इश्क में सरहद पार कर गईं बहनें : सेना ने तोहफे के साथ किया वापस @ पीओके


         (चन्द्रकेश सिंह "मनोज") 


जम्मू । फिल्मों की तरह कल यानि रविवार को एक वाकया भारत - पाकिस्तान सीमा पर हकीकत में सामने आया। यहां जिला पुंछ से गत रविवार को सरहद पार कर भारतीय क्षेत्र में पीओके से आईं दो बहनों की कहानी भी फिल्मों से मेल खाती है। भारतीय फौज ने आज सोमवार को इन दोनों बहनों को सम्मान के साथ तोहफे देकर पाकिस्तान को लौटा दिया। इन्हें पुंछ के चकन - द - बाग से पाकिस्तानी फौज को सौंपा गया।  



गुलाम कश्मीर में अब्बासपुर की रहने वाली ये दोनों बहने गत रविवार को जिला पुुंछ से लगती नियंत्रण रेखा को पार कर भारतीय क्षेत्र में घुस आईं थी। भारतीय सरहद में प्रवेश करते ही फौज ने उन्हें पकड़ लिया। बाद में इन्हें पुंछ पुलिस को सौंप दिया गया। पुलिस ने जब इन बहनों से पूछताछ की तो बड़ी बहन लाइबा जुबैर ने खुलासा किया कि वह भारत में गलती से प्रवेश कर गई हैं। जब उससे सरहदी क्षेत्र में आने की वजह पूछी गई तो लाइबा ने इश्क का राज खोला। उसने बताया कि वह किसी पाकिस्तान जवान से प्यार करती है और वह इन दिनों इसी इलाके में सरहद पर ड्यूटी पर तैनात है। बातों - बातों में उससे मिलने का करार हुआ और उसी बेकरारी में वह अपनी छोटी बहन सना जुबैर को साथ लेकर पाकिस्तानी सरहद के उस इलाके तक पहुंच आई, जहां उसका महबूब ड्यूटी पर तैनात रहता है। 



उसे ढूंढते-ढूंढते अंधेरा हो गया और इस कारण उसे सरहद का पता नहीं चला और वे दोनों भारतीय क्षेत्र में प्रवेश कर बैठी। लाइबा ने बताया कि वे पिछले 10 सालों से गुलाम कमीर के अब्बासपुर में रह रही हैं। वे गरीब परिवार से संबंध रखती हैं। हालांकि उनके दादा अब्दुल हक मूल रूप से श्रीनगर के रहने वाले थे। उनका वर्ष 1990 में देहांत हो गया। पिता मोहम्मद जुबैर पेशे से कसाई थे। उनकी भी इस साल जुलाई में हृदयघात से मौत हो गई। उनके पिता ने दो शादियां की थी और दोनों पत्नियों से छह-छह बच्चे थे। 



      परिजन जबरन करवाना चाहते थे शादी


 लाइबा ने बहन संग घर से भाग जाने की वजह उसकी मां और भाई द्वारा उसकी जबरन शादी बताया। उसकी मां और बड़ा भाई हमजा जबरदस्ती स्थानीय लड़के बाबर से उसकी शादी करना चाहते थे। बाबर ने हाल ही में पाकिस्तान की मुजाहिद फोर्स में भर्ती के लिए ट्रेनिंग हासिल की है। बाबर के परिजनों ने उसकी मां व भाई को यह लालच लिया था कि इस शादी के बाद वह हमजा को भी मुजाहिद फोर्स में भर्ती करवा देंगे। लाइबा तारिक से प्यार करती हैं और उसी से शादी करना चाहती थी। तारिक पेशावर का रहने वाला है और इस समय पाकिस्तान की अग्रिम चौकी कहुटा में तैनात है। वह इन दिनों छुट्टी पर है और उसी ने लाइबा से मिलने की इच्छा जाहिर की थी। सफर शुरू करने से पहले लाइबा ने तारिक का स्थानी होटल में इंतजार किया परंतु जब वह नहीं पहुंचा तो वह उसे ढूंढने के लिए निकल पड़ी।


       ➖    ➖    ➖    ➖    ➖


देश दुनिया की खबरों के लिए गूगल पर जाएं


लॉग इन करें : - tarkeshwartimes.page


सभी जिला व तहसील स्तर पर संवाददाता चाहिए


मो. न. : - 9450557628


इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

लखनऊ में सैकड़ों अरब के कैलिफोर्नियम सहित 8 गिरफ्तार, 3 बस्ती के

समायोजन न हुआ तो विधानसभा पर सामूहिक आत्महत्या करेंगे कोरोना योद्धा

बस्ती : ब्लॉक रोड पर मामूली विवाद में मारपीट, युवक की मौत