पत्रकार के भाई इफ्तेखार का निधन @ अठदमा नर्सरी

 

                        (नीतू सिंह) 

बस्ती (उ. प्र.)। पत्रकार मो. अयूब के बड़े भाई मो. इफ्तिखार खान का बीती रात इन्तेकाल हो गया। ये करीब पचपन साल के थे। इन्हें पहले से डायबिटीज और ब्लडप्रेशर की दिक्कत थी। बस्ती जिला अस्पताल में इनका कोविड टेस्ट भी कराया गया था, जिसमें इनकी रिपोर्ट निगेटिव आयी थी।

इफ्तेखार साहब बहुत मिलनसार और हंसमुख शख्स थे। हर किसी के साथ घुलकर दोस्ताना अंदाज में रहना इनकी फितरत थी। शहर में बैरिहवां चौराहे पर अठदमा नर्सरी के नाम से इनका अच्छा कारोबार है। मुश्किल से तीन चार दिन की खराब सेहत के बाद बीती रात इन्होंने दुनिया को अलविदा कह दिया। ये बहुत अच्छे और नेक दिल इंसान थे। इनके अचानक चले जाने से सभी जानने वाले हैरान हैं।
इफ्तेखार खान साहब अपने सभी जानने वालों की बड़ी फिक्र करते थे। इसीलिए लोग इनसे बहुत मोहब्बत रखते थे। ये अपने पीछे दो बेटी, एक बेटा और पत्नी सहित भरा पूरा परिवार छोड़ गये। इस घटना की जानकारी इफ्तेखार भईया के भतीजे फखरेआलम से मिली। बहुत दुख हुआ, जब उसने कहा चच्चा नहीं रहे। दिल को बहुत धक्का लगा। हम लोग उन्हें इफ्तेखार भईया ही कहते थे। ये हमारे बीच की रौनक थे। इनके निधन पर तारकेश्वर टाईम्स के सम्पादक आमोद उपाध्याय, पुनीत ओझा, जीशान हैदर रिजवी, सज्जाद रिजवी, मो. वसीम, तबरेज खान, पत्रकार एसपी श्रीवास्तव, देवेन्द्र पाण्डेय, संजय राय, अंकुर श्रीवास्तव, प्रेमनाथ गोंड विवेक श्रीवास्तव, विवेक पाल, राघवेन्द्र सिंह शूटर, रजनीश त्रिपाठी, राकेश गिरि, संदीप गोयल, जमाल अहमद शीबू भाई राम औतार यादव, जय प्रकाश उपाध्याय एवं अजय श्रीवास्तव सहित तमाम लोगों ने दुख व्यक्त करते हुए उनके परिवार को सहन शक्ति प्रदान करने की प्रार्थना की है।

            ➖     ➖     ➖     ➖     ➖

देश दुनिया की खबरों के लिए गूगल पर जाएं

लॉग इन करें : - tarkeshwartimes.page

सभी जिला व तहसील स्तर पर संवाददाता चाहिए

मो. न. : - 9450557628

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

रमंति इति राम: , राम जीवन का मंत्र

स्वतंत्रता आंदोलन में गिरफ्तार होने वाली राजस्थान की पहली महिला अंजना देवी चौधरी : आजादी का अमृत महोत्सव

निकाय चुनाव : बस्ती में नेहा वर्मा पत्नी अंकुर वर्मा ने दर्ज की रिकॉर्ड जीत, भाजपा दूसरे और निर्दल नेहा शुक्ला तीसरे स्थान पर