बेटियों की उड़ान, निहारिका और शिवानी ने किया बस्ती का नाम

                    (विशाल मोदी) 

  बस्ती (उ.प्र.) । प्रतिभा किसी की मोहताज नहीं होती अभाव में रहते हुए भी व्यक्ति बड़ी से बड़ी सफलता हासिल कर सकता है। यह साबित कर दिखाया है बस्ती की दो बेटियों निहारिका और शिवानी ने। निहारिका समीक्षा अधिकारी तो शिवानी सहायक समीक्षा अधिकारी बनी हैं। निहारिका ने लोक सेवा आयोग द्वारा आयोजित उत्तर प्रदेश पीसीएस परीक्षा में सफलता प्राप्त कर उत्तर प्रदेश सचिवालय लखनऊ में 86वां स्थान प्राप्त कर समीक्षा अधिकारी पद पर चयनित हुईं। 

(निहारिका द्विवेदी) 

 कलवारी प्रतिनिधि आदर्श पाण्डेय की रिपोर्ट - विकास खण्ड कुदरहा के डेल्हवा गांव निवासी निहारिका द्विवेदी बचपन से ही प्रतिभाशाली रही। उन्होंने प्राथमिक से लेकर स्नातक तक हर कक्षा में अच्छा प्रदर्शन किया। निहारिका की प्रारंभिक शिक्षा दीक्षा अपने गांव के चंद्रशेखर आजाद विद्या विहार में हुई। इंटरमीडिएट की शिक्षा झिनकू लाल इण्टर कॉलेज से किया। उन्होंने स्नातक के प्रवेश परीक्षा में गोरखपुर विश्वविद्यालय में दूसरा स्थान, काशी हिंदू विश्वविद्यालय में सातवां स्थान और इलाहाबाद विश्वविद्यालय में 46 वां स्थान प्राप्त किया था। उन्होंने प्रयागराज विश्व विद्यालय से स्नातक की डिग्री हासिल की। अपनी धुन की पक्की निहारिका ने वर्ष 2016 में बस्ती तहसील में लेखपाल पद पर चयनित होकर पहली सफलता प्राप्त किया। लेखपाल पद पर सेवारत रहते हुए वर्ष 2019 में पुलिस उप निरीक्षक पद पर चयनित हुई। अपने कैरियर का ध्यान रखते हुए निहारिका ने लेखपाल की नौकरी करते हुए वर्ष 2016 में समीक्षा अधिकारी पद हेतु आवेदन किया। वर्ष 2020 में हुई परीक्षा का परिणाम सोमवार को आया। निहारिका ने पहली बार में ही परीक्षा उत्तीर्ण कर 86वें रैंक के साथ उत्तर प्रदेश सचिवालय लखनऊ में चयनित हुई। निहारिका के पिता नरेन्द्र द्विवेदी निजी विद्यालय में अध्यापक हैं और माता नीलम द्विवेदी एक निजी इंटरमीडिएट कॉलेज में वाइस प्रिंसिपल हैं। निहारिका की बड़ी बहन माधवी गृहिणी हैं। तो बड़े भाई अनुराग द्विवेदी मोकामा बिहार में सीआरपीएफ में असिस्टेंट कमांडेंट पद पर कार्यरत हैं। पच्चीस वर्षीय निहारिका ने बताया कि कड़ी मेहनत लगन और पूर्ण निष्ठा से किया गया कार्य सफलता का मार्ग प्रशस्त करता है। 

                   (शिवानी पाण्डेय) 
बस्ती शहर के मड़वा नगर निवासिनी चन्द्रबाला पाण्डेय की पुत्री शिवानी पाण्डेय का चयन सहायक समीक्षा अधिकारी राजस्व पद पर हुआ है। शिवानी ने राजस्व विभाग में प्रदेश में दूसरा स्थान प्राप्त हुआ है। पिता के निधन के बाद भी शिवानी का हौसला कम नहीं हुआ और लगातार लगन से उसने उपलब्धि हासिल किया। शिवानी इस सफलता का श्रेय गुरूजन, माता, परिजन और आशीष श्रीवास्तव (सामान्य अध्ययन) को देती है। शिवानी ने बताया कि आशीष श्रीवास्तव के मार्ग दर्शन में उसने पी.सी.एस. की तैयारी शुरू किया और उसके सफलता के द्वार खुलते चले गये। वह इसके पूर्व हाईडिल में एक्जीक्यूटिव अस्सिटेन्ट, यूनियन बैंक में राजभाषा अधिकारी एवं कैग में जुनियर हिन्दी ट्रांसलेटर पद पर सेवायें दे चुकी हैं।

           ➖    ➖    ➖    ➖    ➖

देश दुनिया की खबरों के लिए गूगल पर जाएं 

लॉग इन करें : - tarkeshwartimes.page

सभी जिला व तहसील स्तर पर संवाददाता चाहिए

मो. न. : - 9450557628

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

बस्ती के पूर्व सीएमओ ने गंगा में लगाई छलांग

लॉक डाउन पूरी तरह खत्म

बस्ती जिले में 35 नये डॉ. तैनात