बुर्के से दिलाएंगे मुक्ति

                  (विशाल मोदी) 

देश में मुस्लिम महिलाओं को बुर्के से भी मुक्ति दिलाई जाएगी। अनेक मुस्लिम देशों में बुर्के पर पाबंदी है और यह अमानवीय व्यवहार और कुप्रथा है - मंत्री आनंद स्वरूप शुक्ल

 लखनऊ । प्रदेश के संसदीय कार्य राज्यमंत्री आनन्द स्वरूप शुक्ल ने अजान पर बयान के बाद अब बुर्के को लेकर सवाल खड़े किए हैं। योगी सरकार के मंत्री ने बुर्के को अमानवीय व्यवहार और कुप्रथा करार देते हुए कहा कि देश में तीन तलाक की तर्ज पर मुस्लिम महिलाओं को बुर्के से भी मुक्ति दिलाई जाएगी। इससे पहले अजान को लेकर उन्होंने बलिया के डीएम को खत लिखकर विवाद को जन्म दिया था।

संसदीय कार्य राज्यमंत्री शुक्ल ने कहा, 'देश में मुस्लिम महिलाओं को बुर्के से भी मुक्ति दिलाई जाएगी। अनेक मुस्लिम देशों में बुर्के पर पाबंदी है और यह अमानवीय व्यवहार और कुप्रथा है।' उन्होंने इसके साथ ही कहा कि विकसित सोच वाले लोग न तो बुर्का पहन रहे हैं और न ही इसे बढ़ावा दे रहे हैं। मंत्री शुक्ल ने मंगलवार को बलिया में स्थित मस्जिदों में लाउडस्पीकर की ध्वनि नियंत्रित करने और लाउडस्पीकर को हटाने के लिए जिलाधिकारी को पत्र लिखा था। 
मंत्री आनंद स्वरूप शुक्ल ने अजान को लेकर अपने बयान पर कहा कि उन्होंने आम लोगों की शिकायत पर मस्जिद में लगाए गए ध्वनि विस्तारक यंत्र के कारण हो रही परेशानी का जिक्र करते हुए जिलाधिकारी को पत्र लिखा है। उन्होंने कहा कि तड़के चार बजे अजान शुरू हो जाती है और इसके बाद चंदे के संबंध में चार से पांच घंटे सूचना प्रसारित की जाती है। इस वजह से उन्हें पूजा-पाठ, योग, व्यायाम और शासकीय कार्य के निर्वहन में दिक्कत आती है।

        ➖    ➖    ➖    ➖    ➖

देश दुनिया की खबरों के लिए गूगल पर जाएं

लॉग इन करें : - tarkeshwartimes.page

सभी जिला व तहसील स्तर पर संवाददाता चाहिए

मो. न. : - 9450557628

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

बस्ती के पूर्व सीएमओ ने गंगा में लगाई छलांग

लॉक डाउन पूरी तरह खत्म

बस्ती जिले में 35 नये डॉ. तैनात