बस्ती : फर्जी पोर्टल से रेलवे को करोड़ों का चूना लगा अकूत सम्पत्ति बनाने वाले ठग गिरफ्तार

                 (बृजवासी शुक्ल) 

बस्ती (उ.प्र.) । रेड मिर्ची और एएनएमएस साफ्टवेयर बना कर बेचने और रेलवे को करोड़ों का चूना लगाकर अकूत सम्पत्ति बनाने वाले हामिद अशरफ गैंग के दो खास शातिर ठगों को बस्ती पुलिस, रेलवे और सीआईबी की टीम ने गिरफ्तार कर बड़ी सफलता हासिल की है। इनके पास से लैपटॉप, आधा दर्जन मोबाइल फोन, आधार, एटीएम, पैन क्रेडिट कार्ड और चेक बुक बरामद किया गया।   

पुलिस अधीक्षक हेमराज मीना ने बताया कि हामिद अशरफ गैंग के दो प्रमुख सदस्यों कप्तानगंज थाने के रमवापुर कला निवासी जमीरूलहसन उर्फ लल्ला पुत्र स्व. फकरूलहसन एवं भदोही जिले के थाना सुरियावां के मो. गल्ला मंडी ज्ञानपुर रोड निवासी योगेन्द्र विश्वकर्मा पुत्र केशव प्रसाद विश्वकर्मा को मुरादीपुर चौराहा कस्बा हर्रैया बस्ती के पास से कल यानि चार जनवरी को सायं करीब साढ़े सात बजे गिरफ्तार किया गया। लल्ला की की उम्र करीब पचास वर्ष है और यह गिरोह के सरगना हामिद अंसारी का पिता है। जबकि दूसरा योगेन्द्र विश्वकर्मा की उम्र करीब उनतीस वर्ष है। इन दोनों के पास से एक बिना न. की आल्टो कार, एक लैपटॉप, छ: मोबाईल, तीन फर्जी आधार कार्ड, एक ड्राइविंग लाइसेन्स, पैन कार्ड, आधार कार्ड, व डेबिट कार्ड एक्सिस बैंक एवं अन्य दस्तावेज, आईसीआईसीआई बैंक में जमिरुलहसन स्वयं व इनकी पत्नी एवं बच्चियों के नाम बाण्ड कुल कीमत करीब 60 लाख रुपये, विभिन्न बैंको के कुल 18 खातों में कुल 30 लाख रुपये जिन्हे जब्त कराया जा रहा, इनके पास बुक व चेक बुक 15 अदद बरामद हुए हैं जिन्हें फ्रीज कराया जा रहा है। रजिस्ट्री व जमीन के कागजात कुल 73 पन्ना भी बरामद किया गया है।   

बता दें कि करीब एक माह पूर्व आठ दिसम्‍बर को ई - टिकट के रेडमिर्ची / एएनएमएस सॉफ्टवेयर बेचने वाले गिरोह की गिरफ्तारी थाना हरैया बस्ती में हुई थी और मामले में मुअसं. 269 / 19 भादवि की धारा 419, 420, 467, 468, 471 तथा 43, 65, 66, 66सी,66डी व 70 आई टी एक्ट पंजीकृत है। विवेचना के दौरान पाया गया कि उक्त गैंग के सरगना हामिद असरफ निवासी रमवापुर कला कप्तानगंज बस्ती के द्वारा ई -टिकट साफ्टवेयर को ऑनलाइन सम्पूर्ण भारत मे बेच कर पैसों को विभिन्न फर्जी पोर्टल व बैंक खातों के माध्यम से अपने की साथियों के साथ मिलकर अर्जित धनराशिं को अपने पिता, मामा एवं अन्य रिश्तेदारों के नाम से सम्पत्तियां क्रय की हैं।  
पुलिस अधीक्षक हेमराज मीना ने बताया कि इस सम्पूर्ण कार्य में फर्जी पोर्टल अकाउन्ट खोलने के लिये कूट रचित दस्तावेज एवं मोबाइल सिम आदि को इनके साथियों तथा पारिवारिक सदस्यों के सहयोग से उपलब्ध कराये जाते हैं। प्राप्त धनराशि का उपयोग हामिद अशरफ एवं इनके पिता जमीरुल हसन उर्फ लल्ला एवं मामा वसीम अन्सारी के द्वारा किया जाता है। इस गैंग का गिरफ्तार अभियुक्त योगेन्द्र विश्वकर्मा पुत्र ओम प्रकाश विश्वकर्मा एक प्रमुख सदस्य है। इन लोगों ने मिलकर संयुक्त रूप से एक कम्पनी केवाईआर ब्राडबैंड प्रा. लि. भी खोली है। इस कम्पनी के माध्यम से अपनी अवैध सम्पत्ति को वैध किये जाने का कार्य किया जाना था। यह हामिद अशरफ के रेडमिर्ची / एएनएमएस सॉफ्टवेयर को सम्पूर्ण भारत में ऑनलाइन सुपरसेलर, पैनल एजेंट के जरिये टिकट एजेंटों को बेचकर पैसों को विभिन्न डिजिटल तरीके से स्मार्टशाप के माध्यम से पोर्टल खातों में ट्रांसफर कर अपने स्वयं के खाते व गोल्ड मीडिया नामक कम्पनी (जो योगेन्द्र विश्वकर्मा के नाम से है) के माध्यम से हामिद अशरफ के बैंक खाते में भेजी जाती थी, तथा विभिन्न श्रोतों से प्राप्त अवैध नगद धनराशि हामिद अशरफ के पिता जमीरुल हसन उर्फ लल्ला एवं मामा वसीम अन्सारी को बस्ती लाकर इनके घर पर दिया जाता था। योगेन्द्र विश्वकर्मा द्वारा विगत 02 वर्षो में काफी धनराशि, नगद प्रत्येक माह 30 से 50 लाख रुपये दिया जाना बताया गया है। गिरफ्तार जमीरुलहसन उर्फ लल्ला द्वारा इस धनराशि का उपयोग स्वंय के नाम तथा अपने परिवारजनों एवं रिश्तेदारों के नाम बस्ती एवं मुम्बई मे जमीन व मकान क्रय किया जाना स्वीकार किया गया है। 

 अभियुक्त द्वारा निम्नलिखित अचल सम्पत्तियां क्रय किया जाना बताया गया है : - 

1 : - अहमदनगर (मुम्बई) में प्लाट 7000 वर्गफिट जिसकी कीमत करीब 02 करोड़ रुपये।

2 : - घनसैनी थाणे (मुम्बई) में फ्लैट कीमत करीब 01 करोड़ रूपये।

3 : - कप्तानगंज बस्ती में मछली मण्डी के पास जमीन करीब 5 विस्वा जमीन कीमत करीब 25 लाख रुपये।

4 : - बस्ती टोल प्लाजा के पास जमीन कीमत करीब 25 लाख रुपये

5 : - एचएमडी माल जो कस्बा कप्तानगंज में बना है जिसकी लागत करीब 3 करोड़ है। 

6 : - कठार जंगल में कुल 15 बीघा जमीन कीमत करीब 1.25 करोड़ रूपये ।

7 : - वायरलेस चौराहा कस्बा कप्तानगंज से थाने की तरफ जाने वाली रोड पर 12 विस्वा जमीन व व्यवसायिक दूकानें कीमत करीब 02 करोड़ रूपया।

8 : - रमवापुर कला में 08 बिस्वा जमीन कीमत 25 लाख रुपया।

9 : - कप्तानगंज कस्बे में किराना मार्ट कीमत करीब 50 लाख रुपया ।

10 : - बनकटा मिश्र में जमीन ढाई बीघा कीमत 01 करोड़ रुपये ।

11 : - ग्राम रमवापुर में एक मुर्गी फार्म हाऊस कीमत 10 लाख रुपये ।

आपराधिक इतिहास अभियुक्त योगेन्द्र विश्वकर्मा : - 

1 : - मुअसं. 269/19 अंतर्गत धारा 419, 420, 467, 468, 471 आईपीसी तथा 43, 65, 66, 66 सी, 66 डी, 70 आईटी एक्ट थाना हरैया जनपद बस्ती ।

2 : - मुअसं. 261 / 20 धारा 143 रेलवे एक्ट आरपीएफ बस्ती । 

3 : - मुअसं. 2533 / 2019 धारा 143 रेलवे एक्ट आरपीएफ गोण्डा ।  एसपी बस्ती हेमराज मीना द्वारा दी गयी जानकारी का वीडियो देखने के लिए ब्लू लिंक को क्लिक करें : -  https://youtu.be/f5JnXPk0gfg

गिरफ्तारी व बरामदगी करने वाली पुलिस टीम में निरीक्षक कपिल मुनि सिंह अपराध शाखा बस्ती, आरपीएफ निरीक्षक बस्ती नरेन्द्र यादव मय टीम, निरीक्षक दशरथ प्रसाद सीआईबी. गोरखपुर मय टीम, थानाध्यक्ष हर्रैया सर्वेश राय मय टीम, थानाध्यक्ष कप्तानगंज राजकुमार पाण्डेय मय टीम, उनि. जितेन्द्र सिंह सर्विलांस टीम बस्ती एवं एएसआई. रविन्द्र सिंह आरपीएफ पोस्ट बस्ती शामिल रहे।

             ➖    ➖    ➖    ➖    ➖

देश दुनिया की खबरों के लिए गूगल पर जाएं

लॉग इन करें : - tarkeshwartimes.page

सभी जिला व तहसील स्तर पर संवाददाता चाहिए

मो. न. : - 9450557628

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

नवनिर्वाचित विधायक और समर्थकों पर एफआईआर

बस्ती : ब्लॉक रोड पर मामूली विवाद में मारपीट, युवक की मौत

समायोजन न हुआ तो विधानसभा पर सामूहिक आत्महत्या करेंगे कोरोना योद्धा