दिल्ली में ट्रैक्टर रैली में किसान बेकाबू, भारी उपद्रव के बीच लालकिले पर लगाया झंडा

                 (बृजवासी शुक्ल) 

नई दिल्ली। नये कृषि कानूनों को वापस लेने की मांग को लेकर चल रहे किसान आन्दोलन की ट्रैक्टर रैली में आज किसान बेकाबू हो गये। उग्र प्रदर्शनकारियों ने लाल किले पर अपना झंडा लगा दिया। एक प्रदर्शनकारी की ट्रैक्टर कलाबाजियां करते हुए उपद्रव करते समय ट्रैक्टर पलट जाने के कारण उसकी मौत हो गई। पुलिस और प्रदर्शनकारियों में भिड़ंत हो गई। इस बेकाबू उपद्रव में तिरासी पुलिसकर्मी भी घायल हो गये हैं, जिन्हें अस्पतालों में भर्ती कराया गया है। प्रदर्शनकारी मुंह पर कपड़ा बांधे और हाथों में हथियार लिए नजर आए।  

  राजधानी दिल्ली की सीमाओं पर नए कृषि कानून के खिलाफ दो महीने से आंदोलन कर रहे किसानों ने आज दिल्ली में ट्रैक्टर रैली निकाली। ट्रैक्टर रैली के दौरान कई जगह किसान आंदोलन बेकाबू हो गया। किसानों ने पुलिस की ओर से लगाए गए बैरिकेड्स को तोड़ दिल्ली में घुसकर लाल किले पर अपना झंडा फहरा दिया। राजधानी में कुछ जगहों पर किसानों और पुलिसकर्मियों के बीच जमकर भिड़ंत भी हुई।  

दिल्ली में किसानों की ट्रैक्टर रैली आज उग्र हो गया। आईटीओ पर बवाल के बीच कई किसान लाल किले पर पहुंच गए हैं। करीब दो दर्जन ट्रैक्टरों पर सवार सैकड़ों किसान लाल किला परिसर में पहुंच गए, जहां उन्होंने हंगामा शुरू कर दिया। इसके साथ ही संगठन का झंडा फहरा दिया गया है। यह झंडा वहां फहराया गया है, जहां 15 अगस्त को प्रधानमंत्री तिरंगा फहराते हैं। मौके पर दिल्ली पुलिस के जवान भी पहुंच गए हैं।  

पुलिस मुख्यालय से कुछ दूरी पर किसानों का गुस्सा फूट पड़ा। वहां पुलिस की बस को प्रदर्शनकारी किसानों ने ट्रैक्टर से धक्का मारा ताकि उसे सड़क से हटाया जा सके। पुलिस वाले उन्हें समझाते रहे। हालात बेकाबू होने के बाद पुलिस को लाठियां भांजनी पड़ी। पुलिस ने कुछ प्रदर्शनकारियों को गिरफ्तार कर लिया है । लाल किले पर किसानों के प्रदर्शन के दौरान कुछ प्रदर्शनकारियों के हाथों में सीपीएम के झंडे भी नजर आए।  

लाठीचार्ज से पहले ही किसान उग्र थे। प्रदर्शनकारियों ने पुलिसकर्मियों को घेर लिया, जिसके चलते तिरासी पुलिसकर्मियों के घायल होने की खबर है। पुलिस और किसानों के साथ जमकर झड़प हुई। पुलिस पर प्रदर्शनकारियों ने पथराव भी किया। हालात इतने बेकाबू हो गए कि भारी संख्या में पुलिस बल को मौके पर तैनात करना पड़ा। आखिर में बेकाबू प्रदर्शनकारियों को रोकने के लिए पुलिस ने लाठीचार्ज किया। उन पर बल प्रयोग किया।  

बता दें कि पिछले दो महीने से नए कृषि कानूनों के खिलाफ पंजाब, हरियाणा, पश्चिमी उत्तर प्रदेश समेत कई प्रदेशों के किसान दिल्ली की अलग-अलग सीमाओं पर प्रदर्शन कर रहे हैं। गणतंत्र दिवस के मौके पर आज किसानों ने ट्रैक्टर मार्च निकालने का एलान किया। दिल्ली पुलिस ने ट्रैक्टर मार्च निकालने के लिए तीन रूट तय किए थे, लेकिन किसान तय रूट से अलग मार्च निकालने लगे। दोपहर में किसान दिल्ली बॉर्डर से आईटीओ पहुंचे। इसके साथ ही आईटीओ पर काफी बवाल मच गया। किसानों के पथराव के बाद कई पुलिसकर्मी घायल हो गए हैं। 
लाठीचार्ज से पहले ही किसान उग्र थे। प्रदर्शनकारियों ने पुलिसकर्मियों को घेर लिया, जिसके चलते कई पुलिसकर्मी घायल हो गए। पुलिस और किसानों के साथ जमकर झड़प हुई। पुलिस पर प्रदर्शनकारियों ने उपद्रवियों की तरह पथराव किया।

         ➖    ➖    ➖    ➖    ➖

देश दुनिया की खबरों के लिए गूगल पर जाएं

लॉग इन करें : - tarkeshwartimes.page

सभी जिला व तहसील स्तर पर संवाददाता चाहिए

मो. न. : - 9450557628

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

अयोध्या : नहाते समय पत्नी को किस करने पर पति की पिटाई

बस्ती : पत्नी और प्रेमी ने बेटी के सामने पिता को काटकर मार डाला, बोरे में भरकर छिपाई लाश

नवनिर्वाचित विधायक और समर्थकों पर एफआईआर