मरीज लाने पर एम्बुलेंस कर्मी को डॉ. ने दी गाली, बुलडोजर चलवाने की धमकी, नतीजा शिफर

                      (अनूप पाण्डेय) 

लखीमपुर खीरी। एक ओर एम्बुलेंस कर्मचारी खुद इस कोरोना काल में भावनात्मक रूप से जुड़कर अपने जान की बाजी लगाकर सेवाएं देने के लिए डटे हुए हैं, वहीं दूसरी ओर इनकी उपेक्षा और अपमान करने से कुछ लोग बाज नहीं आ रहे हैं। उदाहरण की बात करें तो इटावा के शरद यादव इसकी नजीर हैं, जिन्होंने स्वयं अपनी ड्यूटी अतिसंवेदनशील गाजियाबाद में लगवाई। ऐसे कोरोना योद्धाओं के आदर की बात कौन करे, इन्हें अपमान का दंश झेलना पड़ रहा है। ताजा मामला लखीमपुर खीरी के सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र निघासन का है। देखें वीडियो : - 


 निघासन थाना थाना के अंतर्गत निघासन सीएचसी पर एम्बुलेंस सं. यूपी 32 बीजी 9047 पर रात 08.22 बजे एक मरीज के लिए बरोठा से फोन आया जिसका नाम ओम प्रकाश आयु 60 वर्ष था। मरीज अचेत अवस्था में पड़ा था। वहां के स्थानीय लोगों ने मरीज को अस्पताल पहुंचाने के लिए 108 नंबर पर कॉल किया।

            (कोरोना योद्धा शरद यादव - फाइल फोटो) 

एम्बुलेंस कर्मचारियों द्वारा गाड़ी लेकर वहां से मरीज को रिसीव करके सी एच सी निघासन ले जाया गया । वहां पर मौजूद डाक्टर अनिल वर्मा लावारिस मरीज को देखकर गाली गलौज करने लगे । साथ ही मौजूद एम्बुलेंस कर्मचारी के रूम में घुसकर वहां पर बैठ कर डॉक्टर साहब बोले कि जिस बिल्डिंग में रहते हो सुबह होते ही बिल्डिंग पर बुलडोजर चलवा दूंगा।

कर्मचारियों द्वारा डॉक्टर के खिलाफ जिलाधिकारी एवं मुख्य चिकित्सा अधिकारी को लिखित शिकायत की गई। यह प्रकरण जब ट्विटर पर चला तो लखीमपुर खीरी पुलिस के द्वारा प्रभारी निरीक्षक थाना निघासन को प्रकरण की जांच कर आवश्यक कार्रवाई हेतु निर्देशित किया गया। लेकिन शिकायतकर्ता का कहना है कि अभी तक इस मामले में ना तो एंबुलेंस कर्मचारियों से पूछताछ की गई और ना ही उन्हें इस मामले की किसी कार्रवाई से अवगत कराया गया। बड़ा सवाल यह है कि यह मात्र जांच आदेश था कि इस पर कोई कार्रवाई भी होगी।

          ➖     ➖     ➖     ➖     ➖

देश दुनिया की खबरों के लिए गूगल पर जाएं

लॉग इन करें : - tarkeshwartimes.page

सभी जिला व तहसील स्तर पर संवाददाता चाहिए

मो. न. : - 9450557628

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

बस्ती के पूर्व सीएमओ ने गंगा में लगाई छलांग

लॉक डाउन पूरी तरह खत्म

बस्ती जिले में 35 नये डॉ. तैनात