मोदी ने किया कार्यकर्ता का चरण स्पर्श, कहा - टीएमसी खेला शेष होबे

   

             (विशाल मोदी) 

 नई दिल्ली। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने पश्चिम बंगाल में एक चुनावी रैली में एक अनूठा नजारा दिखाया। कांठी में मंच पर पार्टी का एक कार्यकर्ता मोदी के पैर छूने आगे बढ़ा। मोदी भी पलटकर उनकी तरफ बढ़े और झुककर प्रणाम किया और उनके पैर छू लिए। बीजेपी ने यह वीडियो शेयर करते हुए इसे 'संस्‍कार का भाव' बताया। पार्टी ने आधिकारिक हैंडल से लिखा कि 'भाजपा एक ऐसा सुसंस्कृत संगठन है, जहां कार्यकर्ताओं में एक-दूसरे के प्रति समान संस्कार का भाव रहता है।' 

मोदी जनसभा को संबोधित करने मंच पर पहुंचे। इसके बाद उन्‍होंने वहां मौजूद नेताओं और जनता का अभिवादन किया। फिर कुर्सी पर बैठ गए। इसी बीच गमछा डाले एक कार्यकर्ता उनकी तरफ हाथ जोड़े बढ़ता है। दूसरी तरफ पीएम मोदी किसी को खड़े होकर नमस्‍कार करते हैं। जैसे ही वो फिर बैठते हैं, यह कार्यकर्ता उनके पैर छूने को बढ़ता है। मोदी उठ खड़े होते हैं और उन्‍हें हाथों से उठाने की कोशिश करते हैं और फिर उनके पैर छू लेते हैं। 
पीएम नमो ने कहा कि बंगाल का किसान भूल नहीं सकता, कि कैसे दीदी ने निर्ममता दिखाई है। दीदी ने आपको पीएम किसान सम्मान निधि से वंचित रखा। ये पैसे टीएमसी सरकार को किसानों तक नहीं पहुंचने देना था, ये पैसे दिल्ली से भारत सरकार किसानों के खाते में जमा करना चाहती थी लेकिन दीदी किसानों से दुश्मनी लेकर बैठ गई। किसानों के खाते में भारत सरकार के पैसे नहीं जाने दिए। मुख्‍यमंत्री ममता बनर्जी को आड़े हाथों लेते हुए रैली में मोदी ने कहा, "दीदी आजकल मेदिनीपुर में आकर बार-बार बहाने बना रही हैं। दीदी उन बहनों, उन परिवारों को जवाब नहीं दे पाईं जिनको पहले अम्फान ने तबाह किया और फिर तृणमूल के टोलाबाज़ों ने लूट लिया। यहां केंद्र सरकार ने जो राहत भेजी थी, वो 'भाइपो विंडो' में फंस गई। जब जरूरत होती है तो तब दीदी दिखती नहीं, जब चुनाव आता है तो कहती हैं- सरकार दुआरे-दुआरे! यही इनका खेला है। पश्चिम बंगाल, यहां का बच्चा-बच्चा, ये खेला समझ गया है। 
प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी लगातार बंगाल में रैलियां कर रहे हैं। बुधवार को वह बंगाल के मेदिनीपुर पहुंचे और यहां एक बार फिर से ममता बनर्जी पर सीधे निशाना साधा। पीएम ने ममता बनर्जी की चुनावी टैगलाइन 'खेला होबै' को लेकर हमला बोला। उन्होंने कहा, 'दीदी ओ दीदी... आज पश्चिम बंगाल पूछ रहा है कि अम्फान की राहत किसने लूटी? गरीब का चादर किसने लूटा?' पीएम ने कहा कि जब जरूरत होती है तो तब दीदी दिखती नहीं, जब चुनाव आता है तो कहती हैं- सरकार दुआरे-दुआरे! यही इनका खेला है। पश्चिम बंगाल, यहां का बच्चा-बच्चा, ये खेला समझ गया है। मोदी ने कहा,'आज यहां की तस्वीर अगर देख सकती हो तो देख लो। बंगाल की स्वाभिमानी महिलाओं ने तय कर दिया है- टीएमसी खेला शेष होबे, विकास आरंभ होबे। बंगाल के हर घर से, हर मुंह से एक ही आवाज आ रही है...दो मई दीदी जाछे, आसोल परिवर्तन आछे।'

         ➖    ➖    ➖    ➖   ➖

देश दुनिया की खबरों के लिए गूगल पर जाएं

लॉग इन करें : - tarkeshwartimes.page

सभी जिला व तहसील स्तर पर संवाददाता चाहिए

मो. न. : - 9450557628

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

लखनऊ में सैकड़ों अरब के कैलिफोर्नियम सहित 8 गिरफ्तार, 3 बस्ती के

समायोजन न हुआ तो विधानसभा पर सामूहिक आत्महत्या करेंगे कोरोना योद्धा

बस्ती पंचायत चुनाव मतगणना : अबतक घोषित परिणाम