बस्ती पहुंचे नोडल अधिकारी मुकेश कुमार मेश्राम ने निरीक्षण कर जाना जिले में कोरोना से उपचार व बचाव का हाल

 

                     (बृजवासी शुक्ल) 

बस्ती (सू.वि.उ.प्र.) । प्रदेश के प्रमुख सचिव पर्यटन एवं संस्कृति मुकेश कुमार मेश्राम ने कोविड-19 के नियंत्रण एवं रोकथाम के लिए गठित कोविड-19 कमांड एवं कंट्रोल सेंटर, विकास भवन तथा मेडिकल कॉलेज की चिकित्सा इकाई ओपेक कैली अस्पताल एल - 2 अस्पताल का निरीक्षण किया। व्यवस्थाओं पर संतोष व्यक्त करते हुए उन्होंने कोविड-19 के रोकथाम एवं बचाव के लिए आवश्यक सुझाव दिए। इस अवसर पर उनके साथ जिलाधिकारी सौम्या अग्रवाल, सीडीओ डॉ० राजेश कुमार प्रजापति, पीडी. कमलेश सोनी, एसडीएम सदर आशाराम वर्मा, बीएसए जगदीश शुक्ल, प्रधानाचार्य मेडिकल कॉलेज डॉ० नवनीत कुमार, डॉ०स्वाति तथा विभागीय अधिकारी उपस्थित रहे।

  निरीक्षण के क्रम में सबसे पहले उन्होंने कोविड-19 कमांड एवं कंट्रोल सेंटर का निरीक्षण किया। यहां पर उन्होंने सोशल डिस्टेंसिंग मेंटेन करने, नियमित रूप से मास्क लगाने तथा हाथों को सैनिटाइज करने का निर्देश दिया। उन्होंने कहा कि नियंत्रण कक्ष का कार्य अत्यंत महत्वपूर्ण है और यहां पर तैनात सभी अधिकारी, कर्मचारी की विशेष सुरक्षा हमारी प्राथमिकता है। कंट्रोल रूम में उन्हें कोविड-19 पेशेंट को फैसिलिटी अलॉटमेंट के बारे में उमेश ने आवश्यक जानकारी दिया। उन्होंने बताया कि 15 मई को प्राप्त 164 नए केस में 81 होम आइसोलेशन में है। प्रमुख सचिव ने कहा कि होम आइसोलेशन में रह रहे लोगों के लिए अटैच टॉयलेट के साथ अलग कमरा होना बेहद जरूरी है। उनका ऑक्सीजन लेवल नापने के लिए पल्स ऑक्सीमीटर तथा इंफ्रारेड थर्मोमीटर भी जरूरी है। यदि प्रत्येक मरीज को नहीं तो निगरानी समिति को यह उपलब्ध कराया जाए ताकि वह प्रतिदिन भ्रमण के दौरान उनका जांच कर सकें।
उन्होंने यूएनडीपी तथा यूनिसेफ के अधिकारियों को निर्देशित किया कि वह निगरानी समितियों के क्रियाकलापों को गुणवत्तापूर्ण मॉनिटरिंग करें। यूनिसेफ के आलोक राय ने बताया कि जिले में 64 आरआरटी टीम गठित है। यूएनडीपी के हरेंद्र मिश्रा ने बताया कि टीकाकरण का कार्य सुचारू रूप से संचालित किया जा रहा है। 17 मई से 18 वर्ष की आयु से ऊपर के लोगों के टीकाकरण के लिए 18000 नई वैक्सीन प्राप्त हो गई है जिसे टीकाकरण केंद्रों पर भेजा जा रहा है।
 जिलाधिकारी श्रीमती सौम्या अग्रवाल ने बताया कि 153000 लोगों को फर्स्ट डोज तथा 35900 को सेकंड डोज टीकाकरण किया जा चुका है। सेकंड डोज के लिए तिथि आने पर प्रत्येक व्यक्ति को फोन से तथा गांव में निगरानी समिति के माध्यम से टीका लगवाने के लिए रिमाइंडर किया जाता है। होम आइसोलेशन में रह रहे प्रत्येक मरीज से वार्ता करने के लिए कंट्रोल सेंटर में 5-5 अध्यापकों की ड्यूटी शिफ्टवार लगाई गई हैं। प्रमुख सचिव ने निर्देश दिया है कि टीका लगवाने के संबंध में भ्रांतियों को दूर करें, टीकाकरण को गंभीरता से लें तथा यह स्पष्ट करें कि टीका लगाने का कोई साइड इफेक्ट नहीं है।
उन्होंने बताया कि सरकार द्वारा गांव के राशन कार्ड धारक लोगों को खाद्यान्न दिया जा रहा है। प्रवासी कामगारों को तथा रेहड़ी, खोमचे लगाने वाले को रू० 1000 की आर्थिक सहायता भी प्रदान की जाएगी। इसके अलावा निराश्रित एवं वंचित लोगों को अंत्येष्टि के लिए रू० 5000 की आर्थिक सहायता भी की जा रही है। गांव एवं मोहल्लों में निगरानी समितियों के माध्यम से लोगों को इसकी आवश्यक जानकारी दी जाए।
ओपेक कैली अस्पताल में प्रमुख सचिव ने ऑक्सीजन सेंटर, कंट्रोल रूम, कोविड-19 वार्ड, तथा अन्य व्यवस्थाओं का निरीक्षण किया। उन्होंने निर्देश दिया कि वार्ड में सभी पैरामेडिकल स्टाफ पीपीई किट में ही जाएं। यदि किसी मरीज के साथ तीमारदार की अनुमति दी गई है तो वह भी पूरे सुरक्षात्मक उपाय के साथ वहां रहे। निरीक्षण के दौरान सीएमएस डॉ० सोमेश श्रीवास्तव, डॉ० जीएम शुक्ला, डॉ० अनिल यादव, उप जिलाधिकारी सदर आशाराम वर्मा, डॉ० विवेक, यूनिसेफ के आलोक राय, एवं अन्य डॉक्टर उपस्थित रहे।

            ➖     ➖     ➖     ➖     ➖

देश दुनिया की खबरों के लिए गूगल पर जाएं

लॉग इन करें : - tarkeshwartimes.page

सभी जिला व तहसील स्तर पर संवाददाता चाहिए

मो. न. : - 9450557628

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

लखनऊ में सैकड़ों अरब के कैलिफोर्नियम सहित 8 गिरफ्तार, 3 बस्ती के

समायोजन न हुआ तो विधानसभा पर सामूहिक आत्महत्या करेंगे कोरोना योद्धा

बस्ती पंचायत चुनाव मतगणना : अबतक घोषित परिणाम