कोविड टीकाकरण के प्रति स्वास्थ्यकर्मियों में उत्साह, सतर्कता जरूरी : सीएमओ

           (रमेन्द्र विक्रम पाण्डेय) 

करीब 6000 स्वास्थकर्मियों को अभी लगनी है कोविड टीके की पहली डोज,15 फरवरी को मॉप अप राउंड में न चूकने की अपील, जिन्हें टीके की पहली डोज लग चुकी है और जिन्हें नहीं लगी है दोनों को रहना होगा सतर्क, मॉप अप राउंड के दिन ही 310 स्वास्थ्यकर्मियों को टीके की दूसरी डोज भी दी जाएगी

गोरखपुर। मुख्य चिकित्सा अधिकारी डॉ. सुधाकर पांडेय ने जिले में कोविड टीकाकरण के प्रथम चरण में स्वास्थ्यकर्मियों द्वारा दिखाए गए उत्साह की प्रशंसा करते हुए कहा है कि अभी कोविड-19 के प्रति सतर्कता बहुत आवश्यक है। उन्होंने टीके की पहली डोज न लेने वाले जिले के करीब 6000 स्वास्थ्यकर्मियों से अपील की है कि वह 15 फरवरी को मॉप अप राउंड के दौरान टीका अवश्य लगवा लें। साथ ही यह भी कहा है कि जिन्हें टीका लगा है और जिन्हें टीका नहीं लगा है, उन दोनों लोगों को अभी सतर्क रहना होगा। दो गज की दूरी, मॉस्क, हाथों की स्वच्छता के नियमों का पालन करना होगा। उन्होंने बताया कि 15 फरवरी को मॉप अप राउंड के दौरान ही 310 स्वास्थ्यकर्मियों को टीके की दूसरी डोज भी दी जाएगी। 

मुख्य चिकित्सा अधिकारी ने बताया कि जिला प्रतिरक्षण अधिकारी डॉ. नीरज कुमार पांडेय की देखरेख में जिले के 31 टीकाकरण केंद्रों के 38 बूथ पर प्रत्येक गुरूवार और शुक्रवार को कोविड टीकाकरण सत्र आयोजित किये जा रहे हैं। टीकाकरण और कोविड के घटते मामलों के बावजूद सतर्कता का व्यवहार जारी रखना होगा। उन्होंने बताया कि टीकाकरण के पहले चरण में लक्षित 24732 स्वास्थ्यकर्मियों के सापेक्ष 70 फीसदी स्वास्थ्यकर्मियों ने टीके लगवा लिये हैं। टीके का कोई भी प्रतिकूल असर सामने नहीं आया है और न ही भविष्य में इसका कोई प्रतिकूल असर सामने आने की आशंका है। टीका पूरी तरह से सुरक्षित है और वह खुद टीका लगवा कर यह अनुभव कर चुके हैं।  

उन्होंने बताया कि इस समय जिले में टीकाकरण का दूसरा चरण चल रहा है, जिसमें अंग्रिम पंक्ति के लोग जैसे पुलिस विभाग, राजस्व विभाग, पंचायती राज विभाग, नगर निकाय के अधिकारियों और कर्मचारियों को टीके लगाये जा रहे हैं। इन विभागों से समन्वय बना कर करीब 20 हजार अंग्रिम पंक्ति के लोगों का टीकाकरण होना है। सत्र के पहले दिन 152 लोगों का टीकाकरण कर दूसरे सत्र की सांकेतिक शुरूआत की गयी है। उन्होंने अंग्रिम पंक्ति के लोगों से अपील की कि जब भी उन्हें टीका लगवाने का संदेश मिले, समय निकाल कर इस मौके का सदुपयोग अवश्य करें। टीका लगवाने के बाद भी सतर्कता जारी रखें।

निर्धारित स्थान पर ही लग रहा टीका

जिला प्रतिरक्षण अधिकारी डॉ. नीरज कुमार पांडेय ने बताया कि टीकाकरण उन्हीं लाभार्थियों का हो रहा है जिनका नाम कोविन पोर्टल में अपलोड है। ऐसे लोगों को संदेश जाता है जिसमें टीकाकरण के लिए निर्धारित स्थान और समय की भी जानकारी होती है। पहले से पंजीकृत लोगों को छोड़ कर अभी किसी को टीकाकरण की सुविधा नहीं दी जा रही है। शासन से समय-समय पर प्राप्त दिशा-निर्देशों के अनुसार टीकाकरण किया जा रहा है।

दूसरे डोज का है इंतजार

टीकाकरण करवा चुके स्वास्थकर्मी दूसरी डोज के लिए शिद्दत से इंतजार कर रहे हैं। जिला क्वालिटी सेल में सहायक विजय श्रीवास्तव का कहना है कि टीके का कोई प्रतिकूल प्रभाव उन्हें महसूस नहीं हुआ, बल्कि उनका आत्मविश्वास बढ़ा है। इसके बावजूद वह लापरवाही बिल्कुल नहीं करते हैं, अब भी मॉस्क का इस्तेमाल करते हैं और हाथों की साफ-सफाई के प्रति विशेष तौर पर सतर्क रहते हैं। दूसरी डोज के बाद भी वह सतर्कता जारी रखेंगे ताकि प्रतिरोधक क्षमता बढ़ने तक कोविड से खुद बचे रहें और समाज को भी बचा सकें।

        ➖    ➖    ➖    ➖    ➖

देश दुनिया की खबरों के लिए गूगल पर जाएं

लॉग इन करें : - tarkeshwartimes.page

सभी जिला व तहसील स्तर पर संवाददाता चाहिए

मो. न. : - 9450557628

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

अयोध्या : नहाते समय पत्नी को किस करने पर पति की पिटाई

बस्ती : पत्नी और प्रेमी ने बेटी के सामने पिता को काटकर मार डाला, बोरे में भरकर छिपाई लाश

नवनिर्वाचित विधायक और समर्थकों पर एफआईआर