पीएम मोदी ने लगवाई कोरोना वैक्सीन Covaxin

               (बृजवासी शुक्ल) 

नई दिल्ली। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कोरोना वायरस टीके की पहली डोज लगवा ली है। टीकाकरण अभियान के दूसरे चरण का आगाज आज से हो रहा है। मोदी ने सुबह-सुबह एम्‍स पहुंचकर टीका लगवाया। सुब‍ह का वक्‍त इसलिए चुना गया ताकि आम जनता को परेशानी न हो। मोदी इस मौके पर असम का परंपरागत गमछा पहने हुए थे। वह पहले भी कई मौकों पर ऐसा गमछा पहने नजर आ चुके हैं। पीएम मोदी ने जो तस्वीर शेयर की है, उसमें वह मुस्‍कुराते हुए टीका लगवा रहे हैं। मोदी को वैक्‍सीन की पहली डोज दी गई है। दूसरी डोज 28 दिन बाद दी जाएगी।

पीएम मोदी ने आज ही क्‍यों लगवाई वैक्सीन ?

आज से 60 साल से ज्‍यादा उम्र के लोगों को टीका लगने की शुरुआत हो रही है। प्रधानमंत्री मोदी 70 साल के हैं और वे अब टीका लगवाने के योग्‍य हैं। इससे पहले तक, हेल्थ वर्कर्स और फ्रंटलाइन वर्कस को टीका लग रहा था। भारत में पिछले महीने जब टीकाकरण अभियान शुरू हुआ था, तब विपक्षी दलों ने सवाल उठाया था कि पीएम खुद वैक्‍सीन क्‍यों नहीं लगवा रहे हैं। मोदी ने अपनी बारी आने का इंतजार किया और फिर टीका लगवाया।

पीएम मोदी ने दिल्‍ली स्थित एम्स (एम्स) में वैक्‍सीन लगवाई। यहां पर भारत बायोटेक की बनाई Covaxin की खेप भेजी गई है। पीएम मोदी को भी इसी वैक्‍सीन का शॉट दिया गया है। बहुत सारे लोगों ने Covaxin को इमर्जेंसी यूज अप्रूवल दिए जाने पर सवाल खड़े किए थे। पीएम मोदी ने खुद यही वैक्‍सीन लेकर एक तरह से उन सवालों का जवाब देने की कोशिश की है। 

एम्स (AIIMS) में पीएम मोदी को सिस्‍टर पी निवेदा ने वैक्‍सीन लगवाई। सिस्‍टर निवेदा पुडुचेरी से आती हैं। तस्‍वीर में जो दूसरी नर्स नजर आ रही हैं, वह केरल से हैं। 

इन्हें लगेगा टीका

60 साल से ज्‍यादा उम्र वाले नागरिकों को आज से टीका लगेगा। इसके अलावा 45 साल से ज्‍यादा उम्र वाले ऐसे लोग जिन्‍हें पहले से बीमारी (को-मॉर्बिडिटीज) है जिनसे उन्‍हें कोविड-19 का ज्‍यादा खतरा है, वे भी टीका लगवा सकेंगे।

    रजिस्‍ट्रेशन कैसे कराएं ?

रजिस्‍ट्रेशन कराने के तीन तरीके हैं। आप ऐडवांस में सेल्‍फ रजिस्‍ट्रेशन करा सकते हैं। इसके अलावा ऑन द स्‍पॉट जाकर रजिस्‍टर कराने का भी विकल्‍प है। तीसरे विकल्‍प में सरकार खुद आपसे वैक्‍सीन के लिए संपर्क करेगी।

अगर आप टीकाकरण के योग्‍य हैं तो Co-WIN ऐप डाउनलोड कर खुद को रजिस्‍टर कर सकते हैं। इसके अलावा आरोग्‍य सेतु पर भी रजिस्‍टर किया जा सकता है। Co-WIN की वेबसाइट cowin.gov.in पर भी रजिस्‍ट्रेशन करा सकते हैं।

ऐप या वेबसाइट पर जाएं।

अपना मोबाइल नंबर डालें। एक OTP जाएगा।

OTP ऐंटर कर अपना अकाउंट बनाएं।

नाम, उम्र, लिंग भरें और एक पहचान पत्र अपलोड करें।

अगर आपकी उम्र 45 साल से ज्‍यादा है और को-मॉर्बिडिटी है तो उसका सर्टिफिकेट अपलोड करें।

टीकाकरण केन्द्र और समय चुनें। 

एक मोबाइल नंबर के जरिए 4 अपॉइंटमेंट्स ली जा सकती हैं।सीनियर सिटिजंस (60+ उम्र वाले) के लिए फोन से रजिस्‍ट्रेशन का विकल्‍प भी है। इसके लिए आपको कॉल सेंटर का नंबर 1507 डायल करना होगा।

ऑन-साइट रजिस्ट्रेशन : - अगर आप सेल्‍फ-रजिस्‍टर नहीं करा सकते तो नजदीकी कोविड टीकाकरण केंद्र पर जा सकते हैं। वहां आप खुद को रजिस्‍टर करा सकते हैं। एक वैध पहचान पत्र और को-मॉर्बिडिटी का सर्टिफिकेट (अगर लागू है तो) ले जाना न भूलें।

फेसिलेटेड रजिस्ट्रेशन : - यह तरीका राज्‍य और केंद्रशासित प्रदेशों की सरकारों के लिए है। टारगेट ग्रुप्‍स के लिए टीकाकरण की तारीख तय की जाएगी। स्‍वास्‍थ्‍य अधिकारी अपनी तरफ से कोशिश करेंगे कि सभी टारगेट ग्रुप्‍स को केंद्र तक लाया जाए। इसके लिए ASHA, ANM, पंचायती राज और महिलाओं के सेल्‍फ - हेल्‍प ग्रुप्‍स को यूज किया जाएगा। 

स्वास्थ्य मंत्रालय के मुताबिक, हर डोज के लिए किसी भी समय लाभार्थी के लिए केवल एक ही लाइव अपॉइंटमेंट होगा। किसी भी तारीख के लिए किसी कोविड टीकाकरण केंद्र के लिए अपॉइंटमेंट उस दिन दोपहर 3 बजे बंद कर दिए जाएंगे, जिसके लिए स्लॉट खोले गए थे। यानी अगर आप 1 मार्च को टीका लगवाना चाहते हैं सुबह 9 बजे से दोपहर 3 बजे तक अपॉइंटमेंट बुक कर सकते हैं, अगर स्‍लॉट खाली रहे हो।  

हालांकि 1 मार्च से ही आप भविष्‍य की किसी तारीख के लिए अपॉइंटमेंट बुक कर पाएंगे। दोनों डोज का टीकाकरण केंद्र एक ही होना चाहिए। लाभार्थी टीकाकरण पूरा होने तक अपने अपॉइंटमेंट में बदलाव या उसे कैंसल कर सकते हैं। दूसरी डोज के स्‍लॉट को पहली डोज के 29वें दिन से लेकर 42वें दिन तक बदलने का विकल्‍प मिलेगा। यदि कोई लाभार्थी पहली खुराक के लिए अपॉइंटमेंट रद्द करता है, तो दोनों खुराक की अपॉइंटमेंट रद्द कर दी जाएगी। 

         ये लगेंगे पहचान पत्र 

12 तरह के पहचान पत्रों को मान्‍यता दी गई है। आपसे रजिस्‍ट्रेशन के वक्‍त भी इनमें से एक की डीटेल ली जाएगी। बाद में टीकाकरण केंद्र पर आपको वही पहचान पत्र ले जाना होगा।

आधार कार्ड

वोटर आईडी

पासपोर्ट

ड्राइविंग लाइसेंस

PAN कार्ड

हेल्‍थ इंश्‍योरेंस स्‍मार्ट कार्ड

पेंशन डॉक्‍युमेंट

बैंक / पोस्‍ट ऑफिस पासबुक

मनरेगा जॉब कार्ड

MP/ MLA / MLC का आईडी कार्ड

सरकारी कर्मचारियों का सर्विस आईडी कार्ड

नैशनल पॉपुलेशन रजिस्‍टर के तहत जारी स्‍मार्ट कार्ड

यहां लगेगी कोरोना वैक्‍सीन

देशभर में लगभग 10,000 सरकारी अस्‍पतालों में टीकाकरण होगा। इसके अलावा आयुष्‍मान भारत के तहत आने वाले करीब 10 हजार निजी अस्‍पताल भी टीकाकरण केंद्र बनेंगे। सेंट्रल गवर्नमेंट हेल्‍थ स्‍कीम (CGHS) के तहत 687 निजी अस्‍पतालों में भी वैक्‍सीन दी जाएगी। इसके अलावा राज्‍य सरकार अपने यहां की स्‍वास्‍थ्‍य योजनाओं में आने वाले निजी अस्‍पतालों को टीकाकरण केंद्र बना सकती हैं। आपको वैक्‍सीन कहां दी जाएगी, यह आप सेल्‍फ रजिस्‍ट्रेशन के समय तय कर सकते हैं।

      वैक्‍सीन की कीमत 

केंद्र सरकार के मुताबिक, 10 हजार से ज्‍यादा सरकारी टीकाकरण केंद्रों पर वैक्‍सीन मुफ्त में दी जाएगी। अगर आप प्राइवेट अस्‍पताल में टीका लगवाते हैं आपको अधिकतम 250 रुपये प्रति डोज देना होगा। यानी मैक्सिमम 500 रुपये में वैक्‍सीन की दोनों डोज आपको लग जाएंगी। दिल्‍ली में 56 सरकारी केंद्रों के अलावा 136 निजी अस्‍पतालों में भी कोविड टीकाकरण होगा। टीकाकरण हफ्ते में छह दिन होगा।  

पीएम मोदी ने ऐसे वक्‍त में वैक्‍सीन लगवाई है, जब देश में कोविड के मामले फिर से बढ़ रहे हैं। साथ ही वैक्‍सीन को लेकर लोगों के मन में अब भी काफी हिचक है, खासकर कोवैक्‍सीन को लेकर। हमने ऐसी खबरें देखी हैं जिसमें हेल्‍थ और फ्रंटलाइन वर्कर्स के कोवैक्‍सीन लेने से इनकार की खबरें आई थीं। ऐसे में पीएम मोदी ने टीका लगवाकर यह संदेश देने की कोशिश की है कि कोवैक्‍सीन सेफ है। इससे जनता के बीच टीके की स्‍वीकार्यता बढ़ेगी।

           ➖    ➖    ➖    ➖    ➖

देश दुनिया की खबरों के लिए गूगल पर जाएं

लॉग इन करें : - tarkeshwartimes.page

सभी जिला व तहसील स्तर पर संवाददाता चाहिए

मो. न. : - 9450557628

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

लखनऊ में सैकड़ों अरब के कैलिफोर्नियम सहित 8 गिरफ्तार, 3 बस्ती के

बस्ती : ब्लॉक रोड पर मामूली विवाद में मारपीट, युवक की मौत

समायोजन न हुआ तो विधानसभा पर सामूहिक आत्महत्या करेंगे कोरोना योद्धा