बस्ती (सू.वि.उ.प्र.) । जिलाधिकारी सौम्या अग्रवाल ने कोरोना वायरस संभावित मरीजों को मेडिसिन किट वितरण में लापरवाही बरतने पर असंतोष व्यक्त किया है। उन्होंने भारत रत्न पंडित अटल बिहारी वाजपेई प्रेक्षागृह में आयोजित समीक्षा बैठक में सभी ब्लॉक स्तरीय प्रोसेसिंग मैनेजर को निर्देश दिया है कि वह स्वयं भी गांव में जाकर सत्यापन करें तथा रिपोर्ट दें। उन्होंने कहा कि सेक्टर मजिस्ट्रेट के निरीक्षण में यह पाया गया है कि आशाओं ने मरीजों को मेडिसिन किट न बांटकर अभी भी अपने घर पर रखे हुए हैं। इसकी पुष्टि शासन द्वारा नामित प्रमुख सचिव एवं नोडल अधिकारी के सल्टौआ ब्लॉक के कुछ गांव के निरीक्षण में भी हुआ है।


 जिलाधिकारी ने इस बात पर भी नाराजगी व्यक्त किया कि आशा कोविड कमांड एवं कंट्रोल सेंटर से फोन किए जाने पर फोन भी नहीं उठाती हैं। उन्होंने सभी बीसीपीएम को निर्देश दिया कि सभी आशा के मोबाइल में कोविड-19 सेंटर का लैंडलाइन एवं सीयूजी नंबर फीड कराना सुनिश्चित करें। उन्होंने कहा कि कमांड सेंटर द्वारा 802 होम आइसोलेटेड मरीजों से उनका कुशलक्षेम पूछने के लिए फोन किया गया। इसमें से 477 से वार्ता हो पाई। शेष ने फोन नहीं उठाया। उनका कुशलक्षेम जानने के लिए संबंधित आशाओं को फोन किया गया परंतु उनमें से कुछ ने फोन नहीं उठाया। यह स्थिति अत्यंत गंभीर है और दोबारा ऐसा पाए जाने पर उनके विरुद्ध कार्यवाही भी की जाएगी। उन्होंने कड़े निर्देश दिया है कि कोई भी आशा अपना मोबाइल स्विच ऑफ नहीं करेगी तथा दिए गए मेडिसिन किट को तत्काल संबंधित मरीज को उपलब्ध कराएगी। बीसीपीएम प्रत्येक दिन आशा के कार्यों की समीक्षा करेंगे तथा शिथिलता बरतने वाली आशाओं की सूची उपलब्ध कराएंगे। उन्होंने यह भी निर्देश दिया कि आशा अपने गांव की 45 वर्ष की आयु से अधिक व्यक्तियों की सूची तैयार करेंगी। इसमें टीकाकृत एवं गैर टीकाकृत व्यक्तियों का नाम अलग-अलग लिखा जाएगा। जिलाधिकारी ने निर्देश दिया है कि गांव में निवास कर रहे 10 वर्ष तक की आयु के बच्चों की सूची भी तैयार करेंगे तथा उन्हें विटामिन सी एवं विटामिन डी की गोलियां वितरित की जाएंगी। उन्होंने कहा कि जिन मरीजों से कंट्रोल रूम से वार्ता नहीं हो पाएगी इसकी सूची आशा को व्हाट्सएप से भेजी जाएगी और आशा उनके घर जाकर उनका कुशलक्षेम लेकर तत्काल कंट्रोल रूम को सूचित करेंगी। जिलाधिकारी ने बताया कि रेड क्रॉस सोसाइटी के माध्यम से सभी प्रभारी चिकित्साधिकारियों को 5-5 पल्स ऑक्सीमीटर उपलब्ध कराया जा रहा है। प्रभारी चिकित्साधिकारी आवश्यकतानुसार निगरानी समितियों या आशाओं को उपलब्ध कराएंगे तथा कार्य समाप्त होने पर इसे अपने कार्यालय में जमा भी कराएंगे ताकि आवश्यकता की दूसरी जगह पर इसे भेजा जा सके।

 जिलाधिकारी ने संतोष व्यक्त किया कि 3800 लोगों का टीकाकरण कराया गया। सीएमओ डॉ० अनूप कुमार ने बताया कि जिला अस्पताल, महिला अस्पताल तथा कैली सहित 14 सीएचसी पर टीकाकरण का कार्य कराया जा रहा है। उन्होंने कहा कि प्रथम डोज टीकाकरण के लिए ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन कराना अनिवार्य है। निर्धारित दिन एवं टीकाकरण केंद्र न पहुंचने पर दोबारा रजिस्ट्रेशन कराना अनिवार्य होगा। बैठक में सीडीओ डॉ० राजेश प्रजापति, सीएमएस डॉ० आलोक वर्मा, डॉ० सोमेश श्रीवास्तव, डॉ० फखरेयार हुसैन, डॉ० संजय त्रिपाठी, जगदीश शुक्ला, रमन मिश्र, डीएस यादव, आलोक राय, सुधीर यादव, दुर्गेश मल्ल, डॉ० आरके हलधर, डॉ० एके कुशवाहा तथा बीसीपीएम गण उपस्थित रहे।

          ➖     ➖     ➖     ➖     ➖

देश दुनिया की खबरों के लिए गूगल पर जाएं

लॉग इन करें : - tarkeshwartimes.page

सभी जिला व तहसील स्तर पर संवाददाता चाहिए

मो. न. : - 9450557628

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

लखनऊ में सैकड़ों अरब के कैलिफोर्नियम सहित 8 गिरफ्तार, 3 बस्ती के

समायोजन न हुआ तो विधानसभा पर सामूहिक आत्महत्या करेंगे कोरोना योद्धा

बस्ती पंचायत चुनाव मतगणना : अबतक घोषित परिणाम