बस्ती में 4500 दूसरी डोज और 1500 पहली डोज का होगा टीकाकरण : डीएम

                         (विशाल मोदी) 

बस्ती (सू.वि.उ.प्र.) । जिले में कुल उपलब्ध 6000 कोविड-19 वैक्सीन में से 4500 हजार, सेकंड डोज तथा डेढ़ हजार फर्स्ट डोज का टीकाकरण किया जाएगा। उक्त निर्देश जिलाधिकारी श्रीमती सौम्या अग्रवाल ने वर्चुअल माध्यम से अधिकारियों के साथ बैठक करते हुए दिया है। उन्होंने सभी उप जिलाधिकारियों तथा खंड विकास अधिकारियों को निर्देशित किया है कि लेखपाल एवं ग्राम सचिव के माध्यम से सेकंड डोज वाले व्यक्तियों को टीकाकरण केंद्र पर भिजवाना सुनिश्चित करें। उन्होंने बताया कि शासन स्तर से जिलों को उनके द्वारा उपयोग किए गए वैक्सीन की संख्या के आधार पर नया अलॉटमेंट किया जा रहा है। इसलिए यह आवश्यक है कि हम अधिक से अधिक वैक्सिंग का इस्तेमाल करें ताकि हमें अधिक एलॉटमेंट मिल सके। उन्होंने कहा कि पूर्व में निर्धारित सभी टीकाकरण केंद्रों पर प्रातः 10:00 बजे से सायं 4:00 बजे तक टीका लगाया जाएगा। सेकंड डोज के लाभार्थियों की सूची ई-मेल से सभी एसडीएम एवं बीडीओ को उपलब्ध कराई जाएगी। 

जिलाधिकारी ने कहा कि विशेषज्ञों का ऐसा मानना है कि फर्स्ट डोज के बाद सेकंड डोज लगना ज्यादा अनिवार्य है। उन्होंने कहा कि लेखपाल एवं ग्राम सचिव 45 वर्ष से ऊपर के लोगों को फर्स्ट डोज टीकाकरण के लिए भी केंद्र पर भेजेंगे। उन्होंने बताया कि 45 वर्ष से कम आयु के लोगों का टीकाकरण अभी नहीं कराया जा रहा है। शासन से अनुमति मिलने के बाद इसे भी शुरू किया जाएगा। उन्होंने 45 वर्ष से कम आयु के लोगों से अपील किया है कि शीघ्र ही बस्ती जनपद में भी उनका टीकाकरण शुरू किया जाएगा। 45 वर्ष से कम आयु के लोग अपना रजिस्ट्रेशन करा सकते हैं। जिलाधिकारी ने सभी प्रभारी चिकित्साधिकारियों को निर्देशित किया है कि टीका लगाने से पूर्व यह सुनिश्चित कर ले कि लाभार्थी को कोविड-19 के लक्षण नहीं है एवं इस बीच में वे कोरोना पॉजिटिव न हुए हो। डीएम श्रीमती अग्रवाल ने आयुर्वेद विभाग के फार्मासिस्ट रामनरेश त्रिपाठी द्वारा प्रभारी चिकित्सा अधिकारी हरैया के साथ दुर्व्यवहार किए जाने एवं ड्यूटी न ज्वाइन किए जाने को गंभीरता से लेते हुए उनके विरुद्ध एफआईआर दर्ज कराते हुए विभागीय कार्यवाही करने के लिए जिला आयुर्वेदिक चिकित्सा अधिकारी को निर्देशित किया है। उल्लेखनीय है कि श्री त्रिपाठी की ड्यूटी आरआरटी टीम में लगाई गई थी। इस संबंध में प्रभारी चिकित्साधिकारी द्वारा फोन पर उनसे वार्ता करने के दौरान उन्होंने दुर्व्यवहार किया तथा ड्यूटी पर आने से इनकार किया।
  जिलाधिकारी ने स्पष्ट किया है कि कोविड-19 महामारी के दौरान ड्यूटी न करने को गंभीरता से लिया जाएगा तथा इसके लिए कठोर कार्यवाही कराई जाएगी। जिलाधिकारी ने कहा है कि अगले 01 सप्ताह तक आरआरटी टीम प्रत्येक दिन प्रातः 8:00 बजे से फील्ड में जाएगी तथा कोविड-19 के संभावित मरीजों को कांटेक्ट ट्रेसिंग तथा सेंपलिंग करेगी। उल्लेखनीय है कि जिले में आरआरटी टीम की संख्या 29 से बढ़ाकर 65 कर दिया गया है। उनके लिए अलग से गाड़ियां उपलब्ध कराई गई हैं तथा लैब टेक्नीशियन, सफाई कर्मी एवं पुलिस कर्मी भी उपलब्ध कराए गए हैं। उन्होंने विश्वास व्यक्त किया है कि आरआरटी टीम द्वारा संचालित एक सप्ताह के अभियान में कोविड-19 की स्थिति में सुधार आएगा। बैठक में सीडीओ डॉ० राजेश कुमार प्रजापति, सीएमओ डॉ० अनूप कुमार, एसडीएम हरैया सुखबीर सिंह, एसडीएम भानपुर आनंद श्रीनेत, एसीएमओ फखरेयार हुसैन, कोविड कमांड एवं कंट्रोल सेंटर के अधिकारी, कर्मचारी तथा सभी प्रभारी चिकित्सा अधिकारी एवं खंड विकास अधिकारीगण ऑनलाइन जुड़े रहे।

            ➖        ➖      ➖     ➖     ➖

देश दुनिया की खबरों के लिए गूगल पर जाएं

लॉग इन करें : - tarkeshwartimes.page

सभी जिला व तहसील स्तर पर संवाददाता चाहिए

मो. न. : - 9450557628

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

लखनऊ में सैकड़ों अरब के कैलिफोर्नियम सहित 8 गिरफ्तार, 3 बस्ती के

समायोजन न हुआ तो विधानसभा पर सामूहिक आत्महत्या करेंगे कोरोना योद्धा

बस्ती पंचायत चुनाव मतगणना : अबतक घोषित परिणाम