बस्ती : प्रशिक्षण में दी कोरोना वैक्सीन के रखरखाव की जानकारी

(विशाल मोदी) 

 दो से आठ डिग्री पर रखा जाना है कोविड वैक्सीन, कोल्ड चेन हैंडलर्स की कार्यशाला में दी गयी जानकारी  

बस्ती (उ.प्र.) । कोविड चेन हैंडलर्स की प्रशिक्षण कार्यशाला एएनएम प्रशिक्षण केंद्र में शनिवार को आयोजित हुई। इस मौके पर उन्हें कोविड वैक्सीन के रख-रखाव व कोविन पोर्टल पर सूचना अपलोड किए जाने के सम्बंध में जानकारी दी गई। जिला अस्पताल, महिला अस्पताल व जिला मुख्यालय के वैक्सीन स्टोर सहित सभी 14 ब्लॉक स्तरीय अस्पतालों में कोल्ड चेन हैंडलर्स तैनात हैं।   

प्रशिक्षण के दौरान जिला प्रतिरक्षण अधिकारी डॉ. फकरेयार हुसैन ने बताया कि कोविड वैक्सीन को दो से आठ डिग्री तापमान पर सुरक्षित रखना है। इसी के साथ एक स्थान से दूसरे स्थान तक वैक्सीन को पहुंचाए जाने के दौरान तापमान को बनाए रखना है, जिससे उसकी गुणवत्ता बनी रहे। उन्होंने बताया कि सभी कोल्ड चेन हैंडलर्स कोविन पोर्टल पर ही सारी सूचनाएं अपलोड करेंगे। हेल्थ केयर वर्कर्स की सूची कोविन पोर्टल पर अपलोड रहेगी। जिस लाभार्थी को टीका लगाया जाएगा, सबसे पहले उसकी आईडी की जांच की जाएगी। इसके बाद उसे टीका लगाया जाएगा। टीका लगाने के बाद उसकी सूचना भी पोर्टल पर तत्काल अपलोड की जाएगी। टीके का किस तरह का प्रभाव लाभार्थी पर रहा, इसकी भी सूचना अपलोड की जाएगी। 
वैक्सीन कोल्ड चेन मैनेजर (वीसीसीएम) हरेंद्र मिश्रा ने कहा कि वैक्सीन की मॉनीटरिंग को-विन पोर्टल के माध्यम से जिला स्तर से लेकर प्रदेश मुख्यालय तक होगी। सभी कोल्ड चेन हैंडलर्स वैक्सीन आने के बाद नियमित मॉनीटरिंग करते रहेंगे तथा किसी भी तरह की समस्या आने पर इसकी सूचना संबंधित अधिकारी को देंगे। एआरओ बीएन मिश्रा ने कहा कि जहां पर टीका लगाया जाएगा, वहां पर तीन प्रमुख चरणों में व्यवस्था होगी। एक कमरे को वेटिंग रूम बनाया जाएगा, जहां पर लाभार्थी की सूची व आईडी आदि की जांच होगी। दूसरे कमरे में टीकाकरण की व्यवस्था होगी जबकि तीसरे कमरे में लाभार्थी को रोक कर वैक्सीन के प्रभाव की निगरानी की जाएगी। लाभार्थी को कम से कम आधे घंटे की आब्जर्वेशन के बाद ही उसे जाने दिया जाएगा।

लॉजिस्टिक की तैयारी पर भी रखना होगा ध्यान

कार्यशाला में बताया गया कि वैक्सीन के साथ ही लॉजिस्टिक पर भी विशेष ध्यान रखना होगा। कोल्ड बॉक्स, वैक्सीन कैरियर, आइस पैक, सिरिंज आदि की पर्याप्त व्यवस्था कोल्ड चेन प्वाइंट पर होनी चाहिए। स्टॉक समाप्त होने से पहले ही डिमांड कर लेंगे। नियमित टीकाकरण से अलग इसकी सारी व्यवस्था होगी। कितना सामान रिसीव किया तथा कितना सामान खर्च हुआ तथा शेष कितना स्टॉक है, सारी सूचना पोर्टल पर नियमित रूप से देनी होगी। कार्यशाला में यूनिसेफ के डीएमसी आलोक राय, कोल्ड चेन हैंडलर सुरेश पांडेय, चन्द्र भान, राकेश कुमार, पवन सिंह, वेदान्ती, आदर्श कुमार, धीरेंद्र मिश्रा सहित अन्य शामिल रहे।

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

लखनऊ में सैकड़ों अरब के कैलिफोर्नियम सहित 8 गिरफ्तार, 3 बस्ती के

समायोजन न हुआ तो विधानसभा पर सामूहिक आत्महत्या करेंगे कोरोना योद्धा

बस्ती : ब्लॉक रोड पर मामूली विवाद में मारपीट, युवक की मौत