बस्ती के दरोगा, सिपाही ने की थी 30 लाख की लूट, गिरफ्तार

                    (विशाल मोदी) 

 बस्ती (उ.प्र.) । बस्ती जिले के पुरानी बस्ती थाने में तैनात दारोगा व दो सिपाहियों ने महराजगंज जिले के रहने वाले सर्राफ व उनके मुनीम से लूट की थी। सीसीटीवी कैमरे की फुटेज व सर्विलांस की मदद से गोरखपुर पुलिस ने गुरुवार की सुबह दारोगा समेत पांच आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया, जिसमें उप निरीक्षक धर्मेन्द्र यादव, कां. संतोष यादव व महेन्द्र यादव शामिल हैं। इनके कब्‍जे से घटना में इस्‍तेमाल हुई बोलेरो, लूटी गई रकम व गहने बरामद हुए हैं। वारदात में शामिल एक अन्‍य सिपाही की तलाश चल रही है। सभी आरोपितों से पुलिस पूछताछ कर रही है। दो मुखबिरों को महाराजगंज से पकड़ा गया है। मामले में जेवरात व नगदी सहित करीब तीस लाख की लूट हुई थी। 

महराजगंज जिले के निचलौल के निवासी सराफा कारोबारी तारकेश्वर वर्मा के भाई दीपक और दूसरे कारोबारी गौतम वर्मा के कर्मचारी रामू वर्मा बुधवार को गहनों की खरीददारी करने बस से लखनऊ जा रहे थे। दीपक के पास 11.10 लाख रुपये नकद व करीब पांच लाख रुपये का सोना व रामू के पास 6 लाख रुपये नकद व करीब 8 लाख रुपये सोना (जेवरात गलाकर तैयार किया गया सोना) था। दोनों एक ही बैग में रुपये व सोना लेकर जा रहे थे।  

गोरखपुर में रेलवे बस स्‍टेशन पर वर्दीधारी दारोगा व दो सिपाहियों ने उन्‍हें पकड़ लिया। तस्‍करी करने का आरोप लगाते हुए उन्हें कार्मल स्कूल की तरफ ले गए। पूछताछ करने के बहाने वहां से टेंपों में बैठाकर नौसढ़ ले गए। जहां पिटाई करने के बाद गहने व रुपये से भरा बैग छीन लिया।  

पुलिस अज्ञात बदमाशों के खिलाफ लूट का मुकदमा दर्ज कर कैंट पुलिस के साथ ही क्राइम ब्रांच व नौसढ़ चौकी प्रभारी बदमाशों की तलाश में थे। रेलवे बस स्‍टेशन, कार्मल रोड, नौसढ़ व सहजनवां में लगे सीसीटीवी कैमरे की जांच में मिले फुटेज के आधार पर टीम बस्‍ती पहुंची। सर्विलांस की मदद से पुरानी बस्‍ती थाने पहुंच घटना में इस्‍तेमाल बोलेरो के साथ ही वारदात को अंजाम देने वाले दारोगा व दो सिपाहियों को दबोच लिया।दीपक व रामू ने फोटो देखकर वारदात को अंजाम देने वाले दारोगा व सिपाहियों को पहचान लिया। आरोपितों से पूछताछ करने पर पता चला कि उन्‍होंने लूट की कई घटनाओं को अंजाम दिया है। 

  महाराजगंज के युवकों ने की थी मुखबिरी

 महराजगंज जिले के निचलौल के दो सर्राफा कारोबारियों से बुधवार को गोरखपुर में हुई जेवर व नगदी की लूट के मामले में निचलौल से भी दो युवकों को पुलिस ने उठाया है। निचलौल कस्बा व इटहिया गांव के इन दोनों युवकों पर लूट के शिकार दोनों कारोबारियों का सटीक लोकेशन की सूचना देने का आरोप है।   

 गोरखपुर में लूटकांड का खुलासा होने के बाद वहां से आई पुलिस टीम इन दोनों आरोपियों को गिरफ्तार कर अपने साथ ले गई है। निचलौल कस्बा के आजादनगर निवासी सराफा दीपक वर्मा व बगल के गांव खोन्हौली निवासी रामू वर्मा नए जेवर की खरीद व पुराने जेवर को बेचने के लिए बुधवार को लखनऊ जा रहे थे। इसी बीच नौसड़ में दोनों लूट के शिकार हो गए। आज पुलिस द्वारा लूटकांड के खुलासे के बाद पता चला कि इस लूट की घटना में मुखबिरी करने वाला एक युवक निचलौल कस्बे का और दूसरा ठूठीबारी कोतवाली के इटहिया गांव का रहने वाला है। इसके बाद गोरखपुर से आई पुलिस दोनों को अपने साथ ले गई। आज पुलिस टीम द्वारा लूट का खुलासा किए जाने पर रामू वर्मा व दीपक वर्मा के परिजनों ने राहत की सांस ली। दीपक के पिता राजनारायण ने पुलिस की कामयाबी की सराहना की है। 

         ➖    ➖    ➖     ➖   ➖

देश दुनिया की खबरों के लिए गूगल पर जाएं

लॉग इन करें : - tarkeshwartimes.page

सभी जिला व तहसील स्तर पर संवाददाता चाहिए

मो. न. : - 9450557628

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

अयोध्या : नहाते समय पत्नी को किस करने पर पति की पिटाई

बस्ती : पत्नी और प्रेमी ने बेटी के सामने पिता को काटकर मार डाला, बोरे में भरकर छिपाई लाश

नवनिर्वाचित विधायक और समर्थकों पर एफआईआर